ताज़ा खबर
 

Covid-19: इटली के वैज्ञानिक का दावा; चैंपियंस लीग के कारण फैला कोरोना, मैच के 2 दिन बाद से ही लगने लगा लाशों का ढेर

Covid-19: यह मैच 19 फरवरी को अटलांटा और वेलेंसिया के बीच इटली के मिलान स्थित सैन सिरो फुटबॉल स्टेडियम में खेला गया था। उस मैच को अटलांटा ने 4-1 से जीत लिया था। इस मैच को देखने के लिए 44 हजार से ज्यादा लोग अन्य जगहों से मिलान पहुंचे थे।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: March 27, 2020 9:57 AM
इटली में कोरोनावायरस के कहर बरपने से पहले 19 फरवरी को इस मैच को देखने के लिए हजारों फैंस स्टेडियम पहुंचे थे।

कोविड-19 यानी कोरोनावायरस के दुनिया ठहर गई है। इस बीमारी के कारण दुनिया भर में अब तक 21 हजार से ज्यादा लोग काल के गाल में समा चुके हैं। साढ़े चार लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। इस महामारी के खौफ के बीच इटली के एक शीर्ष वैज्ञानिक ने चौंकाने वाला दावा किया है। वॉशिंगटन पोस्ट में छपी खबर के मुताबिक, इटली के शीर्ष इम्यूनालजिस्ट (प्रतिरक्षा वैज्ञानिक) फ्रांसिस्को ली फोके का कहना है कि इस महामारी के इतने तेजी से फैलने का कारण चैंपियंस लीग का एक मैच है।

यह मैच 19 फरवरी 2020 को अटलांटा और वेलेंसिया के बीच इटली के मिलान स्थित सैन सिरो फुटबॉल स्टेडियम में खेला गया था। उस मैच को अटलांटा ने 4-1 से जीत लिया था। इस मैच को देखने के लिए बर्गामो से 44 हजार लोग मिलान पहुंचे थे। दरअसल, पहले यह मैच अटलांटा के होमग्राउंड बर्गामो स्थित जेविस स्टेडियम में होना था, लेकिन दर्शक क्षमता कम होने के कारण इसे सैन सिरो स्टेडियम शिफ्ट किया गया। सैन सिरो इंटर मिलान और एसी मिलान का होमग्राउंड है।

गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों के लिए नीतीश ने किया 100 करोड़ के राहत पैकेज का एलान, केंद्र भी देगा 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपये

मैच के दो दिन बाद ही इटली में कोरोनावायरस के कारण पहली मौत की खबर आई थी। उसके बाद हालात इतने बेकाबू हो गए कि इटली का यह शहर कोरोनावायरस का केंद्र बन गया। मैच के 2 हफ्ते के भीतर बर्गामो में कोरोनावायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा हो गई थी। अब इटली और स्पेन दोनों में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 70,000 से ज्यादा है। वहां मरने वालों की संख्या भी 7 हजार के पार पहुंच गई है। यह चीन से दोगुनी है। इटली के बाद स्पेन में सबसे ज्यादा 48 हजार कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यहां भी मरने वालों का आंकड़ा चीन से ज्यादा हो गया है।

बर्गामो की बात करें तो वहां कोरोना संक्रिमत मरीजों की संख्या 4 हजार से ज्यादा है। वहां 600 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। बर्गामो में हालात कितने बेकाबू हैं, इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वहां का कब्रिस्तान लाशों के ढेर से पट चुका है। इस कारण फौज की मदद लेनी पड़ी। वहां कोविड-19 से जान गंवाने वाले लोगों को सेना के ट्रकों में पड़ोसी राज्यों में दफनाने के लिए ले जाया गया।

बता दें कि कोरोनावायरस हाल के हफ्तों में पूरे यूरोप में फैल गया है। वेलेंसिया टीम के 35 फीसदी खिलाड़ी और स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। टीम मैनेजमेंट इसे मिलान की यात्रा से जोड़कर देख रहा है। अटलांटा के गोलेकीपर मार्को भी इस जानलेवा वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वे ही अपनी टीम के कप्तान थे। मैच के चार दिन बाद बर्गामो के आस-पास के इलाके को लॉकडाउन कर दिया गया था, क्योंकि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बहुत बढ़ गई थी।

बर्गामो के मेयर जियोर्जियो गोरी का भी मानना है कि यह मैच ही यूरोप में कोरोनावायरस के फैलने का कारण है। उन्होंने कहा कि अगर यह सही है कि यह वायरस जनवरी में ही यूरोप में आ गया था, ऐसे में संभव है कि चैंपियंस लीग का मैच देखने पहुंचे बर्गामो के 44 हजार लोगों ने एक-दूसरे को कोरोना से संक्रमित कर दिया हो। बर्गामो के पोप जॉन अस्पताल में आईसीयू विभाग के इंचार्ज लुका लोरिनी का भी कहना है कि उस मैच में अटलांटा ने 4 गोल किए थे। मुमकिन है स्टेडियम में बैठे 44 हजार बर्गामो के दर्शकों ने कम से कम 4 बार एक-दूसरे को गले लगाया हो, या किस किया हो। ऐसे में यह वायरस के फैलने का बहुत बड़ा कारण हो सकता है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- कोरोना के संक्रमण दर में कमी, सेना अपने कर्मियों के लिए आइसोलेशन सेंटर बनाएगी


यह नहीं, बर्गामो अस्पताल में पल्मोनोलॉजी के प्रमुख ने हाल ही में चैंपियंस लीग के उस मैच को “जैविक बम” करार दिया था। सैन सिरी स्टेडियम पहुंचने के लिए ज्यादातर फुटबॉल फैंस ने सार्वजनिक परिवहन से यात्रा की थी और यह वायरस एक दूसरे के संपर्क में आने से ज्यादा फैलता है। वैज्ञानिक ली फोके ने कहा कि जिस समय मैच हुआ, तब वायरस को लेकर काफी अनिश्चितता थी। जितना आज हमें पता तब हम नहीं जानते थे कि वायरस कितनी जल्दी फैल सकता है। बहुत से लोग समूह में मैच देखने आए थे। उस रात बहुत से फैंस एक-दूसरे के संपर्क में थे। वायरस एक से दूसरे इंसान में फैल गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Covid-19: अश्विन ने लॉकडाउन से की मांकड़िंग की तुलना, जोस बटलर बोले- उनके संग होना चाहूंगा सेल्फ-आईसोलेट
2 T20 Asia Cup 2020 Date, Schedule: Covid-19: क्या रद्द होगा T20 एशिया कप, जानिए और किन-किन टूर्नामेंट्स पर लग सकता है ‘कोरोना ग्रहण’
3 Covid-19: इटली से 263 भारतीयों को बचाने में यह पूर्व आलराउंडर भी रहा शामिल, 4 शतक लगाने के साथ ले चुके हैं 148 विकेट
ये पढ़ा क्या?
X