ताज़ा खबर
 

‘मैं बिल्कुल स्वस्थ, रोज ऑफिस जाता हूं,’ सौरव गांगुली के भाई स्नेहाशीष ने कोरोना पॉजिटिव की खबरों को बकवास बताया

इस बीच, सौरव गांगुली फाउंडेशन ने चाकलेट और च्यूइंगम बनाने वाली कंपनी ‘मार्स रिगले’ के साथ कोविड-19 महामारी के दौरान काम करने वाले डॉक्टरों, स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं और देखभाल करने वालों का सहयोग करने के लिए हाथ मिलाया है।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 20, 2020 6:06 PM

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली के बड़े भाई और क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल (सीएबी) के सचिव स्नेहाशीष गांगुली ने शनिवार को स्पष्ट किया कि वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं। हालांकि, पत्नी, सास-ससुर और घर में काम करने वाले नौकर के कोरोना पॉजिटिव होने को लेकर उन्होंने कुछ भी नहीं कहा है।

इससे पहले मीडिया में खबरें आईं थीं कि स्नेहाशीष गांगुली की पत्नी और उनके सास-ससुर की कोरोना रिपॉर्ट पॉजिटिव आई है। वे सभी बेहाला में गांगुली के पुश्तैनी घर के बजाए मोमिनपुर में रह रहे थे। मोमिनपुर घर में काम करने वाला नौकर भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। स्नेहाशीष की रिपोर्ट निगेटिव आई है, लेकिन उन्होंने खुद को घर में क्वांरटीन कर लिया है।

रणजी ट्रॉफी में बंगाल का प्रतिनिधित्व कर चुके स्नेहाशीष ने कहा, ‘’मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूं और रोज ऑफिस जा रहा हूं।‘’ कैब सचिव ने कहा, ‘’मेरी बीमारी को लेकर मीडिया में जो भी बातें हो रही हैं, वह पूरी तरह से बेबुनियाद हैं। ऐसे समय में इस तरह की खबरों की उम्मीद नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘’उम्मीद है कि इसके बाद ऐसी असत्य और आधारहीन खबरों पर विराम लग जाएगा, जो सिर्फ सनसनी फैलने का काम करती हैं।’

इससे पहले खबरों में कहा गया था कि स्नेहाशीष की पत्नी और उनके सास-ससुर ने सर्दी और बुखार की शिकायत की थी। सभी के लक्षण कोरोना से मिलते-जुलते नजर आ रहे थे। सभी का कोरोना टेस्ट कराया गया। तीनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद पत्नी, सास-ससुर और नौकर को नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। नर्सिंग होम के डॉक्टरों ने बताया कि फिलहाल चारों मरीजों का स्वास्थ्य ठीक है। इनका फिर से कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। उसकी रिपोर्ट के आधार पर ही इन्हें डिस्चार्ज करने का फैसला किया जाएगा।

इस बीच, कोविड-19 महामारी से जूझ रहे लोगों के प्रति सौरव गांगुली फाउंडेशन ने फिर से दरियादिली दिखाई है। गांगुली के फाउंडेशन ने चाकलेट और च्यूइंगम बनाने वाली कंपनी ‘मार्स रिगले’ के साथ कोविड-19 महामारी के दौरान काम करने वाले डॉक्टरों, स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं और देखभाल करने वालों का सहयोग करने के लिए हाथ मिलाया है।

बयान के मुताबिक, ‘स्वास्थ्य सेवा कर्मचारी मौजूदा संकंट में अन्य लोगों की सुरक्षा और भलाई के लिए योद्धा बनकर डटे रहे। उनकी इस भावना और कड़ी मेहनत की सराहना के प्रयास में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने आभार जताते हुए पश्चिम बंगाल डॉक्टर्स फोरम को ‘मार्स रिगली’ उत्पादों सहित भेंट सौंपी। मेडिका सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल के पूरे कोविड विभाग में चाकलेट वितरित की गई। इसके अनुसार, ‘यह छोटा सा प्रयास शुक्रिया कहने का सामूहिक तरीका था।’

Next Stories
1 विराट कोहली, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ समेत 5 क्रिकेटरों ने 20 जून को किया था टेस्ट डेब्यू, 4 ने संभाली इंडिया की कमान
2 शोएब मलिक को मिली सानिया मिर्जा से मिलने की मंजूरी, 5 महीने से परिवार से दूर है पाकिस्तानी क्रिकेटर
3 ‘हर कोई चीन का बॉयकॉट कर रहा, तुम टिकटॉक बना रहे हो,’ प्रैक्टिस सेशन का VIDEO पोस्ट करने पर ट्रोल हुए मोहम्मद शमी
ये पढ़ा क्या?
X