ताज़ा खबर
 

CWG 2018: टेबल टेनिस में भारत को ऐतिहासिक स्वर्ण

CWG 2018, Commonwealth Games 2018: मनिका बत्रा ने एकल मुकाबलों में अपनी शानदार जीत के साथ भारत को यहां राष्ट्रमंडल खेलों में महिला टेबल टेनिस टीम स्पर्धा का स्वर्ण दिला दिया।

Author गोल्ड कोस्ट | April 9, 2018 02:50 am
भारत ने फाइनल में चार बार के स्वर्ण पदक विजेता सिंगापुर को 3-1 से हराकर ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीता।

मनिका बत्रा ने एकल मुकाबलों में अपनी शानदार जीत के साथ भारत को यहां राष्ट्रमंडल खेलों में महिला टेबल टेनिस टीम स्पर्धा का स्वर्ण दिला दिया। भारत ने फाइनल में चार बार के स्वर्ण पदक विजेता सिंगापुर को 3-1 से हराकर ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीता। दुनिया की 58वें नंबर की खिलाड़ी मनिका ने अपने करिअर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी फेंग तियानवेई को 3-2 से हराया। उन्होंने अपने दूसरे एकल में 100वीं रैंक की यिहान झोऊ को 3-0 से शिकस्त देकर भारत को ताकतवर सिंगापुर की टीम पर सनसनीखेज जीत दिलाई।

यह बहुत बड़ा उलटफेर था क्योंकि इस फाइनल से पहले सिंगापुर की महिला टीम 2002 में राष्ट्रमंडल खेलों में टेबल टेनिस को शामिल किए जाने के बाद से कभी भी खिताबी मुकाबले में नहीं हारी थी। मनिका ने फेंग को चौंकाने वाली हार देने के बाद कहा कि मैंने कभी अपने सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं एक ओलंपिक पदकधारी एवं विश्व की चौथे नंबर की खिलाड़ी को हराऊंगी। उन्होंने कहा कि मैं पहली बार फेंग के खिलाफ खेल रही थी, मुझे जैसे ही पता चला कि मैंने दुनिया की चौथी नंबर की खिलाड़ी को हराया है, मुझे लगा कि मैं सातवें आसमान पर पहुंच गयी हूं। यह जीत इस लिहाज से और महत्व रखती है कि पिछले राष्ट्रमंडल खेलों (ग्लास्गो) से महिला टीम खाली हाथ लौटी थी। टेबल टेनिस टीम स्पर्धा में देश का यह केवल दूसरा स्वर्ण पदक है। इससे पहले 2006 के मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुष टीम ने स्वर्ण जीता था।

इससे पहले भारतीय टीम ने एकतरफा मुकाबले में इंग्लैंड को हराकर दूसरी बार फाइनल में जगह पक्की की। जहां मनिका भारत की ऐतिहासिक जीत की सूत्रधार रहीं, मधुरिका पाटकर एवं मौमा दास की अनुभवी जोड़ी ने झोऊ एवं मेंग्यू यू को महत्त्वपूर्ण युगल मुकाबले में 11-7, 11-6, 8-11, 11-7 से हराकर फाइनल में देश को 2-1 से बढ़त दिला दी। मनिका ने शुरुआती एकल मुकाबले में फेंग को 3-2 (11-8 8-11 7-11 11-9 11-7) से हराने के बाद मेंग्यू ने मधुरिका को सीधे गेम में हराकर सिंगापुर के लिए मामला बराबरी पर ला दिया था। मनिका ने यिहान पर शुरू से दबदबा कायम रखते हुए उन्हें सीधे गेम में हराया। उनके सिंगापुर की खिलाड़ी को 3-0 (11-7 11-4 11-7) से हराने के साथ ही भारतीय खेमे में खुशी की लहर दौड़ गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App