ताज़ा खबर
 

CWG 2018: गेम विलेज में भारतीय एथलीट्स को हिदायत- सामान मत चुराना, नशा, छेड़खानी, तोड़फोड़ मत करना

CWG 2018, Commonwealth Games 2018: मौखिक चेतावनी से पहले दो अलग हलफनामों पर भी एथलीट्स और प्रतिनिधिमंडल से हस्ताक्षर कराए गए हैं। इसके मुताबिक, इंडियन ओलिंपिक असोसिएशन (IOA), 325 एथलीट और अधिकारी न तो जुआ खेलेंगे और न ही नस्लीय टिप्पणी करेंगे।

Author गोल्डकोस्ट, ऑस्ट्रेलिया | April 9, 2018 17:29 pm
Commonwealth Games, CWG 2018: राष्‍ट्रमंडल खेल गोल्‍ड कोस्‍ट में खेले जा रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे कॉनमवेल्थ खेलों में भारतीय एथलीट्स का शानदार प्रदर्शन जारी है। पांचवें दिन सोमवार को निशानेबाज जीतू राय ने भारत की झोली में आठवां गोल्ड डाला। इस बीच, खबर है कि खेलगांव में रह रहे भारतीय एथलीट्स को आचरण संबंधित कुछ सख्त दिशा निर्देश दिए गए हैं। इनमें हिंसा, यौन दुव्यर्वहार, नशेबाजी, तोड़फोड़, चोरी आदि से दूर रहने के निर्देश भी शामिल हैं। एथलीट्स को यह भी निर्देश दिया गया है कि वह अपार्टमेंट में इस्तेमाल के लिए मिले उपकरणों, मसलन केतली आदि को सही जगह पर रखें। इन निर्देशों की पूरी लिस्ट भारतीय मिशन प्रमुख ने टीम मैनेजरों को सौंपी है।

इस संबंध में मौखिक चेतावनी से पहले दो अलग हलफनामों पर भी एथलीट्स और प्रतिनिधिमंडल से हस्ताक्षर कराए गए हैं। इसके मुताबिक, इंडियन ओलिंपिक असोसिएशन (IOA), 325 एथलीट और अधिकारी जुआ नहीं खेलेंगे और न ही नस्लीय टिप्पणी करेंगे। एथलीट्स को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि उनके परिवार के सदस्य भी उन पर किसी किस्म का सट्टा नहीं लगाएंगे। एथलीट्स और खेल अधिकारियों को खेलगांव में अपार्टमेंट की चाबियां मिलने से पहले दो फॉर्म पर हस्ताक्षर करके आईओए को सौंपने पड़े। पहला फॉर्म ‘Team India Charter of Good Conduct’ का था, जिसमें गेम्स के दौरान टीम के बर्ताव को लेकर दिशा-निर्देश थे। दूसरा फॉर्म ‘Entry and Eligibility Conditions’ से जुड़ा था, जिसमें खेलों के दौरान अपनाए जाने वाले नैतिक बर्ताव की जानकारी थी।

द इंडियन एक्सप्रेस के पास इन दोनों ही फॉर्म की कॉपी है। टीम के बर्ताव को लेकर पहले फॉर्म में कहा गया है कि एथलीट्स को ‘जुए, सट्टेबाजी से दूर रहना होगा। वे ऐसी कोई भी सूचना किसी को नहीं मुहैया कराएंगे, जिसका इस्तेमाल करके गलत या अवैध ढंग से खेल को किसी तरह से प्रभावित करने की कोशिश की जाए।’ वहीं, एथलीट्स को इस बारे में भी चेतावनी दी गई है कि वह अपने प्रतिद्वंद्वी एथलीट की जानकारी भी किसी से शेयर न करें। इसके अलावा, वे पैसे या गिफ्ट स्वीकार न करें। मिशन प्रमुख के मुताबिक,  इन गाइडलाइन्स को कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन के नियमों के मुताबिक ही तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि मैदान के बाहर भी अनुशासन बनाए रखना जरूरी है।

टीम मैनेजरों की मीटिंग में यह हिदायत दी गई कि अगर अपार्टमेंट में मिली कोई भी चीज गायब होती है या उसे नुकसान होता है तो उसके लिए जुर्माना खुद एथलीट को भरना होगा, इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन को नहीं। बीते शनिवार को जब भारतीय कुश्ती की टीम अपने कमरों में पहुंचीं तो तीन केतलियां गायब थीं। इन कमरों में इससे पहले बास्केटबॉल टीमें रह रही थीं। इन केतलियों के लिए 20 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर के हिसाब से 60 डॉलर का जुर्माना लगना था, लेकिन बाद में केतलियां एक कबर्ड के काफी अंदर दबी हुई मिलीं। आईओए के एक अधिकारी ने बताया कि तौलिया गायब होने पर 10 डॉलर, जबकि चाबियां गुमाने पर डुप्लिकेट चाबी के लिए 5 डॉलर देने होंगे।

पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App