ताज़ा खबर
 

IND vs NZ: चेतेश्वर पुजारा ने टेस्ट चैंपियनशिप को सराहा- कहा टी20-वनडे विश्वकप जीतने से बड़ी उपलब्धि इस फॉर्मेट की बादशाहत

IND vs NZ, Test Series: टेस्ट चैंपियनशिप के बारे में बात करें तो किसी भी टीम को फाइनल में पहुंचने के लिए लगातार दो साल तक अच्छा खेलना होगा और उन्हें न केवल घरेलू मैदान पर जीत दर्ज करनी होगी बल्कि विदेशों में भी दमदार प्रदर्शन करना होगा।

चेतेश्वर पुजारा (फोटो सोर्स- twitter)

इसी साल होने वाले आईसीसी टी20 विश्वकप की तैयारियों में सभी टीमें लगी हैं। इस महामुकाबले के लिए सभी टीमें टी20 के काफी मुकाबले भी खेल रही हैं। इसी बीच टेस्ट चैंपियनशिप के भी मुकाबले खेले जा रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को लगता है कि यह आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप को जीतना एकदिवसीय या टी20 अंतरराष्ट्रीय विश्व कप को जीतने से काफी बड़ी उपलब्धि होगी।

पुजारा ने यह बात भारत-न्यूजीलैंड एकादश के बीच खेली जा रहे अभ्यास मैच के बाद कही। इस चैंपियनशिप में भारत की स्थिति की बात करें तो टीम इंडिया के सात टेस्ट में 360 अंक है और टीम पहली बार हो रहे आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप की तालिका में शीर्ष पर है।

पुजारा ने इंडिया टुडे टेलीविजन चैनल के कार्यक्रम ‘इंस्पिरेशन’ में कहा कि जब आप टेस्ट चैम्पियन बनेंगे, मैं कहूंगा कि यह एकदिवसीय या टी20 विश्व कप जीतने से बड़ा खिताब होगा। इसकी वजह है इसका खास प्रारूप। उन्होंने कहा कि अगर आप अतीत के किसी महान क्रिकेट खिलाड़ी या मौजूदा क्रिकेटरों से भी पूछें, तो वे कहेंगे कि टेस्ट क्रिकेट इस खेल का सबसे चुनौतीपूर्ण प्रारूप है। जब आप टेस्ट क्रिकेट के विश्व चैंपियन बनते हैं तो इससे बड़ा कुछ नहीं होता है।

भारतीय टीम ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत वेस्टइंडीज पर 2-0 से जीत से करने के बाद दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश को क्रमश: 3-0 और 2-0 से हराया। विराट कोहली की कप्तानी में टीम 21 फरवरी से शुरू होने वाली दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला में न्यूजीलैंड से भिड़ेगी।

पुजारा ने कहा कि ज्यादातर टीमों ने अपने घरेलू परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन जब वे विदेश में जाते हैं, तो उन्हें हमेशा चुनौती मिलती है। खासकर भारतीय टीम अब विदेशों में अच्छा प्रदर्शन करने लगी है। हमने अब विदेशों में श्रृंखला जीतना शुरू कर दिया है।

टेस्ट चैंपियनशिप के बारे में बात करें तो किसी भी टीम को फाइनल में पहुंचने के लिए लगातार दो साल तक अच्छा खेलना होगा और उन्हें न केवल घरेलू मैदान पर जीत दर्ज करनी होगी बल्कि विदेशों में भी दमदार प्रदर्शन करना होगा। पुजारा ने आईसीसी के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप को शुरू करने के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि इसने खेल के पारंपरिक प्रारूप को और अधिक प्रतिस्पर्धी बना दिया है। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Next Stories
1 IND vs NZ: टेस्ट सीरीज से पहले भारत को मिली बड़ी खुशखबरी; इशांत शर्मा ने पास किया फिटनेस टेस्ट, टीम इंडिया से जुड़ेंगे
2 IND vs NZ XI: मयंक अग्रवाल Birthday पर फॉर्म में लौटे, बाउंड्री से बनाया अर्धशतक; ऋषभ पंत ने भी जड़ी ताबड़तोड़ फिफ्टी
3 IPL 2020: मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच होगा उद्घाटन मैच, 50 दिन तक चलेंगे लीग के मुकाबले
ये पढ़ा क्या?
X