ताज़ा खबर
 

वनडे और IPL में खेलना चाहते हैं चेतेश्‍वर पुजारा, कर रहे हैं खास तैयारी

हालांकि, पुजारा ने स्पष्ट किया कि उनकी प्राथमिकता अभी भी टेस्ट क्रिकेट ही है। बकौल भारतीय बल्लेबाज, "टेस्ट क्रिकेट ही मेरी प्राथमिकता पर है। लेकिन वनडे टीम का हिस्सा होने पर आपमें अलग स्किल्स होनी चाहिए। ऐसे में मैंने अपने शॉट्स पर खासा काम किया है, जो कि मेरे काफी काम आएगा।"

चेतेश्वर पुजारा टेस्ट फॉर्मेट में भारत के बेहतरीन बल्लेबाज माने जाते हैं। (फोटोः बीसीसीआई)

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा वनडे फॉर्मेट और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलना चाहते हैं। पुजारा को उम्मीद है कि अगले साल आईपीएल में उन्हें कोई न कोई टीम जरूर खरीदेगी। ऐसे में वह अभी से अपने फॉर्म को बेहतर करने के लिए तैयारियां कर रहे हैं। आपको बता दें कि पुजारा की गिनती भारतीय टेस्ट टीम के बेहतरीन बल्लेबाजों में होती है। लेकिन वह सीमित ओवरों के फॉर्मेट वाली टीम का हिस्सा नहीं हैं। उन्होंने 19 जून 2014 को अपना आखिरी वनडे मैच खेला था। अपने पूरे करियर में वह सिर्फ पांच वनडे मैच ही खेल पाए थे।

वहीं, आईपीएल में उन्होंने 2014 में अपना आखिरी मैच खेला था। टी-20 टूर्नामेंट में इसके बाद लगातार चार सीजंस में उन्हें किसी भी टीम ने नहीं खरीदा था। आईपीएल में वह सिर्फ 30 मैच खेले थे, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 99.74 के नीचे थे। शायद यही असल कारण था कि आईपीएल में कोई भी टीम उन पर पैसा नहीं लगाना चाहती थी।

पुजारा ने हाल ही में एक वेबसाइट से बात की। उनके मुताबिक, “मैंने आईपीएल और अन्य छोटे फॉर्मेट्स का हिस्सा बनने के लिए खूब मेहनत की है। खासकर वनडे क्रिकेट के लिए। मैं आईपीएल के साथ भारत की वनडे क्रिकेट टीम का हिस्सा बनना चाहता हूं।

नेट प्रैक्टिस के दौरान गेंद का सामना करते भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा। (फोटोः फेसबुक)

हालांकि, पुजारा ने स्पष्ट किया कि उनकी प्राथमिकता अभी भी टेस्ट क्रिकेट ही है। बकौल भारतीय बल्लेबाज, “टेस्ट क्रिकेट ही मेरी प्राथमिकता पर है। लेकिन वनडे टीम का हिस्सा होने पर आपमें अलग स्किल्स होनी चाहिए। ऐसे में मैंने अपने शॉट्स पर खासा काम किया है, जो कि मेरे काफी काम आएगा।” याद दिला दें कि 2014 में इंग्लैंड दौरे पर पुजारा कठिन दौर का सामना करने वाले बल्लेबाजों में से थे। वह तब पांच मैचों में वह सिर्फ 22.20 के एवरेज के साथ 22 रन बना पाए थे।

पुजारा ने आगे बताया कि उन्हें अपने खेल में अधिक बदलाव करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वनडे में मूल बातें वैसी ही रहेंगी। जब आप टेस्ट में खेलते हैं, तब आप वनडे में भी अच्छा खेल सकते हैं। आपको इसके लिए बस अपना गेयर बदलने की आवश्यकता होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App