घर की खराब आर्थिक हालत और पिता व भाई की मौत के बाद भी नहीं टूटा यह खिलाड़ी, चेतन सकारिया ने भारत के लिए किया डेब्यू

बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज चेतन सकारिया के लिए ये साल उतार-चढ़ाव भरा रहा। इस खिलाड़ी ने जहां अपने छोटे भाई और पिता को खोया। वहीं पहले आईपीएल और अब वनडे में इस खिलाड़ी को टीम इंडिया की कैप मिली है।

chetan-sakariya-gets-indian-cap-with-sanju-samson-nitish-rana-and-others-never-lost-hope-after-death-of-brother-and-father
चेतन सकारिया को मिली भारतीय टीम की कैप (Source: Twitter)

श्रीलंका के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय मुकाबले में भारतीय टीम 6 बदलाव के साथ उतरी और पांच खिलाड़ियों को डेब्यू का मौका मिला। इन पांच खिलाड़ियो में से एक नाम था ऐसे खिलाड़ी का जिसके लिए ये साल काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा है। वो है चेतन सकारिया का। बाएं हाथ के इस युवा गेंदबाज ने इस साल पहले अपने छोटे भाई को खोया और फिर अपने पिता को। लेकिन इसी साल इस खिलाड़ी ने पहले आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स से खेलते हुए डेब्यू किया फिर अब मौका मिला है भारतीय वनडे टीम में खेलने का।

इंडियन प्रीमियर लीग ने भारतीय टीम को कई खिलाड़ी दिए हैं। हर सीजन के बाद कोई न कोई ऐसी प्रतिभा जरूर उभर कर आती है जिसे भारतीय टीम में मौका मिलता है। इस साल वो नाम था चेतन सकारिया का।

बाएं हाथ के इस युवा तेज गेंदबाज ने राजस्‍थान रॉयल्‍स के लिए IPL 2021 खेला और कई पूर्व क्रिकेटरों व क्रिकेट पंडितों को प्रभावित भी किया। सभी ने सौराष्ट्र के इस युवा तेज गेंदबाज की जमकर तारीफ की।


आपको बता दें इस साल घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन की बदौलत चेतन सकारिया को पहले आईपीएल से अनुबंध मिला। इसके बाद आईपीएल में दमदार प्रदर्शन की बदौलत चेतन सकारिया के लिए राष्‍ट्रीय टीम के दरवाजे खुल गए। श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम में चेतन सकारिया का चयन हुआ और अब उन्हें भारत की कैप भी मिल गई है। गुजरात के भारतेज के रहने वाले चेतन सकारिया ने 15 फर्स्‍ट क्‍लास मैचों में 41 विकेट लिए और आईपीएल फ्रेंचाइजी को प्रभावित किया।

पिता को देंगे श्रद्धांजलि

चेतन सकारिया ने आईपीएल से पहले अपने छोटे भाई को हमेशा के लिए खो दिया था उसके बाद भारतीय टीम में चयन से पहले उनके पिता का निधन हो गया था। इसी कारण उन्होंने भारतीय टीम में चयन होने की खुशी नहीं मनाई थी। श्रीलंका दौरे पर आने से पहले एक इंटरव्‍यू में सकारिया ने कहा था कि, ‘मैं सोच रहा था क‍ि अपनी मां का ख्‍याल कैसे रखूंगा। मैंने खुद को मानसिक रूप से मजबूत रखने की कोशिश की। अगर मैं श्रीलंका में कुछ अच्‍छा करूंगा तो मेरे पिता की आत्‍मा को शांति मिलेगी।’

अपडेट