महेंद्र सिंह धोनी का टूट सकता है सपना, चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए एक बार फिर IPL प्लेऑफ में पहुंचना मुश्किल; ये है टीम की कमजोरी

धोनी की टीम पिछले सीजन में प्लेऑफ में नहीं पहुंच सकी थी। इस बार टीम की नजर सिर्फ प्लेऑफ में जगह बनाने पर ही नहीं बल्कि खिताब जीतने पर है। कप्तान धोनी का ये आखिरी आईपीएल हो सकता है।

Chennai Super Kings, ipl 2021, MS Dhoniचेन्नई सुपरकिंग्स को लीग में इस बार मुंबई, दिल्ली, बैंगलोर और कोलकाता में खेलने हैं। (सोर्स – twitter/Chennai Super Kings)

चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम आईपीएल की दूसरी सफल टीम है। उसने तीन बार खिताब अपने नाम किए हैं। महेंद्र सिंह धोनी की टीम पिछले सीजन में प्लेऑफ में नहीं पहुंच सकी थी। इस बार टीम की नजर सिर्फ प्लेऑफ में जगह बनाने पर ही नहीं बल्कि खिताब जीतने पर है। कप्तान धोनी का ये आखिरी आईपीएल हो सकता है। वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट संन्यास ले चुके हैं और उनकी उम्र 39 साल हो चुकी है। हालांकि, टीम की कमजोरी उसके चैंपियन बनने के सपने को तोड़ सकती है।

चेन्नई की मजबूती: सीएसके की सबसे बड़ी मजबूती धोनी हैं। उनके जैसा कप्तान जिस टीम में रहेगा वह पहले से ही फेवरेट हो जाती है। धोनी खिलाड़ियों में से बेस्ट निकलवाले हैं। टीम का अनुभव भी उसकी मजबूती है। सुरेश रैना, अंबाती रायुडू, रॉबिन उथप्पा, धोनी, रविंद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो और मोइन अली जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। मैच के दौरान मुश्किल वक्त में अनुभव काम आता है। टीम के पास कई बेहतरीन ऑलराउंडर्स हैं, जो गेंद और बल्ले से मैच को कभी भी पलट सकते हैं। इनमें सैम करन, जडेजा, ब्रावो, मोइन और कृष्णप्पा गौतम हैं। धोनी को ऑलराउंडर पसंद हैं।

चेन्नई की कमजोरी: सीएसके की सबसे बड़ी कमजोरी इस बार मैचों के वेन्यू हैं। उसे मुंबई, दिल्ली, बैंगलोर और कोलकाता में खेलने हैं। मुंबई में 5 और बैंगलोर में 3 लीग मैच खेलने हैं। इन दोनों मैदानों पर गेंदबाजों की जमकर धुनाई होती है। इन मैदानों पर तेज गति से रन बनाने के अलावा तेज गति से गेंदबाजी भी करनी होती है। शार्दुल ठाकुर के अलावा कोई तेज गेंदबाज नहीं है। जोश हेजलवुड ने अपना नाम वापस ले लिया है। चेन्नई के लिए ये बड़ा झटका है।

इसके अलावा इन मैदानों पर कम से कम 180 रन बनाने होंगे। चेन्नई के पास तेज बल्लेबाजों की भी कमी है, क्योंकि ज्यादातर खिलाड़ी लंबे समय से क्रिकेट से दूर हैं। मुंबई और बैंगलोर में स्पिनर का इस्तेमाल करने से बचना होता है। दूसरी ओर, धोनी को स्पिनर्स काफी पसंद है। ऐसे में टीम को मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। टीम को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए अपने पुराने अंदाज में खेलना होगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो टीम इस बार भी प्लेऑफ में नहीं पहुंच पाएगी।

इस बार नीलामी में खरीदे गए खिलाड़ी: कृष्णप्पा गौतम (9.25 करोड़), मोइन अली (7 करोड़), चेतेश्वर पुजारा (50 लाख), के भगत वर्मा (20 लाख), सी हरि निशांत (20 लाख) और एम हरिशंकर रेड्डी (20 लाख)।

चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम:
बल्लेबाज: फाफ डुप्लेसिस, ऋतुराज गायकवाड़, सुरेश रैना, अंबाती रायुडू, रॉबिन उथप्पा, चेतेश्वर पुजारा, सी हरि निशांत।
विकेटकीपर: एमएस धोनी (कप्तान), एन जगदीसन।
ऑलराउंडर: रविंद्र जडेजा, सैम करन, ड्वेन ब्रावो, मोइन अली, कृष्णप्पा गौतम, के भगत वर्मा।
स्पिनर: कर्ण शर्मा, आर साई किशोर, मिशेल सैंटनर, इमरान ताहिर।
तेज गेंदबाज: दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, लुंगी एंगिडी, केएम आसिफ, हरिशंकर रेड्डी।

Next Stories
1 IPL 2021: हॉकी में गोल दागने वाला खिलाड़ी आईपीएल में मचा सकता है धमाल, 40 गेंद पर शतक ठोकने का बनाया था रिकॉर्ड
2 IPL 2021: मिशेल मार्श के बाद बाद चेन्नई सुपरकिंग्स का तेज गेंदबाज आईपीएल से हटा, अब तक 5 खिलाड़ियों ने वापस लिया नाम
3 IPL: विराट कोहली और एबी डिविलियर्स ही बना पाएं हैं यह रिकॉर्ड, इस मामले में टॉप पर हैं शिखर धवन
यह पढ़ा क्या?
X