ताज़ा खबर
 

चेपॉक भारतीय खिलाड़ियों के लिए रहा है लकी, इंग्लैंड ने बनाया है अब तक का सर्वाधिक स्कोर, जानिए रोचक आंकड़े

चेपॉक पर अब तक का सबसे कम टेस्ट स्कोर 83 रन भारत का है। 1977 में खेले गए टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत को 83 रनों पर समेट दिया था।

इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान अलस्टेयर कुक (बाएं) और भारतीय कप्तान विराट कोहली। (PTI Photo by Vijay Verma)

चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम (चेपॉक स्टेडियम) में भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सिरीज का आखिरी मैच शुक्रवार (16 दिसंबर) को शुरू होगा। भारत पांच मैचों की शृंखला पहले ही 3-0 से जीत चुका है। ऐसे में ये मैच हार-जीत से ज्यादा रिकॉर्ड के नजरिए से अहम है। एक तरफ इंग्लैंड सिरीज में कम से कम एक मैच जीत कर इज्जत बचानी चाहेगी वहीं भारतीय टीम 4-0 से शृंखला जीतकर अपना रिकॉर्ड बेहतर करना चाहेगी। रिकॉर्ड के लिहाज से चेपॉक पर भारतीयों खिलाड़ियों का दबदबा रहा है।

भारत की पहली टेस्ट जीत- भारत के सबसे पुराने क्रिकेट स्टेडियम में शुमार किए जाने वाले चेपॉक मैदान पर ही भारत को पहली टेस्ट जीत मिली थी। भारत का ये 24वां टेस्ट मैच था। फरवरी 1952 में विजय हजारे की कप्तानी में भारतीय टीम ने डोनाल्ड कार्र की इंग्लिश टीम को पारी से हरा दिया। इस टेस्ट में वीनू मांकड़ ने 108 रन देकर 12 विकेट लिए थे।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback

क्रिकेट इतिहास का दूसरा टाई टेस्ट मैच- करीब 100 साल के क्रिकेट इतिहास में अभी तक केवल दो टेस्ट मैच टाई हुए हैं। इनमें से दूसरा टाई टेस्ट मैच इसी मैदान पर खेला गया था। जाता है। क्रिकेट इतिहास में पहली बार 1960 में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया मैच टाई हुआ था। उसके बाद 1986 में चेपक पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया टेस्ट टाई हुआ। उसके बाद आज तक कोई टेस्ट मैच टाई नहीं हुआ है।

वीरेंद्र सहवाग का तिहरा शतक- वीरेंद्र सहवाग ने साल 2008 में चेपक के मैदान पर ही 304 गेंदों पर 319 रन बनाए थे। वीरू ने राहुल द्रविड़ के संग 268 रनों की साझीदारी की थी जिसमें द्वविड़ का 68 रनों का योगदान था। सहवाग ने अपने 300 रन महज 278 गेंदों पर पूरे कर लिए थे। टेस्ट क्रिकेट इतिहास का ये अब तक का सबसे तेज तिहरा शतक है। डोनाल्ड ब्रैडमैन और ब्रायन लारा के बाद वो दूसरे ऐसे बल्लेबाज बन गए जिसने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक जमाए हों। सहवाग ने अपना पहला तिहरा टेस्ट शतक (309) पाकिस्तान के खिलाफ 2004 में बनाया था।

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत में सबसे बड़ी टेस्ट जीत- इंग्लैंड ने चेपक पर आखिरी टेस्ट मैच 2008 में भारत से ही खेला था। उस मैच में पहले तीन दिन तक मेहमान टीम का पलड़ा भारी रहा। आखिरी पारी में भारत को जीत के लिए 387 रन चाहिए थे। सहवाग ने 68 गेंदों पर तूफानी 83 रन बनाए। वहीं सचिन तेंदुलकर ने शतकीय पारी खेलेत हुए 103 रन बनाए। भारत में टेस्ट मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए हासिल की गई ये अब तक कि सबसे बड़ी जीत है।

गावस्कर ने तोड़ा ब्रैडमैन का रिकॉर्ड- भारतीय टेस्ट क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने चेपॉक के मैदान पर ही 30वां टेस्ट शतक बनाकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी डॉन ब्रैडमैन के सर्वाधिक टेस्ट शतकों का रिकॉर्ड तोड़ा था।

टेस्ट इतिहास का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी डेब्यू- भारतीय स्पीनर नरेंद्र हिरवानी ने चेपॉक के मैदान पर ही अपने टेस्ट डेब्यू मैच में क्रिकेट इतिहास का एक अनोखा कारनामा किया था। हिरवानी ने जनवरी 1988 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में पहली पारी में 61 रन देकर आठ विकेट चटकाए थे। किसी भी भारतीय गेंदबाज का ये अब तक का बेस्ट टेस्ट डेब्यू है। अपने डेब्यू टेस्ट में अभी तक कोई गेंदबाज एक पारी आठ विकेट से अधिक विकेट नहीं ले सका है। हालांकि इस मामले में रन औसत के आधार पर हिरवानी तीसरे स्थान पर हैं। दोनों पारियों को मिलाकर अपने डेब्यू टेस्ट में सर्वाधिक विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड हिरवानी के ही नाम है। हिरवानी ने इस टेस्ट की दूसरी पारी में भी आठ विकेट लिए थे। मैच की समाप्ति की वो दोनों पारियों में 136 रन देकर 16 विकेट ले चुके थे।

चेपॉक पर सबसे अधिक टेस्ट स्कोर इंग्लैंड का- उल्लेखनीय है कि चेपॉक के मैदान पर अभी तक का सर्वाधिक स्कोर सात विकेट पर 652 रन इंग्लैंड ने ही बनाया है। इंग्लैंड ने ये स्कोर 1985 में भारत के खिलाफ ही बनाया था।

चेपॉक पर सबसे कम टेस्ट स्कोर भारत का- चेपॉक पर अब तक का सबसे कम स्कोर 83 रन भारत का है। इंग्लैंड ने 1977 में खेले गए टेस्ट में भारत को 83 रनों पर समेट दिया था।

सचिन तेंदुलकर का पसंदीदा टेस्ट ग्राउंड- टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे अधिक 15,921 रन बनाने वाले सचिन तेंदुलकर का चेपॉक पसंदीदा भारतीय मैदान रहा है। सचिन ने भारत में सबसे अधिक टेस्ट रन चेपॉक पर बनाए। चेपॉक पर सचिन ने नौ टेस्ट मैचों में 87.60 के औसत से 876 रन बनाए हैं।

रणजी ट्रॉफी का पहला मैच- चेपॉक के मैदान पर ही 4 नवंबर 1934 को मद्रास और मैसूर के बीच रणजी ट्रॉफी का पहला मैच खेला गया था। मैच में मद्रास के एमजे गोपाल ने मैसूर के एन कर्टिस को पहली गेंद खिलाई थी।

चेपॉक पर भारतीय बल्लेबाज सबसे सफल-  चेपॉक पर रन बनाने के मामले में भारतीय बल्लेबाज सबसे आगे हैं। चेपॉक पर सर्वाधिक रन बनाने वाले तीन बल्लेबाज हैं- सुनील गावस्कर (1018),  सचिन (876) और गुंडप्पा विश्वनाथ (785) हैं।

चेपॉक पर भारतीय गेंदबाज सबसे सफल- चेपॉक ग्राउंड पर विकेट लेने के मामले में भी भारतीय गेंदबाज सबसे आगे हैं। चेपक पर सबसे अधिक विकेट लेने वाले तीन गेंदबाज हैं- अनिल कुंबले (48 विकेट), कपिल देव (40 विकेट) और हरभजन सिंह (39 विकेट)।

महेंद्र सिंह धोनी का टेस्ट डेब्यू- पूर्व टेस्ट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपना टेस्ट करियर 2005 में चेपक में किया था।

नौवें विकेट पर 140 की साझीदारी- भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच फरवरी, 2013 में हुए टेस्ट मैच में एमएस धोनी ने 224 रन बनाए थे। धोनी ने नौवें विकेट के लिए तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के साथ 140 रनों की साझीदारी की थी। नौवें विकेट के लिए ये टेस्ट क्रिकेट इतिहास की 15वीं सर्वश्रेष्ठ साझीदारी है। चार मैचों की ये सिरीज भारत ने 4-0 से जीती थी।

चेपॉक का पाकिस्तान कनेक्शन- पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज सईद अनवर ने भारत के खिलाफ 1997 में खेले गए वनडे मैच में 194 रन चेपॉक ग्राउंड पर ही बनाया था। उस समय ये एकदिवसीय क्रिकेट का सबसे बड़ा निजी स्कोर था। इस समय वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर (264) का रिकॉर्ड भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा के नाम है जो उन्होंने 2014 में बनाया था।

चेपॉक पर 1934-2013 के बीच भारत का रिकॉर्ड- कुल 31 मैच, 13 जीत, छह हार, एक टाई, 11 ड्रा, जीत-हार का अनुपात 2.166, विकेट गिरने का औसत 35.81 रन, रन प्रति ओवर- 3.1, इनिंग- 53, अधिकतम स्कोर- 627, न्यूनतम स्कोर- 83

38 हजार दर्शक क्षमता वाले इस स्टेडियम में आखिरी टेस्ट मैच 2013 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था। करीब तीन साल बाद एक बार फिर चेपक पर भारतीय टीम का मुकाबला एक विदेश टीम से होगा लेकिन वो टीम इंग्लैंड है जिसका इस मैदान पर रिकॉर्ड उल्लेखनीय है। ऐसे में मैच के नतीजे को लेकर कोई भी अनुमान लगाना कठिन है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App