ताज़ा खबर
 

विश्व शतरंज ख़िताब: कार्लसन के खिलाफ आनंद के लिये करो या मरो का मुकाबला

दो मुकाबले बाकी रहते पूरे एक अंक से पिछड़े भारतीय धुरंधर विश्वनाथन आनंद को नार्वे के मैग्नस कार्लसन के खिलाफ विश्व चैम्पियनशिप मैच में खिताब की दौड़ में बने रहने के लिये कल हर हालत में जीत दर्ज करनी होगी। कार्लसन फिलहाल 5.5-4.5 से आगे हैं। आनंद को हर हालत में एक जीत दर्ज करनी […]

Author November 22, 2014 5:30 PM
खिताब की दौड़ में बने रहने के लिये आनंद को 11वीं बाज़ी जीतनी होगी

दो मुकाबले बाकी रहते पूरे एक अंक से पिछड़े भारतीय धुरंधर विश्वनाथन आनंद को नार्वे के मैग्नस कार्लसन के खिलाफ विश्व चैम्पियनशिप मैच में खिताब की दौड़ में बने रहने के लिये कल हर हालत में जीत दर्ज करनी होगी।

कार्लसन फिलहाल 5.5-4.5 से आगे हैं। आनंद को हर हालत में एक जीत दर्ज करनी होगी क्योंकि हर गुजरती बाजी के साथ उनकी खिताब जीतने की उम्मीदें धूमिल होती जा रही है।

छठी बाजी में कार्लसन की जबर्दस्त चूक का वह फायदा नहीं उठा सके और उसके बाद से गत चैम्पियन कार्लसन ने कोई कोताही नहीं बरती। आखिरी चार बाजियां ड्रॉ रही है जिनमें आनंद ने उसे दबाव में भी लाया। नौवीं बाजी 122 चालों के बाद ड्रॉ पर छूटी जबकि आठवीं बाजी में भी आनंद दबाव बनाने के बाद लय खो बैठे।

आनंद दसवें मुकाबले में भी शुरूआती बढत का फायदा नहीं उठा सके और कार्लसन ने उन्हें ड्रा पर रोक दिया। वैसे चेन्नई में हुए पिछले विश्व चैम्पियनशिप मुकाबले की तुलना में आनंद बेहतर स्थिति में हैं क्योंकि इस समय तक कार्लसन 6.5 अंक ले चुके थे।

दूसरी ओर कार्लसन की तैयारी इतनी पुख्ता है कि वह आनंद को आखिरी मुकाबले में उनके ‘कम्फर्ट जोन’ से बाहर निकालने में कोई कसर नहीं बाकी रखेंगे।

एक दिन के विश्राम के बाद कल होने वाले मुकाबले में आनंद अगर हार जाते हैं तो उनके लिये खिताब के रास्ते बंद हो जायेंगे। पूरे मुकाबले में उतार चढ़ाव देखने के बाद एक अंक की बढ़त बनाने वाले कार्लसन आक्रामक तेवर अख्तियार करने के मूड में नहीं हैं। उन्होंने कहा,‘‘लगता है कि यह मैच लंबा चलेगा।’’

आनंद अगर जीतते हैं तो वह खिताब की दौड़ में लौट आयेंगे। दो ड्रॉ या हार के मायने हैं कि उन्हें फिर विश्व चैम्पियन बनने के लिये और इंतजार करना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App