U-19 एशिया कप में अथर्व की धूम: बस कंडक्टर हैं मां, घर में टीवी पर मैच देखने तक का इंतजाम नहीं

India U19 vs Bangladesh U19, Final: आकाश सिंह ने भी शानदार गेंदबाजी की और 12 रन देकर तीन विकेट लिए। सुशांत मिश्रा और विद्याधर पाटिल को एक-एक विकेट मिला। अथर्व अंकोलेकर 8 ओवर के अपने स्पेल में महज 28 रन खर्च किए और 5 विकेट झटकर बांग्लादेश को बैकफुट पर धकेल दिया।

भारतीय अंडर 19 टीम। (फोटो सोर्स- पीटीआई)

INDU19 vs BANU19, Final, ACC U19 Asia Cup 2019: बाएं हाथ के स्पिनर अथर्व अंकोलेकर के पांच विकेट के बूते भारत ने अंडर-19 एशिया कप के रोमांचक एकदिवसीय मुकाबले में शनिवार को बांग्लादेश को पांच रन से हराकर खिताब पर कब्जा किया। कम स्कोर वाले इस मैच में अंकोलेकर के अलावा आकाश सिंह ने भी शानदार गेंदबाजी की और 12 रन देकर तीन विकेट लिए। सुशांत मिश्रा और विद्याधर पाटिल को एक-एक विकेट मिला। अथर्व अंकोलेकर 8 ओवर के अपने स्पेल में महज 28 रन खर्च किए और 5 विकेट झटकर बांग्लादेश को बैकफुट पर धकेल दिया। अथर्व अंकोलेकर ने टीम को चैंपियन बनाने में अहम योगदान दिया। हालांकि, अथर्व के लिए यहां तक का सफर तय करना कतई आसान नहीं था। अथर्व के पिता विनोद BEST (बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट) में कंडक्टर का काम करते थे, लेकिन जब अथर्व 9 साल के थे तभी उनके पिता की मौत हो गई। विनोद परिवार में कमाने वाले इकलौते शख्स थे, ऐसे में उनके गुजरने के बाद घरवाले बेसहारा हो गए।

मां ने संभालाः अथर्व अंकोलेकर की मां वैदेही अंकोलेकर ने अंग्रेजी अखबार डीएनए को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि कैसे उनके पति की मौत के बाद उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा। वैदेही के मुताबिक घर का खर्चा चलाने के लिए उन्होंने पहले ट्यूशन देना शुरू किया। इस काम में उनकी एक दोस्त ने मदद की। इसके बाद में उन्हें पति की नौकरी मिल गई। इस नौकरी को पाने के बाद उन्होंने अपने सपनों को अथर्व में देखना शुरू कर दिया।

घर में टीवी पर मैच देखने का इंतजाम नहींः अथर्व की मां ने इस मुकाबले को देखने के लिए एक दिन की छुट्टी ली थी, लेकिन घर में टीवी तो है लेकिन उसमें स्पोर्ट्स चैनल नहीं है, जिसके लिए उन्होंने एक रिश्तेदार का सहारा लिया और वहां मैच देखने पहुंची। उनकी प्रार्थना काम आई और भारत ने ये मुकाबला जीत लिया।

अथर्व मुंबई के रिजवी कॉलेज में सेकेंड ईयर के छात्र हैं। अर्थव को आज भी अपने पिता की कमी खलती है। वह बचपन में जब अच्छा खेला करते थे तो उनके पिता उन्हें बल्ला लाकर दिया करते थे। साल 2010 में एक प्रैक्टिस मैच के दौरान अर्थव ने पूर्व भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को आउट कर खूब सुर्खियां बटोरी थी।

Next Stories
1 IND vs SA, 1st T20: धर्मशाला में हो रही झमाझम बारिश, भारत-दक्षिण अफ्रीका मैच पर मंडराया संकट
2 Afghanistan vs Zimbabwe 2nd Match Playing 11: अफगानिस्तान के खिलाफ इन खिलाड़ियों को मिला मौका
3 पाकिस्तान ही नहीं भारत-दक्षिण अफ्रीका सीरीज पर भी पड़ा है विवादों का साया, ये हैं 5 बड़ी कॉन्ट्रोवर्सीज
यह पढ़ा क्या?
X