ताज़ा खबर
 

9 साल बाद हुआ फुटबॉल वर्ल्ड कप में रिश्वरखोरी का खुलासा, जांच करेगा FIFA

फुटबॉल वर्ल्ड कप 2006 की मेजबानी हासिल करने के लिये जर्मनी ने फीफा कार्यकारिणी के सदस्यों को रिश्वत दी थी। जर्मनी की एक समाचार पत्रिका ने यह सनसनीखेज दावा किया है। जर्मनी की एक साप्ताहिक समाचार पत्रिका डर स्पीजेल के मुताबिक, ‘जर्मनी की तरफ से बोली लगाने वाली समिति ने तब एक करोड़ तीन लाख […]
Author बर्लिन | October 17, 2015 11:29 am

फुटबॉल वर्ल्ड कप 2006 की मेजबानी हासिल करने के लिये जर्मनी ने फीफा कार्यकारिणी के सदस्यों को रिश्वत दी थी। जर्मनी की एक समाचार पत्रिका ने यह सनसनीखेज दावा किया है।

जर्मनी की एक साप्ताहिक समाचार पत्रिका डर स्पीजेल के मुताबिक, ‘जर्मनी की तरफ से बोली लगाने वाली समिति ने तब एक करोड़ तीन लाख स्विस फ्रैंक (उस समय लगभग एक करोड़ 60 लाख डॉलर) की धनराशि अवैध तरीके से खर्च करने के लिये रखी थी। यह राशि उसे एडिडास के पूर्व प्रमुख रॉबर्ट लुई ड्रेफस ने निजी हैसियत से मुहैया कराई थी।

पत्रिका ने कहा कि इस धनराशि का उपयोग फीफा की 24 सदस्यीय कार्यकारी समिति में एशिया के चार प्रतिनिधियों के वोट सुरक्षित करने के लिये किया गया था।

इसके बाद छह जुलाई 2000 को जर्मनी को टूर्नामेंट की मेजबानी सौंपी गई थी। एशियाई सदस्यों ने भी यूरोपीय प्रतिनिधियों के साथ मिलकर जर्मनी को 12-11 से जीत दिला दी थी।

न्यूजीलैंड के चार्ल्स डेम्पसे ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया था। जो तीन एशियाई प्रतिनिधि अब भी जीवित हैं उनमें से स्पीजेल केवल दक्षिण कोरिया के चुंग मून जून की पहचान ही कर पाई है। उन्होंने पत्रिका से कहा कि ‘यह सवाल प्रतिक्रिया के योग्य नहीं है।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. N
    Naveen Bhargava
    Oct 17, 2015 at 8:17 pm
    (0)(0)
    Reply
    Indian Super League 2017 Points Table

    Indian Super League 2017 Schedule