ताज़ा खबर
 

क्लब क्रिकेट के लिए इस तेज गेंदबाज ने छोड़ा साउथ अफ्रीकी टीम का साथ

26 वर्षीय ओलिवर ने जनवरी 2017 में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। उनके नाम 10 टेस्ट में 48 विकेट दर्ज हैं। पाकिस्तान के खिलाफ पिछले साल दिसंबर में खेले गए टेस्ट मैच में ओलिवर ने मैन ऑफ द मैच' का अवॉर्ड अपने नाम किया था।

Author Updated: February 26, 2019 9:29 PM
डुआने ओलिवर ने क्लब क्रिकेट खेलने के लिए राष्ट्रीय टीम को छोड़ने का फैसला किया है। (Photo: ICC)

साउथ अफ्रीका के प्रतिभाशाली खिलाड़ी डुआने ओलिवर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर सभी को चौंका दिया है। डुआने ने क्लब क्रिकेट खेलने के लिए राष्ट्रीय टीम को छोड़ने का फैसला किया है।

साउथ अफ्रीका के लिए मात्र दो वनडे मैच खेलने वाले तेज गेंदबाज डुआने ओलिवर ने साउथ अफ्रीका का साथ छोड़कर इंग्लिश काउंटी क्लब यॉर्कशायर से जुड़ने निर्णय लिया है। आईसीसी ने मंगलवार को ये जानकारी दी। आईसीसी वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, “ओलिवर ने काउंटी टीम यॉर्कशायर के साथ तीन साल का करार किया है जिसकी वजह से अब वह साउथ अफ्रीका की टीम में अपनी सेवा नहीं दे पाएंगे। वह मार्च में यॉर्कशायर टीम के साथ जुड़ेंगे।”

यॉर्कशायर ने ओलिवर के हवाले से कहा, “मैं पिछले साल इंग्लैंड आया था और काउंटी क्रिकेट खेलते हुए मैंने इसका पूरा आनंद लिया। मैं मूल रूप से एक विदेशी खिलाड़ी के रूप में वापस आना चाहता था। लेकिन जब मुझे यॉर्कशायर से एक प्रस्ताव मिला, तो मुझे पता था कि क्लब के लिए हस्ताक्षर करना मेरे और मेरे परिवार दोनों के लिए सबसे अच्छा विकल्प होगा।”

बता दें कि 26 वर्षीय ओलिवर ने जनवरी 2017 में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। उनके नाम 10 टेस्ट में 48 विकेट दर्ज हैं। पाकिस्तान के खिलाफ पिछले साल दिसंबर में खेले गए सेंचुरियन टेस्ट में ओलिवर ने पहली पारी में 6 और दूसरी पारी में 5 विकेट हासिल कर ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड अपने नाम किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Islamabad United v Multan Sultans: मुल्तान को पटकनी दे 33 रन से जीता इस्लामाबाद
2 Video: वाइफ साक्षी के साथ धोनी ने पहली बार शूट किया टीवी एड, बताई राज की बात
3 भ्रष्टाचार मामले में दोषी पाए गए सनथ जयसूर्या, आईसीसी ने लगाया 2 साल का बैन