नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक्टिंग के साथ-साथ रेसलिंग के भी रहे हैं माहिर खिलाड़ी, एक मिनट में ही कर देते थे विरोधी को चित

नवाजुद्दीन सिद्दीकी का मानना है कि यदि डाइटिंग करने से एक्टिंग बढ़िया हो जाए तो वह खाना खाना ही छोड़ देंगे। इंटरव्यू के दौरान नवाजुद्दीन सिद्दीकी से पूछा गया था कि क्या कभी आपने सिक्स पैक एब्स वाले रोल के लिए क्या कभी कोई खास डाइट फॉलो की है।

Nawazuddin Siddiqui Wrestler Bollywood Actor
नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह बचपन में काफी कुश्ती लड़ते थे। (सोर्स- यूट्यूब स्क्रीनशॉट/Curly Tales)

बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी बेहतरीन कलाकार हैं। वह जिस किरदार को निभाते हैं, वह यादगार बन जाता है। फिल्म में चाहे उनकी भूमिका निगेटिव हो या पॉजिटिव वह दर्शकों के दिलों-दिमाग पर अलग ही छाप छोड़ते हैं। ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर उनकी कई शानदार फिल्में मौजूद हैं।

हालांकि, बहुत कम लोगों को मालूम होगा कि साधारण कद-काठी के दिखने वाले नवाजुद्दीन सिद्दीकी रेसलिंग के भी माहिर खिलाड़ी रहे हैं। यह बाद खुद उन्होंने एक इंटरव्यू में बताई थी। उन्होंने यह भी बताया था कि वह एक ही मिनट में मुकाबले का फैसले का कर देते थे। इस दौरान उन्होंने यह भी बताया था कि वह बिल्कुल भी डाइटिंग नहीं करते हैं।

नवाजुद्दीन सिद्दीकी का मानना है कि यदि डाइटिंग करने से एक्टिंग बढ़िया हो जाए तो वह खाना खाना ही छोड़ देंगे। इंटरव्यू के दौरान नवाजुद्दीन सिद्दीकी से पूछा गया था कि क्या कभी आपने सिक्स पैक एब्स वाले रोल के लिए क्या कभी कोई खास डाइट फॉलो की है।

उस पर अभिनेता ने कहा था, ‘सिक्स पैक वाले बहुत लिमिटेड होते हैं। मेरा थोड़ा सा अलग है। मैं यहां पहलवानी करने थोड़े ही आया हूं। एक्टिंग करने आया हूं।’ उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक छोटे से कस्बे बुढ़ाना में 19 मई 1974 को जन्में नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि पहलवानी (रेसलिंग/Wrestling) तो वह वह बचपन में किया करते थे।

इतने दुबले होने के बावजूद रेसलिंग का मैच जीतने के सवाल पर नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बताया, ‘सही बात बताऊं तो उनमें से मैं ज्यादातर में हारा हूं। हां, लेकिन यह होता था कि हम जो कुश्ती करते थे, एक ही मिनट में फैसला हो जाता था।’

उन्होंने आगे कहा, ‘हां, यह तो वह मुझे चित कर देता था या तो मैं उसे चित कर देता था। ऐसा था। मैं दांव-पेंच में बहुत सही था, लेकिन मेरी शरीर में ज्यादा ताकत नहीं थी। असली बात यह है।’

आपका विरोधी खिलाड़ी आपसे बड़े साइज वाला होता था या बराबर वाला, के सवाल पर नवाजुद्दीन ने हंसते हुए कहा, ‘नहीं, नहीं, सेम साइज। बड़े वाले के सामने तो मैं हिम्मत भी नहीं करता था।’ नवाज ने यह भी बताया कि उन्हें खाने में बिरयानी बहुत पसंद है, लेकिन सबसे ज्यादा उन्हें मां के हाथ का बना खाना भाता है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट