ताज़ा खबर
 

शहीद दिवस के दिन लड़ी जाएगी कुश्ती, 1 करोड़ रुपए का होगा इनाम

भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के शहीद दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर की कुश्ती प्रतियोगिता ‘भारत केसरी दंगल’ का यहां आयोजन किया जाएगा।

Author गुड़गांव | March 17, 2016 00:35 am
(File Photo)

भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के शहीद दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर की कुश्ती प्रतियोगिता ‘भारत केसरी दंगल’ का यहां आयोजन किया जाएगा।

इसकी इनामी राशि एक करोड़ रुपये होगी। एक अधिकारी ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी। कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन गुड़गांव के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में 21 मार्च से 23 मार्च के बीच किया जाएगा। यह इनामी राशि अभी तक किसी कुश्ती प्रतियोगिता की सबसे अधिक राशि है।

प्रतियोगिता के उप विजेता को 50 लाख रुपये का नगद पुरस्कार और कांस्य पदक विजेता को 25 लाख रुपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा।

इस प्रतियोगिता का आयोजन हरियाणा सरकार, भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) और भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) की सहायता से कर रही है।

इस प्रतियोगिता के लिए प्रतिभागियों से प्रार्थना पत्र डाक के जरिए भेजने को कहा गया है। सारे प्रतिभागियों को ताऊ देवी लाल स्टेडियम में 20 मार्च को प्रतियोगिता संबंधी औपचारिकताएं पूरी करने के लिए पहुंचना होगा।

सरकार के खेल विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि सभी प्रतिभागियों को नगद पुरस्कार दिए जाएंगे। चौथा स्थान हासिल करने वाले खिलाड़ी को 10 लाख रुपये का इनाम, पांचवां स्थान हासिल करने वाले को पांच लाख, छठा स्थान हासिल करने वाले को तीन लाख, सातवां स्थान हासिल करने वाले को दो लाख और आठवां स्थान हासिल करने वाले को एक लाख का इनाम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता तीन राउंड की होगी। प्रत्येक राउंड 30 मिनट का होगा।

प्रतिभागियों को चार समूह में बांटा जाएगा। प्रतियोगिता का शुरुआती दौर नॉक आउट आधार पर खेला जाएगा जबकि क्वार्टर फाइनल लीग आधार पर खेला जाएगा।

प्रवक्ता ने कहा, “सेमीफाइनल और फाइनल कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) से सलाह लेकर आयोजित किए जाएंगे। अगर कोई भी प्रतिभागी प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया जाता है तो उसे इनामी राशि नहीं दी जाएगी।”

इस प्रतियोगिता में खिलाड़ी की न्यूनतम आयु सीमा एक जनवरी 2016 तक 17 साल होनी चाहिए। खिलाड़ी का वजन 80 किलोग्राम होना चाहिए।

पिछले तीन सालों में आईओए और डब्ल्यूएफआई द्वारा आयोजित की गई कुश्ती प्रतियोगिता में पदक हासिल करने वाले खिलाड़ी, हरियाण केसरी और हिन्द केसरी, सभी राज्यों की राज्य स्तर की कुश्ती प्रतियोगिता के विजेता खिलाड़ी, सर्विस खेलों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ी, रेलवे की तरफ से खेलने वाले खिलाड़ी, अखिल भारतीय अंतरविश्वद्यिालय प्रतियोगिता में खेलने वाले खिलाड़ी और भिन्न तरह के पुलिस बल के खिलाड़ी इस प्रतियोगिता में हिस्सा ले सकते हैं। प्रतियोगिता का समापन 23 मार्च को होगा। इसी दिन भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को अंग्रेजों ने फांसी दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App