ताज़ा खबर
 

अनुराग ठाकुर और सटोरिये के मसले पर कार्रवाई नहीं: बीसीसीआई

बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर की चंडीगढ में एक कार्यक्रम के दौरान संदिग्ध सटोरिये के साथ तस्वीर आने के मामले में आईसीसी द्वारा बीसीसीआई अध्यक्ष जगमोहन डालमिया...

Author April 27, 2015 3:35 PM
बीसीसीआई सदस्यों ने इस मसले को तवज्जो नहीं दी है और उनका मानना है कि यह आईसीसी अध्यक्ष एन श्रीनिवासन का किया धरा है। (फ़ोटो स्रोत एक्सप्रेस फ़ाइल)

बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर की चंडीगढ में एक कार्यक्रम के दौरान संदिग्ध सटोरिये के साथ तस्वीर आने के मामले में आईसीसी द्वारा बीसीसीआई अध्यक्ष जगमोहन डालमिया को भेजे गए पत्र पर बोर्ड संभवत: कार्रवाई नहीं करेगा।

मीडिया रपटों में कल दावा किया गया कि आईसीसी ने इस बारे में बीसीसीआई को पत्र लिखा है कि ठाकुर को कथित सटोरिये करण गिलहोत्रा के साथ देखा गया। ठाकुर ने इस मसले पर कोई बयान नहीं दिया है।

मीडिया रपटों में कहा गया कि आईसीसी सीईओ डेव रिचर्डसन ने पत्र में कहा है कि ठाकुर को गिलहोत्रा के साथ देखा गया। बीसीसीआई सदस्यों ने इस मसले को तवज्जो नहीं दी है और उनका मानना है कि यह आईसीसी अध्यक्ष एन श्रीनिवासन का किया धरा है।

कार्यसमिति के एक सदस्य ने कहा,‘‘सभी को पता है कि आईसीसी कौन चला रहा है। श्रीनिवासन अब ठाकुर की छवि खराब करने की कोशिश में है। कार्यसमिति की बैठक में इस पर कोई बात नहीं की गई। हम सभी अनौपचारिक रूप से मानते हैं कि इसके पीछे श्रीनिवासन का हाथ है।’’

यह पूछने पर कि क्या डालमिया इस पत्र पर कोई कार्रवाई करेंगे, सूत्र ने ना में जवाब दिया। सूत्र ने कहा,‘‘डालमिया और ठाकुर के अच्छे कामकाजी संबंध है। दोनों ने मिलकर श्रीनिवासन को अध्यक्ष पद से हटाया। यह भी कुछ अजीब है कि जैसे ही चेन्नई सुपर किंग्स के मूल्यांकन का मसला उठा, आईसीसी ने यह पत्र भेज दिया।’’

श्रीनिवासन गुट के एक सदस्य ने कहा कि श्रीनिवासन को भी पता है कि मौजूदा पदाधिकारी कुछ नहीं करेंगे लेकिन यह ‘बदला लेने का’ उनका तरीका है।

श्रीनिवासन के एक विश्वस्त ने कहा,‘‘रिचर्डसन सिर्फ संदेशवाहक है। उन्होंने सिर्फ अपने आका के निर्देशों का पालन किया। निश्चित तौर पर लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है। अनुराग जितना आक्रामक होंगे, उतने ही जवाबी हमले किये जायेंगे।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App