scorecardresearch

पंड्या और केएल राहुल की बढ़ सकती हैं मुश्किलें! सीओए ने लिया यह फैसला

पांड्या और राहुल को टीवी शो ‘कॉफी विद करण’ पर महिलाओं के खिलाफ की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के कारण अस्थायी प्रतिबंध झेलना पड़ा था। लोकपाल न होने के कारण सीओए ने इन दोनों पर से अस्थायी प्रतिबंध हटा लिया था।

BCCI Ombudsman DK Jain, BCCI, Ombudsman, Hardik Pandya, KL Rahul, quantum of punishments, Team India, misogynistic comments
पंड्या और केएल राहुल की बढ़ सकती हैं मुश्किलें (Source: Twitter)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) हार्दिक पांड्या-लोकेश राहुल के मामले को लोकपाल डीके जैन को देने को तैयार है। सर्वोच्च अदालत द्वारा गठित की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी में होने वाली बैठक में आधिकारिक तौर पर इस मुद्दे को जैन को सौंप देगी। बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस से बताया कि सीओए बैठक में इस मामले को लोकपाल को सौंप देगी।

बीसीसीआई की यह बैठक बेहद अहम मानी जा रही है क्योंकि हाल ही में आईसीसी ने अपनी तिमाही बैठक में बोर्ड की उस अपील को खारिज कर दिया था, जिसमें उसने अंतर्राष्ट्रीय परिषद से आतंक को पनाह देने वाले देशों के खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा था।

अधिकारी ने कहा, “सीओए गुरुवार को दिल्ली में होने वाली बैठक में लोकपाल को यह मुद्दा सौंप देंगे। इस बैठक में आईसीसी द्वारा लिए गए फैसले पर भी चर्चा की जाएगी।” तीन सदस्यी सीओए जिसमें अध्यक्ष विनोद राय, डायना इडुल्जी और लेफ्टिनेंट जनरल रवि थोडगे शामिल हैं, के अलावा इस बैठक में वकील और बोर्ड अधिकारी मौजूदा होंगे जो कई अन्य अहम मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

पांड्या और राहुल को टीवी शो कॉफी विद करण पर महिलाओं के खिलाफ की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के कारण अस्थायी प्रतिबंध झेलना पड़ा था। लोकपाल न होने के कारण सीओए ने इन दोनों पर से अस्थायी प्रतिबंध हटा लिया था। सर्वोच्च अदालत की न्यायाधीश एसए बोब्डे और एएम साप्रे की पीठ ने 21 फरवरी को सेवानिवृत न्यायाधीश डीके जैन को बीसीसीआई का लोकपाल नियुक्त किया था और तत्काल प्रभाव से कार्यकाल संभालने को कहा था।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.