ताज़ा खबर
 

शुरू से ही अनिल कुंबले को कोच नहीं बनना देना चाहते थे विराट कोहली- पूर्व बीसीसीआई सचिव ने दिया संकेत

शिरके ने कहा कि उस समय ऐसे कई बातें सुनने को मिल रही थीं, जिनमें कहा जा रहा था कि कोहली और कुंबले के बीच कुछ विवाद चल रहा है लेकिन फिर भी कुंबले को टीम का कोच नियुक्त किया गया।

harbhajan Singh news, harbhajan Singh latest news, harbhajan Singh Virat Kohli, Virat Kohli vs Sachin Tendulkar, Kohli vs tendulkarभारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली और हेड कोच अनिल कुंबले।(Photo: BCCI)

बीसीसीआई के पूर्व सचिव अजय शिरके ने संकेत दिए हैं कि भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली नहीं चाहते थे कि पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले को टीम का कोच बनाया जाए। वहीं क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) चाहती थी कि अनिल कुंबले को कोच बनाया जाए इसलिए विराट कोहली को इसके लिए राजी करवाया गया और कुंबले को एक साल के कॉन्ट्रेक्ट पर भारतीय क्रिकेट टीम का कोच बनाया गया। आपको बता दें कि अजय शिरके पिछले साल कोच का चयन करने वाली समिति के सदस्य थे। शिरके ने कहा कि उस समय ऐसी कई बातें सुनने को मिल रही थीं, जिनमें कहा जा रहा था कि कोहली और कुंबले के बीच कुछ विवाद चल रहा है लेकिन फिर भी कुंबले को टीम का कोच नियुक्त किया गया।

शिरके ने बताया कि उस समय बीसीसीआई के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने पहल की और दोनों पार्टियों से बातचीत कर यह फैसला लिया कि सीएसी द्वारा कुंबले का नाम कोच के लिए रखा जा रहा हैं इसलिए हमें यह स्वीकार करना होगा। शिरके ने कहा कि मुझे लगता है कि कुंबले को एक साल के कॉन्ट्रेक्ट पर इसलिए ही रखा गया था ताकि हम साथ में काम कर यह समझ सकें कि उनके नेतृत्व में कैसा काम होता है, जिससे कि भविष्य में उनके लिए विकल्प खुला रखा जा सके। शिरके ने कहा कि वैसे तो विराट के कुंबले को लेकर अपने विचार थे लेकिन अनुराग ठाकुर ने पहल करते हुए कोहली से कहा कि कुंबले का समिति द्वारा सर्वसम्मित से चुनाव किया गया है। हमें समिति के फैसले का पालन करना होगा और कोहली को भी यह स्वीकार करना होगा।

सीएसी में पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल हैं। इन लोगों ने रवि शास्त्री की जगह कुंबले को टीम का कोच बनाने का फैसला किया जबकि शास्त्री ने दो साल टीम के निर्देशक के रूप में काम किया था। इसके बाद कुंबले अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोच की भूमिका को पूरा नहीं कर पाए और उन्हें 21 सदस्यों की शॉर्टलिस्ट से बाहर कर दिया गया। शिरके ने बताया कि लिस्ट से नाम बाहर होने की बात पता चलने के बाद कुंबले ने उन्हें फोन कर भारतीय टीम का कोच बनने की इच्छा जाहिर की थी। जिसपर शिरके ने उनसे कहा था कि कोच का चयन किसी की सिफारिश पर नहीं किया जाएगा और इस सब की एक प्रक्रिया है और वह उसी प्रक्रिया के तरीके से ही काम कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अनिल कुंबले के बाद कौन होगा भारतीय क्रिकेट टीम का कोच? इन दिग्‍गजों ने किया है अप्‍लाई
2 चैंपियंस ट्रॉफी के इतिहास में बांग्लादेश की ओर से सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने तमीम इकबाल
3 टेबल टेनिस : विश्व चैंपियनशिप में पहले दिन चीन का दबदबा
ये पढ़ा क्या?
X