ताज़ा खबर
 

दक्षिण अफ्रीका में टेस्‍ट सीरीज हार से BCCI ने लिया सबक, विदेशी दौरों के लिए पॉलिसी बदली

भारत की निगाह आगामी इंग्‍लैंड दौरे होगी और वह इस दौरे के साथ उसकी तैयारियों जुटना चाहेगा। अगले साल तक भारतीय टीम को विदेशों में काफी मैच खेलने हैं। इस दौरे के बाद भारत को अगला दौरा इंग्लैंड का करना है।

Author , April 4, 2018 8:22 PM
भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्‍त्री संग कप्‍तान विराट कोहली। Express File photo by Kevin D’Souza)

दक्षिण अफ्रीका दौरे से कड़े सबक सीखते हुए भारतीय टीम अब विदेश दौरों पर हालात के अनुकूल ढलने के लिये टेस्ट श्रृंखला से पहले सीमित ओवरों की श्रृंखलाएं खेलेगी। भारतीय टीम की दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में 1-2 से हार के बाद बीसीसीआई ने यह फैसला किया। बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी ने कहा कि जब टीम इस साल इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया जायेगी तो पहले सीमित ओवरों की श्रृंखलायें खेली जाएंगी । उन्होंने कहा, ”टीम प्रबंधन से मिले फीडबैक के बाद हमने इस पर गंभीर विचार विमर्श किया । अब इंग्लैंड दौरे पर भारत पहले सीमित ओवरों की श्रृंखला खेलेगा और फिर टेस्ट मैच।” उन्होंने कहा, ”अगली बार आस्ट्रेलिया में भी ऐसा ही होगा।”

दक्षिण अफ्रीका में तीन टेस्ट मैचों के शुरुआती दो मैच हारने के बाद भारत ने तीसरे टेस्ट में शानदार वापसी की थी। अगले साल होने वाले विश्व कप में तकरीबन 13 महीने का ही समय बचा है। भारत की निगाह आगामी इंग्‍लैंड दौरे पर होगी और वह इस दौरे के साथ उसकी तैयारियों जुटना चाहेगा। अगले साल तक भारतीय टीम को विदेशों में काफी मैच खेलने हैं। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के बाद भारत को अगला दौरा इंग्लैंड का करना है।

इसके अलावा भारत को आने वाले महीनों में सीमित ओवरों की काफी क्रिकेट खेलनी है। ऐसे में इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में होने वाली क्रिकेट भारतीय टीम प्रबंधन को कई नए संयोजनों पर काम करने का मौका देगी जो अगले साल होने वाले विश्व कप में टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

भारत आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में पहले स्थान पर है और इसके लिए पिछले महीने कप्तान विराट कोहली को आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप की गदा भी मिली थी। टीम को 10 लाख डॉलर बतौर इनाम भी दिए गए। इससे यह स्पष्ट हो गया है कि तीन अप्रैल से पहले भारत टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष पर ही बरकरार रहेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App