scorecardresearch

आजादी का अमृत महोत्सव: लीजेंड्स लीग क्रिकेट में सौरव गांगुली की कप्तानी में इयोन मॉर्गन की टीम के खिलाफ खेलेंगे इंडियन महाराजा

Legends League Cricket Question Mark Over Participation Of Pakistan Players: एलएलसी के आयोजकों के सामने सबसे बड़ी चिंता पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स के लिए वीजा की उपलब्धता है। सवाल यह है कि क्या बीसीसीआई या भारत सरकार ने पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों को लेकर अपना रुख बदला है।

आजादी का अमृत महोत्सव: लीजेंड्स लीग क्रिकेट में सौरव गांगुली की कप्तानी में इयोन मॉर्गन की टीम के खिलाफ खेलेंगे इंडियन महाराजा
भारत के पूर्व मुख्य कोच और लीजेंड्स लीग क्रिकेट (एलएलसी) के आयुक्त रवि शास्त्री ने शुक्रवार को बताया कि एलएलसी का दूसरा सत्र भारतीय स्वतंत्रता के 75वें समारोह को समर्पित होगा। (सोर्स- ट्विटर/@llct20)

Legends League Cricket: भारत के पूर्व मुख्य कोच और लीजेंड्स लीग क्रिकेट (एलएलसी) के आयुक्त रवि शास्त्री ने शुक्रवार को बताया कि एलएलसी का दूसरा सत्र भारतीय स्वतंत्रता के 75वें समारोह को समर्पित होगा। रवि शास्त्री ने कहा, यह हमारे लिए गर्व का क्षण है कि हम अपनी स्वतंत्रता के 75वें वर्ष का जश्न मना रहे हैं। एक गौरवान्वित भारतीय होने के नाते, मुझे यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि हमने इस साल लीग को स्वतंत्रता के 75वें वर्ष को समर्पित करने का फैसला किया है।

सीजन का पहला मैच 16 सितंबर को कोलकाता के ईडन गार्डन में इंडिया महाराजास बनाम वर्ल्ड जायंट्स के बीच खेला जाएगा। इंडियन महाराजास की अगुआई पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली करेंगे, जबकि वर्ल्ड जायंट्स की कप्तानी इंग्लैंड के विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन करेंगे।

एलएलसी के सह-संस्थापक रमन रहेजा ने कहा, हमने इस साल स्वतंत्रता समारोह का हिस्सा बनने का फैसला किया, क्योंकि यह हर भारतीय के लिए गर्व का क्षण है। लीग की शुरुआत 17 सितंबर से होगी। दूसरे सीजन में कुल 15 मैच खेले जाएंगे। लीग का पहला सीजन इस साल जनवरी में मस्कट में 3 टीमों- इंडिया महाराजास, वर्ल्ड जायंट्स और एशिया लायंस के बीच खेला गया था। तब 7 मुकाबले हुए थे।

सीजन 2 में 4 फ्रेंचाइजी स्वामित्व वाली टीमें शामिल हैं। इसमें 15 मैच होंगे। एलएलसी का दूसरा सीजन भारत के 6 शहरों (कोलकाता, लखनऊ, दिल्ली, जोधपुर, कटक और राजकोट) में खेला जाना है। पिछले साल की तरह इस बार भी लीग में कई देशों के खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।

सौरव गांगुली ने इंस्टाग्राम पर लिखा, आजादी के अमृत महोत्सव के लिए चैरिटी फंडिंग मैच खेलने के लिए तैयार हूं। भारतीय स्वतंत्रता के 75 वर्ष और लीजेंड लीग क्रिकेट के शीर्ष दिग्गजों के साथ महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने की आवश्यकता है।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं

इंडिया महाराजास: सौरव गांगुली (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, मोहम्मद कैफ, युसूफ पठान, एस. बद्रीनाथ, इरफान पठान, पार्थिव पटेल, स्टुअर्ट बिन्नी, एस. श्रीसंत, हरभजन सिंह, नमन ओझा, अशोक डिंडा, प्रज्ञान ओझा, अजय जडेजा, आरपी सिंह, जोगिंदर शर्मा, रीतेंदर सिंह सोढ़ी।

वर्ल्ड जायंट्स: इयोन मॉर्गन (कप्तान), लेंडल सिमंस, हर्शल गिब्स, जैक्स कैलिस, सनत जयसूर्या, मैट प्रायर, नाथन मैकुलम, जोंटी रोड्स, मुथैया मुरलीधरन, डेल स्टेन, हैमिल्टन मसाकाद्जा, मशरफे मुर्तजा, असगर अफगान, मिचेल जॉनसन, ब्रेट ली, केविन ओ ब्रायन, दिनेश रामदीन।

संन्यास ले चुके क्रिकेटर्स के साथ इसलिए खेला जाएगा मुकाबला

भारत अपनी आजादी का अमृत महोत्सव (Azadi Ka Amrit Mahotsav) मना रहा है। केंद्र सरकार ने बीसीसीआई को प्रस्ताव दिया था कि वह इस अवसर पर भारतीय टीम और शेष विश्व एकादश टीम के बीच एक क्रिकेट मैच का आयोजन करे। हालांकि, दुनिया भर में चल रही लीग क्रिकेट और अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम के बीच खिलाड़ियों के लिए समय निकालना संभव नहीं था। इसके चलते बीसीसीआई ने संन्यास ले चुके क्रिकेटर्स के साथ यह मैच खेलने का फैसला किया।

पाकिस्तानी खिलाड़ियों के खेलने पर फंसा पेंच

एलएलसी के दूसरे सीजन को लेकर भले तैयारियां तेज हो गईं हों, लेकिन आयोजकों के सामने सबसे बड़ी चिंता पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स के लिए वीजा की उपलब्धता है। सवाल यह है कि क्या बीसीसीआई या भारत सरकार ने पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों को लेकर अपना रुख बदला है।

भारत-पाकिस्तान के बीच एक दशक से द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है। राजनीतिक तनाव के चलते दोनों टीमें एशिया कप और आईसीसी आयोजनों में ही एक-दूसरे से भिड़ती हैं। साल 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पहले सीजन को छोड़कर पाकिस्तान के खिलाड़ी हिस्सा नहीं ले पाते हैं।

एबीपी न्यूज ने बीसीसीआई के एक पदाधिकारी के हवाले से लिखा, मैं ज्यादा नहीं कह सकता। अगर पाकिस्तानी क्रिकेटर्स को हमारी सरकार से वीजा मिलता है, तो वे खेलेंगे वर्ना नहीं। टूर्नामेंट या वीजा की चीजों में हमारी (बीसीसीआई) कोई भूमिका नहीं है।

एक अन्य पदाधिकारी ने सवाल किया, पाकिस्तानी खिलाड़ियों को भारतीय सरजमीं पर खेलने की मंजूरी कैसे मिल सकती है। पाकिस्तान के साथ हमारा कोई क्रिकेट संबंध नहीं है। मुझे यकीन है कि उन्हें वीजा नहीं मिलेगा। एलएलसी सीजन 2 में पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स की एक लंबी सूची है। इसमें शोएब अख्तर, मिस्बाह-उल हक, शाहिद अफरीदी समेत कई खिलाड़ी शामिल हैं।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट