scorecardresearch

अक्षर पटेल थे विराट कोहली की पसंद, रोहित शर्मा के कारण पटरी पर लौटा कुलदीप यादव का करियर; चाइनामैन गेंदबाज के बचपन के कोच का खुलासा

कुलदीप यादव के लिए पिछले 3 साल काफी कठिन रहे। हालांकि, बाएं हाथ के कलाई के स्पिनर ने धमाकेदार वापसी की। कुलदीप यादव के बचपन के कोच कपिल देव पांडे ने उनकी वापसी के लिए कई पहलुओं को अहम माना है।

Rohit Sharma Kuldeep Yadav Virat Kohli Axar Patel IPL 2022 KKR DC Delhi Capitals
कुलदीप यादव, रोहित शर्मा, अक्षर पटेल और विराट कोहली।

कुलदीप यादव के लिए पिछले 3 साल काफी कठिन रहे। कोलकाता नाइट राइडर्स फैंचाइजी के साथ रहते हुए प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिलना। राष्ट्रीय टीम में पर्याप्त मौके नहीं मिलना और फिर इंजरी। उनका ज्यादातर समय बेंच पर बैठते हुए ही बीत रहा था। हालांकि, बाएं हाथ के कलाई के स्पिनर ने धमाकेदार वापसी की। वह 17 विकेट के साथ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की सूची में दूसरे स्थान पर हैं। कुलदीप को केकेआर ने रिलीज कर दिया था। उन्हें आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन में दिल्ली कैपिटल्स ने उन्हें बेस प्राइज यानी 2 करोड़ रुपए में खरीदा।

कुलदीप यादव के बचपन के कोच कपिल देव पांडे ने उनकी वापसी के लिए कई पहलुओं को अहम माना है। उनकी नजर में इसमें टीम इंडिया की कप्तानी में बदलाव भी एक अहम कड़ी है। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘कुलदीप का करियर बचाने में रोहित शर्मा का भी बहुत बड़ा योगदान है। रोहित शर्मा ने आईपीएल से पहले कुलदीप से बात की। उसे वेस्टइंडीज सीरीज में मौका दिया। कुलदीप ने 2 विकेट लेकर भरोसा सही साबित किया। रोहित कुलदीप के रिहैब से काफी प्रभावित थे। कुलदीप की वापसी का श्रेय रोहित को जाना चाहिए।’

कपिल देव पांडे ने दावा किया कि विराट कोहली की पसंद अक्षर पटेल थे। उन्होंने कहा, ‘कुलदीप ने ज्यादातर क्रिकेट विराट कोहली की कप्तानी में खेली। विराट को टीम में अनुभव चाहिए था। वह अश्विन और जडेजा के साथ गए। उन्होंने कुलदीप के बजाए अक्षर पटेल को प्राथमिकता दी, क्योंकि वह बल्लेबाजी अच्छी कर सकता है। एक कप्तान को अपने खिलाड़ियों पर भरोसा करना चाहिए।’ बता दें कि कुलदीप यादव ने विराट कोहली की ही कप्तानी में अपना इंटरनेशनल डेब्यू किया था।

कपिल देव पांडे ने कहा, ‘कुलदीप को पिछले तीन साल में ज्यादा मौके नहीं मिले। टेस्ट हो, वनडे हो, टी20 हो या आईपीएल, किसी ने भी उन्हें मौका नहीं दिया। केकेआर ने उन पर भरोसा नहीं दिखाया। उन्होंने उसे ज्यादा मौके नहीं दिए। कुलदीप निराश थे, वह मेरे संपर्क में हैं। मैंने उससे कहा कि वह निराश नहीं हों और कोई भी ट्रेनिंग, नेट या अभ्यास सत्र न छोड़ें। मैंने उसे कड़ी मेहनत करते रहने के लिए कहा। इससे उसे कड़ी मेहनत करने में मदद मिलेगी।’

कपिल देव ने आगे बताया, ‘जब दिल्ली कैपिटल्स ने उन्हें नीलामी में खरीदा तो मैंने उससे कहा था कि वह उस कीमत को न देखें, जितने में उन्हें खरीदा गया है। मैंने कहा कि आपके पास एक शानदार टीम है, सेट अप है। आपको अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए पर्याप्त मौके मिलेंगे। उसने कहा कि मैं सिर्फ आईपीएल में प्रदर्शन करना चाहता हूं और सभी फॉर्मेट्स में भारतीय टीम में वापसी करना चाहता हूं।’

कपिल देव ने कहा, ‘वह अवसरों के भूखे थे। मैं उसे पर्याप्त मौके देने और उसका समर्थन करने के लिए दिल्ली कैपिटल्स की टीम का शुक्रगुजार हूं। कुलदीप को रिलीज कर केकेआर ने बहुत अच्छा काम किया। इसने कुलदीप के पक्ष में वास्तव में अच्छा काम किया। उन्होंने (केकेआर) कुलदीप को एक साल के लिए रिटेन किया और फिर मौका नहीं दिया, जो काफी चौंकाने वाला था।’

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.