ताज़ा खबर
 

15 साल के कैरियर में महज 3 टेस्ट मैच खेलने वाले शॉन टैट ने कहा क्रिकेट को अलविदा

दुनिया के तेज गेंदबाजों में से एक टैट ने आस्ट्रेलिया के अंतिम मैच जनवरी 2016 में खेला था।

Author March 27, 2017 2:52 PM
टैट के नाम साल 2010 में इंग्लैंड के खिलाफ 161.1 किमी प्रति घंटे के रफ्तार से गेंद डालने के रिकॉर्ड दर्ज है। (photo source – PTI)

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज शॉन टैट ने अपने चोटों से भरे कैरियर को अलविदा कह दिया। उन्हें लगता है कि अब उम्र उन पर हावी होने लगी है। दुनिया के तेज गेंदबाजों में से एक टैट ने आस्ट्रेलिया के अंतिम मैच जनवरी 2016 में खेला था। उन्होंने कहा कि अब उन्हें महसूस होने लगा है कि उम्र का असर उनके शरीर पर हो रहा है। इस 34 वर्षीय खिलाड़ी ने हाल में ओवरसीज सिटीजन आफ इंडिया कार्ड भी हासिल किया है। उन्होंने क्रिकेट डाट काम डाट एयू से कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो मैं दो साल और खेलना चाहता था, भले ही यह ब्रिटेन में हो या यहां। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं जानता था कि उम्र बढ़ने के साथ युवा खिलाड़ियों के साथ प्रतिस्पर्धा करना हमेशा ही मुश्किल होगा। मैं 34 साल का हूं और मुझे लगता है कि जब आप जितना चाहते हो, मैदान पर उतना योगदान नहीं दे पा रहे हो तो समझो संन्यास लेने का समय आ गया है। ’’टैट ने अपने 15 साल के करियर में केवल तीन टेस्ट खेले हैं। इसके अलावा वह 35 वनडे और 12 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं।

उन्होंने कहा कि बिग बैश में साधारण प्रदर्शन के बाद उन्होंने संन्यास लेने का फैसला किया। टैट ने कहा, ‘‘मैं नहीं जानता था कि यह इतना मुश्किल होगा जितना इस साल होबार्ट हरिकेन्स के साथ हुआ। कोहनी की चोट के कारण नहीं खेल पाना और टीम से बाहर रहना…तो स्पष्ट है कि क्रिकेट खेलना जारी रखने का कोई मतलब नहीं है। एक साल और खेलना अच्छा होता, लेकिन और सर्जरी कराकर 35 साल की उम्र में खेलने का कोई मतलब नहीं है। ’’

अपनी तेज गेंदबाजी के लिए जाने जाने वाले शॉन टैट ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 3 टेस्ट, 35 वन-डे और 21 टी20 मैच खेले। बता दें साल 2011 विश्व कप के बाद शॉन टैट ने वनडे से संन्यास ले लिया था। साल 2005 से 2008 के बीच शॉन टैट ने महज तीन टेस्ट मैच खेले। टैट के नाम साल 2010 में इंग्लैंड के खिलाफ 161.1 किमी प्रति घंटे के रफ्तार से गेंद डालने के रिकॉर्ड दर्ज है। चोट के कारण टैट ने 2009 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास ले लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App