ताज़ा खबर
 

लगातार हारती रही टीम लेकिन पंजाब ने इस विस्फोटक ऑलराउंडर को नहीं दिया खेलने का मौका, अब हुई प्लेऑफ से बाहर

नीलामी के दौरान पंजाब की टीम ने बल्लेबाजी और गेंदबाजी के साथ-साथ ऑलराउंडर खिलाड़ियों पर भी खासा ध्यान दिया था। शुरुआती मुकाबलो में केएल राहुल और क्रिस गेल के दम पर टीम जीतने में कामयाब रही, लेकिन टॉप ऑर्डर के फेल होते ही पंजाब की पूरी टीम बिखरती हुई नजर आई।

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम।

किंग्स इलेवन पंजाब ने इस साल आईपीएल का आगाज शानदार तरीके से किया था। टीम ने शुरुआती सात मुकाबलों में से पांच में जीत दर्ज की थी। ऐसा माना जा रहा था कि टीम आसानी से प्लेऑफ में क्वॉलिफाई कर लेगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और टीम को अगले सात मुकाबलों में से सिर्फ एक में जीत हाथ लगी। नीलामी के दौरान पंजाब की टीम ने बल्लेबाजी और गेंदबाजी के साथ-साथ ऑलराउंडर खिलाड़ियों पर भी खासा ध्यान दिया था। शुरुआती मुकाबलो में केएल राहुल और क्रिस गेल के दम पर टीम जीतने में कामयाब रही, लेकिन टॉप ऑर्डर के फेल होते ही पंजाब की पूरी टीम बिखरती हुई नजर आई। किंग्स इलेवन की टीम ने कुछ खिलाड़ियों को लगातार मौके दिए तो वहीं कुछ को सिर्फ बैंच पर बिठाए रखा। इन्हीं खिलाड़ियों में से एक नाम है ऑस्ट्रेलिया के 23 साल के युवा ऑलराउंडर बेन डेवोसियस की। बेन डेवोसियस को नीलामी के दौरान कई टीमें खरीदना चाहती थी, लेकिन पंजाब ने एक करोड़ 40 लाख खर्च कर इस खिलाड़ी को अपनी टीम में शामिल किया।

केएल राहुल और प्रीति जिंटा (फोटो सोर्स- ट्विटर/@IPL/एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

इतने पैसे लगाने के बावजूद भी पंजाब की टीम ने बेन डेवोसियस को एक मैच में भी खिलाना सही नहीं समझा। टीम लगातार हार झेलती रही और यह युवा खिलाड़ी बैंच पर बैठा रहा। ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर खिलाड़ी मार्क्स स्टोइनिस को पंजाब की टीम ने पूरे सीजन जमकर मौके दिए। स्टोइनिस ने इस सीजन कुल 7 मैच खेले और इस दौरान वह गेंद और बल्ले दोनों से ही फ्लॉप रहे। स्टोइनिस के अलावा डेविड मिलर और एरोन फिंच का बल्ला भी ज्यादातर खामोश ही रहा।

शुरुआती 6 मैचों में से 5 मैच जीतकर प्वाइंट टबल में टॉप पर रहने वाली पंजाब की टीम अपनी गलतियों की वजह से प्लेऑफ से बाहर हो गई। कप्तान आर अश्विन इस सीजन के बाद टीम की प्लेइंग इलेवन को लेकर विचार-विमर्श करेंगे। हालांकि, पंजाब की तरफ से खेलते हुए केएल राहुल ने शानदार प्रदर्शन किया और इसी वजह से उनका चयन एक बार फिर भारतीय टीम में हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App