ताज़ा खबर
 

कभी विश्‍व क्रिकेट की सुपरपावर थी ऑस्‍ट्रेलियाई टीम, अब बनाया शर्मनाक रिकॉर्ड

बुरे दौर से गुजर रही आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम वनडे रैंकिंग में अपने 34 साल के सबसे निचले स्तर पर आ गई है। सोमवार को जारी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की ताजा रैंकिंग में पांच बार की विश्व विजेता छठे स्थान पर आ गई है।

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम

बुरे दौर से गुजर रही आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम वनडे रैंकिंग में अपने 34 साल के सबसे निचले स्तर पर आ गई है। सोमवार को जारी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की ताजा रैंकिंग में पांच बार की विश्व विजेता छठे स्थान पर आ गई है। आस्ट्रेलिया इस समय इंग्लैंड के साथ पांच वनडे मैचों की सीरीज खेल रही है। आस्ट्रेलिया को पांचवें स्थान पर वापस आने के लिए बाकी बचे तीन मैचों में से कम से कम एक मैच जीतना होगा। क्रिकेट डॉट कॉम डॉय एयू के मुताबिक, आस्ट्रेलिया 1984 में छठे स्थान पर थी। मौजूदा विश्व विजेता पिछले दो साल से कम में नंबर-1 से छठे स्थान पर आ गई है।

कंगारुओं के बुरे दौर की शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली 5-0 की हार से हुई। वहां से आस्ट्रेलिया ने 15 वनडे मैचों में से सिर्फ 13 मैच जीते हैं। इस दौरान वो न्यूजीलैंड, भारत और इंग्लैंड से लगातार तीन द्विपक्षीय सीरीज हारी है। साथ ही चैम्पियंस ट्रॉफी में भी शुरुआती दौर में ही बाहर हो गई थी। इंग्लैंड, भारत और दक्षिण अफ्रीका वनडे रैंकिंग में क्रमश: पहले तीन स्थान पर हैं।

कुछ दिन पहले ही ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम के नए कोच का चुनाव किया गया था। जस्टिन लैंगर को राष्ट्रीय टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया था। तब इस टीम के पूर्व कोच डैरन लेहमन ने कहा था कि आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम सुरक्षित हाथों में है। दक्षिण अफ्रीका दौर पर केपटाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में बॉल टेम्परिंग विवाद के चलते लेहमन ने सीरीज के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।  उनके स्थान पर क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने पूर्व सलामी बल्लेबाज लैंगर को टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया था।

वेबसाइट क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू ने लेहमन के हवाले से लिखा है, “जेएल (जस्टिन लैंगर) द्वारा किए गए संवाददाता सम्मेलन को देखकर मैं काफी संतुष्ट हुआ कि आस्ट्रेलियाई क्रिकेट सुरक्षित हाथों में है। उन्हें विश्व का सबसे अच्छा काम मिला है। मैं जानता हूं कि यह वो काम है जिसे मैं हर पल मिस कतरा हूं क्योंकि मैंने इस काम के हर एक पल से प्यार किया।”

पूर्व कोच ने कहा था, “लेकिन, यह समय है जब आस्ट्रेलियाई क्रिकेट को आगे बढ़ना है और उनके इससे अच्छा इंसान नहीं हो सकता। उनके पास खिलाड़ियों का अच्छा समूह है और वह निश्चित तौर पर उत्साही होकर क्रिकेट खेलेंगे। लैंगर उनके साथ काम करने का आनंद उठाएंगे।” लेकिन वहीं आईसीसी रैंकिंग में टीम का प्रदर्शन खास नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App