ताज़ा खबर
 

13 साल से भारत में टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाया अॉस्ट्रेलिया, 14 मैच खेलकर सिर्फ एक में मिली है जीत

अॉस्ट्रेलिया ने आखिरी बार भारत के खिलाफ उसी के घर में साल 2004-05 में 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती थी।

धर्मशाला टेस्ट में जीत के बाद बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के साथ टीम इंडिया।

भारत ने अॉस्ट्रेलिया को धर्मशाला टेस्ट में हराकर इतिहास रच दिया है। टीम इंडिया ने लगातार चौथी बार अॉस्ट्रेलिया को घरेलू सीरीज में मात दी है। इससे पहले भारत ने अॉस्ट्रेलिया को साल 2008-09 में 2-0, 2010-11 में 2-0 और इसके बाद 2012-13 में उसने अॉस्ट्रेलियाई टीम का 4-0 से क्लीन स्विप कर दिया था। 2017 की बॉर्डर-गावस्कर सीरीज भी भारत ने 2-1 से जीत ली है। अॉस्ट्रेलिया ने आखिरी बार भारत के खिलाफ उसी के घर में साल 2004-05 में 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती थी। इस सीरीज के मैच अॉफ द सीरीज डेमियन मार्टिन रहे थे। 13 साल से कंगारू टीम के लिए भारत में टेस्ट सीरीज जीतने का सपना पूरा नहीं हो पाया है।

अगर भारत में हुए टेस्ट मैचों की बात करें तो 2008-09 में दोनों टीमों के बीच 4 मैचों की सीरीज भारत ने 2-0 से जीती। इसके बाद 2010-11 में 2 टेस्ट मैचों की सीरीज में कंगारुओं का सूपड़ा साफ कर दिया। 2012-13 में 4 मैचों की सीरीज में भी क्लिन स्वीप किया। इसके बाद 2017 में 4 मैचों की सीरीज को 2-1 से जीत लिया।

यह दिलचस्प आंकड़ा भी सामने आ रहा है कि भारत ने वर्तमान समय में टेस्ट खेलने वाले 7 देशों पर विजय हासिल की है। अब तक उसने श्रीलंका, साउथ अफ्रीका, वेस्ट इंडीज, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, बांग्लादेश और 28 मार्च को अॉस्ट्रेलिया के शिकस्त दी। भारत ने अपने 13 टेस्ट मैचों में से 10 में जीत हासिल की है, 2 ड्रॉ रहे और एक में उसे मात मिली है।

सीरीज का पहला मैच अॉस्ट्रेलिया ने भारत को 333 रनों के विशाल अंतर से हराया था, जिससे न सिर्फ दर्शकों बल्कि क्रिकेट एक्सपर्ट्स को भी लग रहा था कि भारत कहीं अॉस्ट्रेलिया के आगे घुटने न टेक दे। इसके बाद दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने शानदार वापसी करते हुए अॉस्ट्रेलिया को शिकस्त देकर सीरीज 1-1 से बराकर कर ली। तीसरा टेस्ट मैच रांची में खेला गया, जो ड्रॉ रहा। इसके बाद धर्मशाला टेस्ट में भारत ने अॉस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर ट्रॉफी घर में ही रख ली।

धर्मशाला टेस्ट में विराट कोहली के बिना उतरी टीम इंडिया ने अॉस्ट्रेलिया की पहली पारी के 300 रनों के स्कोर का जवाब देते हुए अपनी पहली पारी में 332 रन बनाकर 32 रनों की बढ़त ले ली थी, फिर आस्ट्रेलिया को तीसरे दिन दूसरी पारी में 137 रनों पर ही ढेर कर दिया था। उसे जीत के लिए 106 रनों की दरकार थी। तीसरे दिन भारत ने बिना कोई विकेट खोए 19 रन बनाए थे। अपने तीसरे दिन के स्कोर से आगे खेलने उतरी भारत की टीम ने चौथे दिन का पहला विकेट मुरली विजय (8) के रूप में गंवाया।

इसके बाद चेतेश्वर पुजारा रन आउट होकर पवेलियन लौट गए। भारत ने 46 रनों पर अपने दो विकेट गंवा दिए। इसके बाद उतरे कप्तान रहाणे ने तेजी से रन बनाए और दूसरे छोर पर खड़े राहुल का बखूबी साथ दिया। राहुल ने अर्धशतक पूरा करते हुए भारत को जीत दिलाई। उन्होंने 76 गेंदों का सामना किया और नौ चौके लगाए। रहाणे ने 27 गेंदों में चार चौके और दो छक्के लगाए।

खेल की सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

कप्तान कोहली ने बनाया ये अनोखा रिकार्ड, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App