ताज़ा खबर
 

कंपनी हुई डिफॉल्‍टर, अटका सचिन और धोनी को मिलने वाला पैसा

कंपनी द्वारा भुगतान ना किए जाने का खुलासा उस वक्त हुआ, जब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क, जिनकी कंपनी के साथ बैट स्पॉन्सरशिप की डील थी, पेमेंट ना मिलने पर अपने बैट पर कंपनी के लोगो का इस्तेमाल करना बंद कर दिया था।

सचिन, धोनी को उठाना पड़ सकता है नुकसान। (image source-file/Reuters)

ऑस्ट्रेलिया की एक अदालत के फैसले से कई मौजूदा और पूर्व क्रिकेटरों के सामने गंभीर आर्थिक संकट खड़ा कर दिया है। दरअसल अदालत ने सिडनी स्थित एक स्पोर्ट्स कंपनी द्वारा बकाए का भुगतान नहीं करने पर बेचने का फैसला दिया है। अदालत के इस फैसले से इस कंपनी के साथ करार करने वाले कई क्रिकेटरों को कॉन्ट्रैक्ट के तहत मिलने वाली पेमेंट पर संशय के बादल मंडरा गए हैं। बता दें कि यह मामला मशहूर स्पोर्ट्स कंपनी ‘स्पार्टन’ से जुड़ा हुआ है। स्पार्टन के साथ 30 से भी ज्यादा क्रिकेटर्स ने करार किया हुआ है, जिनमें एमएस धोनी, सचिन तेंदुलकर, क्रिस गेल और इयोन मॉर्गन जैसे दिग्गजों के नाम शामिल हैं। अब यदि अदालत के फैसले के तहत स्पार्टन कंपनी से जुड़ी एक कंपनी को लिक्विडेटिड कर दिया जाता है, तो इन क्रिकेटर्स का करार का पैसा डूब सकता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार, सिडनी स्थित कंपनी में भारतीय कारोबारी कुणाल शर्मा साझेदार हैं। इस कंपनी ने क्रिकेट की दुनिया के कई बडे़ नामों के साथ करोड़ों रुपए का करार किया हुआ है। लेकिन कंपनी द्वारा भुगतान ना किए जाने का खुलासा उस वक्त हुआ, जब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क, जिनकी कंपनी के साथ बैट स्पॉन्सरशिप की डील थी, पेमेंट ना मिलने पर अपने बैट पर कंपनी के लोगो का इस्तेमाल करना बंद कर दिया था। इसी तरह पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी को भी कंपनी ने बैट स्पॉन्सरशिप के चलते साल 2013 से 2016 के बीच 4 किस्त में करीब 20 करोड़ रुपए का भुगतान किया, लेकिन इसके बाद कंपनी डिफॉल्ट होने के चलते पेमेंट नहीं कर पायी।

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने तो स्पार्टन के साथ मिलकर कुछ साल पहले ही स्पार्टन स्पोर्ट्सवीयर और क्रिकेट इक्वीपमेंट लॉन्च किया था। अब कंपनी के लिक्विडेटिड करने के अदालती आदेश के बाद खिलाड़ियों के सामने पेमेंट का संकट खड़ा हो गया है। इससे पहले स्पार्टन स्पोर्ट्स कंपनी कि ट्रेडिंग कंपनी SSG (Wholesale)Australia PTY Ltd को भी ऑस्ट्रेलिया की अदालत ने बेचने का आदेश दिया था। मूल कंपनी स्पार्टन स्पोर्ट्स पर करीब 60 करोड़ रुपए बकाया है। ऐसे में यदि कंपनी के खिलाफ लिक्विडेशन की प्रक्रिया शुरु होती है तो क्रिकेटरों के करोड़ो रुपए डूब सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 IND VS AUS: कुलदीप के पंच से ‘विराट’ सेना ने ऑस्ट्रेलिया को दिया फॉलोआन, ध्वस्त किए कई रिकॉर्ड
2 सिडनी के ऐतिहासिक बोर्ड पर दर्ज हुआ चेतेश्‍वर पुजारा और ऋषभ पंत का नाम, देखें वीडियो
3 शेन वार्न से टिप्‍स लेकर कुलदीप यादव ने बिखेर दी टिम पेन की गिल्लियां, देखें वीडियो