scorecardresearch

AUS vs ENG: ऑस्ट्रेलिया में 85 साल बाद एशेज सीरीज की पहली ही गेंद पर गिरा विकेट, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने बनाया शर्मनाक रिकॉर्ड

साल 1936 के बाद यह पहला अवसर है, जबकि ऑस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज में पहली गेंद पर विकेट गिरा। संयोग से 1936 का मैच भी गाबा में ही खेला गया था। तब भी इंग्लैंड ने पहली गेंद पर विकेट गंवाया था।

AUS vs ENG Ashes Australia England Captain Joe Root Pat Cummins 5 Wicket
ऑस्ट्रेलिया में 85 साल बाद एशेज सीरीज की पहली ही गेंद पर गिरा विकेट है। इंग्लैंड के ओपनर रोरी बर्न्स बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। (सोर्स- इंस्टाग्राम/क्रिकेटऑस्ट्रेलिया)

ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस ने बतौर कप्तान अपनी पहली ही पारी में 5 विकेट झटके। हालांकि, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट के लिए एशेज (The Ashes) 2021-22 के पहले मैच की पहली पारी यादगार नहीं रही। उनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड जुड़ गया, जिसे वह कभी याद नहीं रखना चाहेंगे। ब्रिसबेन (Brisbane) के गाबा (The Gabba) में 8 दिसंबर से एशेज 2021-22 की शुरुआत हुई।

इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। बादल छाये हुए थे, पिच पर घास है। ऐसे में उनका यह फैसला सही साबित नहीं हुआ और इंग्लैंड की पूरी टीम 50.1 ओवर में सिर्फ 147 रन पर पवेलियन लौट गई।

इंग्लैंड की पारी समाप्त होने के बाद बारिश आ गई। खराब मौसम और आउटफील्ड गीली होने के कारण तीसरे सत्र का खेल नहीं हो पाया। इस कारण ऑस्ट्रेलिया को अपनी पहली पारी अब गुरुवार सुबह शुरू करनी होगी।

पैट कमिंस ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के रूप में अपनी पहली पारी में ही पांच विकेट लिए। उन्होंने आखिरी तीन विकेट निकालकर 38 रन देकर 5 विकेट लिए। उनके साथी तेज गेंदबाजों मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड ने 2-2, जबकि आलराउंडर कैमरन ग्रीन ने एक विकेट लिया।

इंग्लैंड के सिर्फ 4 बल्लेबाज ही दहाई का आंकड़ा छू पाए। इसमें ओपनर हसीब हमीद ने 25, जोस बटलर ने 39, ओली पोप ने 35 और क्रिस वोक्स ने 21 रन का योगदान दिया। ओपनर रोरी बर्न्स, जो रूट और ओली रॉबिनसन खाता भी नहीं खोल पाए।

जो रूट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछली 10 पारियों में चौथी बार शून्य पर आउट हुए हैं। उन्होंने पिछली 10 पारियों में 26.8 के औसत से 268 रन (28, 14, 0, 0, 77, 71, 0, 57, 21, 0) बनाए हैं। हालांकि, उन्होंने टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक 25 मैच में 39.39 के औसत से 1694 रन बनाए हैं। रूट ने अब तक कुल 110 टेस्ट मैच खेले हैं। इसमें उन्होंने 49.88 के औसत से 9278 रन बनाए हैं। इसमें उनके 23 शतक हैं।

फैब 4 (विराट कोहली, जो रूट, केन विलियमसन और स्टीव स्मिथ) की बात करें तो रूट टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने के मामले में केन के साथ संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। विराट कोहली फैब-4 में सबसे ज्यादा शून्य पर आउट होने के मामले में टॉप पर हैं। कोहली अब तक टेस्ट में 14 बार शून्य पर आउट हो चुके हैं। रूट और केन ने अब तक 9 बार ऐसा किया है। स्मिथ अब तक 5 बार शून्य पर आउट हुए हैं।

मैच की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज की पहली ही गेंद पर इंग्लैंड ने सलामी बल्लेबाज रोरी बर्न्स का विकेट गंवा दिया। मिशेल स्टार्क की स्विंग लेती यार्कर पर बर्न्स आते ही पवेलियन लौटे। रोरी बर्न्स 2021 में छठी बार शून्य पर आउट हुए। वह टेस्ट क्रिकेट में एक कैलेंडर ईयर में एक से 7 नंबर पर उतरे बल्लेबाजों में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।

साल 1936 के बाद यह पहला अवसर है, जबकि ऑस्ट्रेलिया में एशेज श्रृंखला में पहली गेंद पर विकेट गिरा। संयोग से 1936 का मैच भी गाबा में ही खेला गया था। तब इंग्लैंड ने पहली गेंद पर विकेट गंवाया था और उसका स्कोर तीन विकेट पर 20 रन हो गया था, लेकिन उसने अच्छी वापसी करके मैच जीता था।

इसके बाद हेजलवुड ने डेविड मलान (छह) और जो रूट (शून्य) को आउट करके इंग्लैंड का स्कोर छठे ओवर में तीन विकेट पर 11 रन कर दिया। कमिंस ने स्टार आलराउंडर बेन स्टोक्स को तीसरी स्लिप में मार्नस लाबुशेन के हाथों कैच कराकर ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान के रूप में अपना पहला विकेट लिया। स्कोर हो गया चार विकेट पर 29 रन।

सलामी बल्लेबाज हसीब हमीद ने एक छोर संभालकर लंच तक इंग्लैंड का स्कोर 4 विकेट पर 59 रन तक पहुंचाया, लेकिन वह 25 रन बनाकर दूसरे सत्र के शुरू में कमिंस की बाहर जाती गेंद पर दूसरी स्लिप में स्टीव स्मिथ को कैच दे बैठे।

पोप और बटलर ने छठे विकेट के लिए 52 रन की साझेदारी करके कुछ देर के लिए विकेट गिरने का क्रम रोका। स्टार्क ने बटलर को विकेटकीपर एलेक्स कैरी के हाथों कैच कराकर यह साझेदारी तोड़ी, जबकि पोप भी इसके तुरंत बाद ग्रीन की गेंद पर फाइन लेग बाउंड्री पर कैच दे बैठे। ग्रीन का यह पहला टेस्ट विकेट था।

कमिंस ने इसके बाद ओली रॉबिन्सन (शून्य), मार्क वुड (आठ) और क्रिस वोक्स (21) को आउट करके इंग्लैंड की पारी का अंत किया। इंग्लैंड का आक्रमण कम अनुभवी है, क्योंकि जेम्स एंडरसन को विश्राम दिया गया है। स्टुअर्ट ब्रॉड को भी अंतिम एकादश में नहीं चुना गया है।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X