ताज़ा खबर
 

एशियाड में गोल्‍ड जीतने वाले स्‍वप्‍ना बर्मन के स्‍वागत के लिए बन रही सड़क, मिलेगा घर

अलग-अलग पार्टियों, खासकर तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी नेता रोजाना एथलीट के घर के चक्कर लगा रहे हैं। ब्लॉक एडमिनिस्ट्रेशन ने महिला खिलाड़ी के घर तक पक्की सड़क बनाना शुरू कर दिया है। अब तक वहां कच्ची सड़क थी। घोषपारा के लोगों में उत्साह है और उनका कहना है कि स्वप्ना की उपलब्धि उनके इलाके के इन्फ्रासट्रक्चर को सुधार देगी।

एशियन गेम्स 2018 में हेप्टाथलान में भारत को पहला गोल्ड मेडल जितानी वाली स्वप्ना बर्मन को सांसद ने घर ऑफर किया है। (फोटो- पीटीआई )

एशियन गेम्स 2018 में महिला हेप्टाथलान में देश को पहला स्वर्ण पदक जिताने वाली बंगाल की स्वप्ना बर्मन के साथ-साथ उनके परिवार और इलाके के लिए भी खुशियों की सौगात आई है। स्वप्ना के स्वागत के लिए पक्की सड़क बन रही है। सांसद ने उनके घरवालों को एक घर देने का वादा किया है। टेलीग्राफ की खबर के मुताबिक जलपाईगुड़ी से तृणमूल कांग्रेस सांसद बिजॉय चंद्र बर्मन ने रविवार (2 सितंबर) को स्वप्ना के माता-पिता से मुलाकात कर उन्हें एक घर देने की घोषणा की। स्थानीय मीडिया में ऐसी खबरें भी हैं कि स्वप्ना की जीत पर सत्तारूढ़ ममता बनर्जी सरकार और आगे के लिए अपनी ठोस जमीन तैयार करने में लगी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच अपने-अपने सियासी हित साधने की लड़ाई शुरू हो चुकी है। बिजॉय तृणमूल विधायक खगेश्वर रॉय के साथ जलपाईगुड़ी के निकट घोषपारा स्थित स्वप्ना के घर पहुंचे और उनके माता-पिता को मदद की पेशकश की। राजबांगसी भाषा एकेडमी के चेयरमैन होने के नाते सांसद ने अपनी क्षमतानुसार महिला खिलाड़ी के परिवार को एक घर मुहैया कराने की घोषणा की।

सांसद ने कहा, ”हम सब आपके साथ हैं। आप जो भी मदद चाहते हैं, हम उसका विस्तार करेंगे।” सांसद बर्मन ने स्वप्ना की मां बसाना से कहा, ”राजबांगसी भाषा एकेडमी आपको एक घर उपलब्ध कराएगी।” स्वप्ना ने बीते बुधवार (29 अगस्त) को जकार्ता में 18वें एशियन गेम्स में महिलाओं के हेप्टाथलान में स्वर्ण पदक जीता था, जिसके बाद राज्य की मुख्यमंत्री ममत बनर्जी ने उन्हें 10 लाख रुपये और सरकारी नौकरी देने का वादा किया था। दार्जिलिंग से बीजेपी सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री एसएस अहलूवालिया ने शनिवार (1 सितंबर) को स्वप्ना के घर का दौरा किया था। उन्होंने स्वप्ना की मां की बात केंद्रीय खेल मंत्री से कराई थी और वादा किया था कि उनकी बेटी को केंद्र से 30 लाख रुपये और एक नौकरी दी जाएगी।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक अलग-अलग पार्टियों, खासकर तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी नेता रोजाना एथलीट के घर के चक्कर लगा रहे हैं। ब्लॉक एडमिनिस्ट्रेशन ने महिला खिलाड़ी के घर तक पक्की सड़क बनाना शुरू कर दिया है। अब तक वहां कच्ची सड़क थी। घोषपारा के लोगों में उत्साह है और उनका कहना है कि स्वप्ना की उपलब्धि उनके इलाके के इन्फ्रासट्रक्चर को सुधार देगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App