ताज़ा खबर
 

Asian Games 2018: अंकिता रैना ने महज 5 साल की उम्र में खेलना शुरू किया था टेनिस, होती है सानिया मिर्जा से तुलना

11 जनवरी 1993 को गुजरात में जन्मी मूल रूप से कश्मीरी अंकिता की तुलना खेल प्रशंसक सानिया मिर्जा से करने लगे हैं। वह इस वक्त महिला एकल में भारत की नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी हैं।

अंकिता रैना। (Photo Courtesy: Twitter)

भारत की महिला टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना ने जर्काता में जारी 18वें एशियाई खेलों में गुरुवार (23 अगस्त) को महिलाओं की एकल स्पर्धा में कांस्य पदक जीता। चीन की शुआई जैंग ने गुरुवार को हुए सेमीफाइनल मुकाबले में रैना को 2-0 से हराया। भारतीय खिलाड़ी ने पहले सेट की दमदार शुरुआत की लेकिन पहले तीन गेमों के बाद उन्होंने अपनी लय खो दी और चीन की खिलाड़ी ने 6-4 से सेट जीत लिया। दूसरे सेट में दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली और मुकाबला टाई-ब्रेकर तक गया जहां जैंग ने शानदार खेल दिखाया और सेट को 7-6 से जीतते हुए मैच अपने नाम किया।

11 जनवरी 1993 को गुजरात में जन्मी मूल रूप से कश्मीरी अंकिता की तुलना खेल प्रशंसक सानिया मिर्जा से करने लगे हैं। वह इस वक्त महिला एकल में भारत की नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी हैं। महज 5 साल की उम्र से टेनिस खेल रही अंकिता एशियाई खेलों की महिला एकल स्पर्धा में पदक जीतने वाली सिर्फ दूसरी भारतीय बनी हैं। इससे पहले सानिया मिर्जा ने दोहा में 2006 में रजत पदक, जबकि चार साल बाद ग्वांग्झू एशियन गेम्स में कांस्य पदक जीता था।

टेनिस स्टार सानिया मिर्जा। (फोटोः फेसबुक)

राफेल नडाल, सेरेना विलियम्स, रोजर फेडरर और खुद सानिया मिर्जा को अपना आदर्श मानती मानने वाली अंकिता साल 2007 में अंकिता अहमदाबाद से हिंदू जिमखाना स्पोर्ट्स फैसिलिटी, पुणे शिफ्ट हो गई थीं। जहां उनकी स्किल्स को कोच हेमंत बेंद्रे और केतन धुमल ने निखारा।

2016 साउथ एशियन गेम्स के सिंगल्स और मिक्सड इवेंट्स में गोल्ड जीत चुकीं अंकिता अब तक कुल 7 एकल और 13 मिश्रित इवेंट्स में खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। फ्रेंस ओपन- 2018 के पहले और विंबलडन-2018 में क्रमशः पहले और दूसरे दौर में अंकिता जगह बनाने में सफल रही थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App