ताज़ा खबर
 

एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिपः मैरी कॉम ने जीता पांचवां गोल्ड, उत्तर कोरिया की प्रतिद्वंदी को हराया

पांच बार की विश्व चैम्पियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम ने उत्तर कोरिया की किम ह्यांग मि को 5-0 से हराया।

Author वियतनाम | November 8, 2017 4:44 PM
यह 2014 एशियाई खेलों के बाद मैरी कॉम का पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक है।

भारतीय मुक्केबाजी की ‘वंडर गर्ल’ एमसी मैरी कॉम (48 किलो) ने एशियाई मुक्केबाजी में पांचवीं बार स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया जबकि सोनिया लाथेर (57 किलो) को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। पांच बार की विश्व चैम्पियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम ने उत्तर कोरिया की किम ह्यांग मि को 5-0 से हराया। यह 2014 एशियाई खेलों के बाद मैरी कॉम का पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक है और एक साल में उनका पहला पदक है।

विश्व चैम्पियनशिप की रजत पदक विजेता सोनिया को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। वह बंटे हुए फैसले में चीन की यिन जोन्हुआ से हार गईं। भारत को इस टूर्नामेंट में एक स्वर्ण, एक रजत और पांच कांस्य पदक मिले। मैरी कॉम ने इस जीत के साथ टूर्नामेंट में अपना शानदार रिकॉर्ड बरकरार रखा है। वह कुल छह बार फाइनल में पहुंची और बस एक बार रजत पदक से संतोष करना पड़ा। उन्होंने 2003, 2005, 2010 और 2012 में भी इसमें पीला तमगा जीता था।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15869 MRP ₹ 29999 -47%
    ₹2300 Cashback
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 14210 MRP ₹ 30000 -53%
    ₹1500 Cashback

पैंतीस साल की मैरी कॉम का सामना किम ह्यांग मि के रूप में सबसे आक्रामक प्रतिद्वंद्वी से था लेकिन वह इस चुनौती के लिएं तैयार थीं। अब तक पहले तीन मिनट एक-दूसरे को आंकने में जाते रहे थे लेकिन इस मुकाबले में शुरूआती पलों से ही खेल आक्रामक रहा। मैरी कॉम ने अपनी प्रतिद्वंद्वी के हर वार का माकूल जवाब दिया। दोनों ओर से तेज पंच लगाए गए। मैरी कॉम उसके किसी भी वार से विचलित नहीं हुईं और पूरे सब्र के साथ खेलते हुए जीत दर्ज की।

दूसरी ओर, सोनिया का मुकाबला काफी थकाने वाला था। जोन्हुआ ने संतुलित जवाबी हमले किए और अच्छे पंच भी लगाए। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने भारतीय टीम खासकर मैरी कॉम की तारीफ की। उन्होंने कहा ,‘‘मैरी कॉम का स्वर्ण भारत की महिला शक्ति की जीत है। तीन बच्चों की मां ने दिखा दिया कि मन में लगन हो तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है। मैं पूरी टीम को बधाई देता हूं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App