ताज़ा खबर
 

Asia Cup : विराट कोहली की गैरमौजूदगी से खफा है स्‍टार स्‍पोर्ट्स, BCCI ने दी तीखी प्रतिक्रिया

शनिवार (15 सितंबर) से टूर्नामेंट का आगाज हुआ। भारत का पहला मुकाबला इसमें मंगलवार (18 सितंबर) को हॉन्ग-कॉन्ग से होगा, जबकि बुधवार (19 सितंबर) को टीम पाकिस्तान के खिलाफ मैदान में उतरेगी। पर इस बार भारतीय खेमे में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। कोहली के बजाय टीम की कमान संभालते हुए रोहित शर्मा नजर आएंगे।

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली। (फोटोः एपी)

एशिया कप 2018 में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी से स्टार स्पोर्ट्स खफा है। प्रसारक ने कहा है कि कोहली के टूर्नामेंट में न होने से उसकी कमाई प्रभावित होगी। मैच के बीच दिखाए जाने वाले विज्ञापनों से अच्छी कमाई हो जाती थी। पर विराट के इसमें न होने से वैसा नहीं होगा। वहीं, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इस मसले पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। बोर्ड का कहना है कि प्रसारक को उसके निजी मामलों में दखल देने का अधिकार नहीं है।

आपको बता दें कि शनिवार (15 सितंबर) से इस टूर्नामेंट का आगाज हो चुका है। भारत का पहला मुकाबला मंगलवार (18 सितंबर) को हॉन्ग-कॉन्ग से होगा, जबकि बुधवार (19 सितंबर) को टीम पाकिस्तान से भिड़ेगी। लेकिन पूरे टूर्नामेंट में भारतीय खेमे में बड़ा बदलाव दिखेगा। वह होगी कोहली की गैरमौजूदगी। जी हां, उनकी जगह पर रोहित शर्मा टीम की कमान संभालेंगे। कारण- कोहली को इस टूर्नामेंट से आराम दिया गया है, क्योंकि इंग्लैंड दौरे पर उन्हें पीठ दर्द की दिक्कत आई थी।

कोहली की गैरमौजूदगी स्टार स्पोर्ट्स की कमाई को किस तरह प्रभावित करेगी, यह बात प्रसारक ने एशियन क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) गेम डेवलपमेंट के मैनेजर थुसित परेरा को लिखे ई-मेल में बताई है। मेल के मुताबिक, “एशिया कप के लिए दुनिया के एक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज की गैरमौजूदगी का ऐलान टूर्नामेंट से महज 15 दिन पहले करना हमारे (टूर्नामेंट प्रसारक) लिए करारा झटका है। टूर्नामेंट के राजस्व और वित्तीय लाभ पर इससे गहरा असर पड़ेगा।”

स्टार ने टूर्नामेंट के प्रसारण के अधिकार आठ साल (वर्ष 2016 से) के लिए एसीसी से खरीदे हैं। प्रसारक के मुताबिक, “कोहली जब खेलते हैं, तब टीवी रेटिंग अलग ही होती है। वहीं, जब वह आउट हो जाएं, तो रेटिंग भी नीचे आ जाती है।” चूंकि कोहली का नाम दुनिया के महान बल्लेबाजों में गिना जाता है, लिहाजा उनके टूर्नामेंट में नहीं होने से प्रसारक को आर्थिक तौर पर नुकसान होगा।

उधर, बोर्ड ने एसीसी को दिए जवाब में साफ किया कि न तो वह और न ही प्रसारक राष्ट्रीय टीम चयन के मामलों में हस्तक्षेप कर सकते हैं। बीसीसीआई ने कहा, “बोर्ड के अंदरूनी मामलों में प्रसारक को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है। यह बोर्ड का फैसला है कि वह किस खिलाड़ी को मौका देगा या किन्हें आराम करने को कहेगा।”

(भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App