ताज़ा खबर
 

Ind vs Ban, Asia Cup 2018 Final: 1.38 सेकंड में 6.61 मीटर दौड़ गए जडेजा, धोनी ने किया इशारा और मिल गया विकेट, देखें Video

Ind vs Ban, India vs Bangladesh Asia Cup 2018 Final: गेंद को पकड़ने में जडेजा की फुर्ती का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जडेजा 1.38 सेकेंड में 6.61 मीटर दौड़ गए। इतना ही नहीं जडेजा ने ना सिर्फ गेंद को पकड़ा बल्कि उसे सही छोर पर भी फेंका।

रविंद्र जडेजा ने अपनी शानदार फील्डिंग का नमूना पेश किया। (AP Photo/Aijaz Rahi)

एशिया कप का फाइनल मैच काफी रोमांचक रहा। बांग्लादेश की टीम ने भारतीय टीम को कड़ी टक्कर दी। हालांकि बांग्लादेश के 3 बल्लेबाज यदि रन आउट ना हुए होते तो यकीनन स्थिति बदल भी सकती थी। रन आउट की बात हुई है तो फिर यहां रविंद्र जडेजा द्वारा किए गए रन आउट की चर्चा होना स्वभाविक ही है। रविंद्र जडेजा की गिनती ना सिर्फ भारत के बल्कि विश्व के बेहतरीन फीलिडरों में की जाती है। एशिया कप के फाइनल मैच में भी रविंद्र जडेजा ने अपनी इस काबलियत का बेहतरीन नमूना पेश किया और शानदार फील्डिंग करते हुए एक बल्लेबाज को रन आउट कर दिया। इस रन आउट के दौरान रविंद्र जडेजा ने अपनी फुर्ती का बेहतरीन प्रदर्शन किया। दरअसल लिटन दास और तभी क्रीज पर आए मोहम्मद मिथुन बल्लेबाजी कर रहे थे। तभी लिटन दास ने ऑन साइड में एक शॉट खेला। यह शॉट इतना तेज था कि उसने लगभग रविंद्र जडेजा को छका ही दिया था। लेकिन रविंद्र जडेजा ने डाइव लगाकर इस गेंद को इस शानदार तरीके से पकड़ा कि सभी हैरान रह गए।

इस गेंद को पकड़ने में जडेजा की फुर्ती का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जडेजा 1.38 सेकेंड में 6.61 मीटर दौड़ गए। इतना ही नहीं जडेजा ने ना सिर्फ गेंद को पकड़ा बल्कि उसे सही छोर पर भी फेंका। दरअसल जडेजा की इस शानदार फील्डिंग से बल्लेबाज भी हैरान रह गए थे और रन लेने को लेकर दोनों के बीच काफी कन्फ्यूजन रहा, जिसका नतीजा ये रहा कि दोनों ही बल्लेबाज एक ही छोर पर पहुंच गए। इस पर विकेटकीपर एमएस धोनी ने जडेजा को दूसरे छोर पर गेंद फेंकने का इशारा किया और जडेजा ने भी गेंद पकड़ने के साथ ही सूझबूझ दिखाते हुए उसे नॉन स्ट्राइकर एंड पर थ्रो किया, जिससे मोहम्मद मिथुन रन आउट हो गए और भारत को चौथा विकेट मिल गया।

बता दें कि एशिया कप के फाइनल मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। हालांकि बांग्लादेश के ओपनरों ने यह फैसला लगभग गलत साबित ही कर दिया था। बांग्लादेश के ओपनर काफी अच्छा खेले और 120 रनों तक उन्होंने एक भी विकेट नहीं गिरने दिया। हालांकि इसके बाद कोई भी बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक सका और जल्दी-जल्दी उनके विकेट गिरते रहे। इसका असर ये हुआ कि पूरी बांग्लादेशी टीम सिर्फ 222 रनों पर ऑल आउट हो गई। 223 रनों का लक्ष्य लेकर मैदान पर उतरी भारतीय टीम की शुरुआत भी खराब रही और शिखर धवन एक खराब शॉट खेलकर सिर्फ 15 रन बनाकर पेवेलियन लौट गए। इसके बाद भारतीय बल्लेबाज भी थोड़े-थोड़ अंतराल पर पेवेलियन लौटते रहे, जिसका असर ये हुआ कि एक वक्त मैच काफी रोमांचक स्थिति में पहुंच गया था। हालांकि भारतीय टीम के पुछल्ले बल्लेबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए आखिरी गेंद पर भारतीय टीम को एशिया कप का सातवीं बार चैंपियन बना दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App