ताज़ा खबर
 

क्लार्क के विदाई मैच में हार से बचना चाहेगा आस्ट्रेलिया

इंग्लैंड ने भले ही एशेज अपने नाम कर ली हो लेकिन कप्तान एलेस्टेयर कुक गुरुवार से यहां शुरू हो रहे पांचवें और आखिरी टैस्ट में भी कोई ढिलाई बरतने के मूड में नहीं है चूंकि यह आस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क

Author Published on: August 20, 2015 10:02 AM

इंग्लैंड ने भले ही एशेज अपने नाम कर ली हो लेकिन कप्तान एलेस्टेयर कुक गुरुवार से यहां शुरू हो रहे पांचवें और आखिरी टैस्ट में भी कोई ढिलाई बरतने के मूड में नहीं है चूंकि यह आस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से विदाई मैच भी है। कुक की टीम ने चौथा टैस्ट एक पारी और 78 रन से जीतकर सीरीज में 3-1 की विजयी बढत बना ली थी। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड ने उस मैच में 15 रन देकर आठ विकेट लिए। आस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में 111 गेंद और 60 रन के भीतर सिमट गई थी।

इंग्लैंड की किसी टीम ने घरेलू सीरीज में चार एशेज टैस्ट नहीं जीते लेकिन अब वे इसकी दहलीज पर हैं। माइक बीयरले की अगुआई वाली इंग्लैंड टीम ने आस्ट्रेलिया को 5-1 से हराया था लेकिन 1978-79 की बागी विश्व सीरिज के कारण आस्ट्रेलिया की कमजोर टीम ने वह सीरीज खेली थी। सीरीज 4-1 से जीतकर इंग्लैंड के उन जख्मों पर मरहम लगेगा जो 18 महीने पहले उसे 5-0 से हराकर आस्ट्रेलिया ने दिए थे। ब्राड ने कहा कि कुक ने हमें कहा कि हमें इस सोच के साथ उतरना है कि लड़ाई अभी जारी है और हमें 4-1 से जीत दर्ज करनी है। हम 5-0 से मिली उस हार का बदला चुकता करना चाहते हैं।

इंग्लैंड को चयन के मामले में दो अहम फैसले लेने होंगे। बाजू की चोट के कारण चौथे टैस्ट से बाहर रहे तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन को उतारना है या लेग स्पिनर आदिल रशीद को टैस्ट में पदार्पण का मौका देना है। एंडरसन की गैर मौजूदगी में ब्राड की अगुआई में इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन अच्छा रहा लिहाजा एंडरसन को लेकर कोई जोखिम उठाने की जरू रत नहीं लगती। इंग्लैंड के आस्ट्रेलियाई कोच ट्रेवर बेलिस ने कहा है कि वे दो स्पिनरों को लेकर उतरने को तैयार है लिहाजा रशीद को मौका दिया जा सकता है।

आस्ट्रेलिया के शीर्षक्रम के लिए पिछला सप्ताह बुरे सपने की तरह रहा। इंग्लैंड की कमजोर काउंटी टीमों में से एक नार्थंपटनशर ने उसे लगभग फालोआन की ओर धकेल दिया था। आस्ट्रेलिया के महानतम बल्लेबाजों में से एक क्लार्क और सलामी बल्लेबाज क्रिस रोजर्स जीत के साथ विदा लेना चाहेंगे। रोजर्स ने कहा कि यह कहना गलत होगा कि टीम निराश नहीं है। हम जीतने आए थे लेकिन जीत नहीं सके। यह कठिन सप्ताह रहा और सभी निराश है। आखिरी टैस्ट हमारे लिए बड़ा है जो माइकल का आखिरी मैच भी है। कोई भी इसे हलके में नहीं ले रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories