T20 विश्व कप के बीच में ही असगर अफगान ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा, 2021 में ही अफगानिस्तान के पूर्व कप्तान ने तोड़ा था एमएस धोनी का रिकॉर्ड

असगर अफगान के नाम टी20 इंटरनेशनल में लगातार सबसे ज्यादा मुकाबलों में कप्तानी करने का भी रिकॉर्ड है। उन्होंने टी20 इंटरनेशनल में लगातार 46 मुकाबलों में अफगानिस्तान टीम की अगुआई की है।

Asghar Afghan retire after Namibia clash
अफगानिस्तान के सीनियर बल्लेबाज असगर अफगान रविवार यानी 31 अक्टूबर 2021 को आईसीसी टी20 विश्व कप में नामीबिया के खिलाफ अपना अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेंगे। (सोर्स- @ACBofficials)

अफगानिस्तान के सीनियर बल्लेबाज असगर अफगान ने 30 अक्टूबर 2021 की रात अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। वह रविवार यानी 31 अक्टूबर 2021 को आईसीसी टी20 विश्व कप में नामीबिया के खिलाफ अपना अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेंगे। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शनिवार को अपने ट्विटर हैंडल पर इसकी घोषणा की। बोर्ड ने लिखा, ‘अफगानिस्ता के पूर्व कप्तान असगर अफगान ने नामीबिया के खिलाफ मैच के बाद क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने का फैसला किया है।’

33 साल के असगर अफगान ने अब तक 6 टेस्ट और 114 एकदिवसीय मैच खेले हैं। वह 75 टी20 इंटरनेशनल के साथ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का समापन करेंगे। उन्होंने सभी फॉर्मेट्स में 115 मैचों में अफगानिस्तान का नेतृत्व किया है और 4215 रन बनाए हैं। अफगान ने कप्तान के रूप में सबसे अधिक टी20 इंटरनेशनल मैच जीतने का रिकॉर्ड भी बनाया है।

उनकी अगुआई में इस साल मार्च में अबुधाबी में अफगानिस्तान ने जिम्बाब्वे को 41 रन से हराया था। टी20 इंटरनेशनल में बतौर कप्तान उनकी यह 42वीं जीत थी। इस जीत के साथ ही उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) का रिकॉर्ड तोड़ दिया था।

अब वह इंग्लैंड के कप्तान इयोन मॉर्गन के साथ संयुक्त रूप से टी20 इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा टी20 इंटरनेशनल मैच जीतने वाले कप्तान हैं। उनके नाम टी20 इंटरनेशनल में लगातार सबसे ज्यादा मुकाबलों में कप्तानी करने का भी रिकॉर्ड है। उन्होंने टी20 इंटरनेशनल में लगातार 46 मुकाबलों में अफगानिस्तान टीम की अगुआई की है।

अफगानिस्तान ने जब 2018 में भारत के खिलाफ मैच से टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था, तब असगर अफगान ही टीम के कप्तान थे। उनकी अगुआई में टीम ने 2 टेस्ट जीते और इतने में मुकाबलों में हार झेली। बतौर कप्तान उन्होंने 59 में से 34 एकदिवसीय मैचों में अफगानिस्तान को जीत दिलाई। उनकी अगुआई में अफगानिस्तान को 21 वनडे इंटरनेशनल मैचों में हार भी झेलनी पड़ी।

उन्होंने टी20 इंटरनेशनल कप्तान के रूप में 52 में से 42 मैच जीते। अफगान ने 2009 में स्कॉटलैंड के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था। उन्होंने 2010 में आयरलैंड के खिलाफ अपना पहला टी20 इंटरनेशनल मैच खेला था।

अफगान ने अपने अंतिम टेस्ट में जिम्बाब्वे के खिलाफ 164 रन का सर्वोच्च स्कोर बनाया। उन्होंने उस मैच में हशमतुल्ला शाहिदी (नाबाद 200) के साथ 307 रन की साझेदारी की थी। यह साझेदारी महत्वपूर्ण साबित हुई, क्योंकि अफगानिस्तान ने पहली पारी में 545 रन बनाकर जिम्बाब्वे को छह विकेट से हरा दिया। उनका एकमात्र एकदिवसीय शतक 2017 में आया था, जब उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ 101 रन बनाए और टीम को 34 रन से जीत दिलाने में मदद की।

2015 विश्व कप के तुरंत बाद मोहम्मद नबी के स्थान पर अफगान को कप्तान नियुक्त किया गया था। वह चार साल तक इस पद पर रहे। 2019 विश्व कप से पहले उन्हें हटाकर गुलबदीन नायब को अफगानिस्तान टीम का कप्तान बनाया गया था।

दिसंबर 2019 में, अफगान ने कप्तान के रूप में अपना दूसरा कार्यकाल शुरू किया, लेकिन मई 2021 में उन्हें फिर इस पद से हटा दिया गया। अफगानिस्तान ने आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 में अब तक ग्रुप 2 में एक मैच जीता है और एक मैच हारा है। वे पाकिस्तान के बाद पॉइंट्स टेबल में दूसरे स्थान पर हैं।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट