scorecardresearch

अरुण लाल ने छोड़ दिया बंगाल रणजी टीम का कोच पद, कहा- मैं थक गया हूं, मैं बूढ़ा हो रहा हूं

चूंकि बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष अविषेक डालमिया इस समय यूके में हैं, इसलिए 66 साल के अरुण लाल ईडन गार्डंस गए और सचिव स्नेहाशीष गांगुली को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

अरुण लाल ने छोड़ दिया बंगाल रणजी टीम का कोच पद, कहा- मैं थक गया हूं, मैं बूढ़ा हो रहा हूं
अरुण लाल।

भारत के पूर्व क्रिकेटर अरुण लाल ने मंगलवार यानी 12 जुलाई 2022 को स्वास्थ्य और निजी कारणों का हवाला देते हुए बंगाल रणजी टीम के कोच के पद से इस्तीफा दे दिया। हालांकि, इंडियन एक्सप्रेस ने पिछले महीने ही लिखा था कि बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) रणजी ट्रॉफी 2022 के सेमीफाइनल में मध्य प्रदेश के खिलाफ बंगाल की हार के बाद अरुण लाल को उनके पद से मुक्त करने पर विचार कर रहा है।

चूंकि बंगाल क्रिकेट संघ (क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल/सीएबी) के अध्यक्ष अविषेक डालमिया इस समय यूके (United Kingdom) में हैं, इसलिए 66 साल के अरुण लाल मंगलवार को ईडन गार्डंस गए और वहां सचिव स्नेहाशीष गांगुली को अपना इस्तीफा सौंप दिया। कैब (सीएबी) का कार्यालय ईडन गार्डंस में ही है। कैब के आधिकारिक बयान का इंतजार है, लेकिन पता चला है कि राज्य क्रिकेट संघ ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

अरुण लाल ने बताया, ‘किसी राज्य की टीम को कोचिंग देना एक कठिन काम है और मैं बूढ़ा हो रहा हूं। एक साल में नौ महीने क्रिकेट होता है और मैं थका हुआ हूं। मैं बूढ़ा हो रहा हूं। मैंने उनसे इतना कहा कि अब मैं जारी नहीं रख सकता। बंगाल क्रिकेट टीम का भविष्य उज्ज्वल है, मुझे उम्मीद है कि वे रणजी खिताब जीतेंगे।’

हालांकि, सूत्रों की मानें तो कैब पहले से ही चंद्रकांत पंडित को बंगाल का कोच बनाने की तलाश में है। चंद्रकांत पंडित की कोचिंग में मध्य प्रदेश ने इस सीजन रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता है। मध्य प्रदेश पहली बार रणजी चैंपियन बना। कैब के राडार पर बंगाल के ही लक्ष्मी रतन शुक्ला भी हैं। हालांकि, वह इस रेस में पहले नंबर पर नहीं हैं।

कैंसर से उबरने के बाद, क्रिकेटर से कमेंटेटर बने अरुल लाल ने 2018-19 सीजन से पहले बंगाल रणजी टीम के कोच का पद संभाला था। 66 साल के अरुण लाल ने बंगाल को 2020 में पहली बार रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचाया था। अरुण लाल की कोचिंग में बंगाल क्रिकेट टीम का प्रदर्शन ठीक रहा। उसने कोरोना (COVID-19) महामारी के बाद पिछले सीजन रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।

पहली पत्नी की मंजूरी के बाद 66 साल के अरुण लाल ने 38 साल की बुलबुल संग लिए थे 7 फेरे

अरुण लाल ने करीब दो महीने पहले ही दूसरी शादी की थी। उन्होंने खुद से 28 साल छोटी युवती बुलबुल साहा संग 7 फेरे लिए थे। बंगाल के पूर्व सलामी बल्लेबाज 38 साल की बुलबुल के साथ लंबे समय से रिश्ते में थे। अरुण लाल की पहली शादी रीना से हुई थी।

arun-lal-bulbul-saha3
पूर्व क्रिकेटर और बंगाल रणजी टीम के कोच 66 साल के अरुण लाल ने करीब दो महीने पहले 38 साल की बुलबुल से शादी की है।
arun-lal-bulbul-saha
पूर्व क्रिकेटर और बंगाल रणजी टीम के कोच 66 साल के अरुण लाल ने करीब दो महीने पहले 38 साल की बुलबुल से शादी की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अरुण लाल और रीना ने आपसी सहमति से तलाक ले लिया था। तलाक के बाद दोनों अलग हो गए थे। हालांकि, रीना की बीमारी के चलते अरुण लंबे समय से उनके साथ हैं और उनकी देखभाल कर रहे हैं। रीना की मंजूरी के बाद ही अरुण लाल ने दूसरी शादी की।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट