ताज़ा खबर
 

सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन ने की धारदार गेंदबाजी, विकेटों का ‘सिक्सर’ लगाकर टीम को दिलाई जीत

इससे पहले अर्जुन तेंदुलकर ने वीनो मांकड़ ट्रॉफी में भी अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवाया था जब उन्होंने गुजरात के खिलाफ 5 विकेट झटके थे। उनकी इस गेंदबाजी के चलते मुंबई की टीम ने गुजरात को 9 विकेट से पटखनी दी थी।

अर्जुन तेंदुलकर (image source-Facebook)

खेल जगत में क्रिकेट की एक नई परिभाषा लिखने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने जूनियर क्रिकेट टूर्नामेंट में ही अपनी धाक जमा ली थी, वहीं सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर भी उन्हीं की तरह कुछ कमाल करते दिख रहे हैं। हालांकि फर्क इतना है कि दुनिया में सचिन तेंदुलकर के बल्लेबाजी की धार फेमस थी तो वहीं अर्जुन अपनी गेंदबाजी की धार से अपनी एक अलग पहचान बनाने के लिए प्रयासरत हैं। इस युवा तेज गेंदबाज ने केसी महिंद्रा शील्ड अंडर-19 के टूर्नामेंट में विजय मर्चेंट इलेवन के लिए खेलते हुए शानदार गेंदबाजी की और 6 विकेट झटककर टीम को जीत दिलाई।

दरअसल यह मुकाबला विजय मांजरेकर और विजय मर्चेंट इलेवन के बीच खेला जा रहा था। इस मुकाबले की पहली पारी में विजय मांजरेकर ने वरुण लवडे (54) और मुंकंद सरदार (53) की बदौलत 233 रन बनाए थे, वहीं, विजय मर्चेंट की तरफ से प्रग्नेश ने 155 जड़कर टीम का पहली पारी में स्कोर 335 तक पहुंचा दिया। वहीं जब दूसरी पारी में मांजरेकर टीम बल्लेबाजी करने उतरी तो अर्जुन की गेंदबाजी की धार के आगे पूरी टीम 216 पर सिमट गई। इसमें तेंदुलकर ने 70 रन देकर 6 विकेट झटक लिए। ऐसे में विजय मर्चेंट को अब बस जीत के लिए 120 रनों की दरकार थी और ये टीम ने हासिल कर इस मुकाबले तो जीत लिया।

बता दें कि इससे पहले अर्जुन तेंदुलकर ने वीनो मांकड़ ट्रॉफी में भी अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवाया था जब उन्होंने गुजरात के खिलाफ 5 विकेट झटके थे। उनकी इस गेंदबाजी के चलते मुंबई की टीम ने गुजरात को 9 विकेट से पटखनी दी थी। हाला कि अर्जुन तेंदुलकर के लिए अभी हालिया श्रीलंका दौरा बेहद निराशाजनक रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App