ताज़ा खबर
 

ट्राई सिरीज़ के दौरान सभी खिलाड़ी पूरी तरह फिट नहीं थे: एमएस धोनी

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने त्रिकोणीय एकदिवसीय क्रिकेट श्रृंखला में भारत के खराब प्रदर्शन के लिए चोटों को जिम्मेदार ठहराया। भारतीय टीम चार में से तीन मैच हारने जबकि एक मैच रद्द होने के कारण फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रही। ऑस्ट्रेलिया के दो महीने के दौरे के दौरान टीम के एक भी […]

Author January 31, 2015 12:28 PM

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने त्रिकोणीय एकदिवसीय क्रिकेट श्रृंखला में भारत के खराब प्रदर्शन के लिए चोटों को जिम्मेदार ठहराया। भारतीय टीम चार में से तीन मैच हारने जबकि एक मैच रद्द होने के कारण फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रही।

ऑस्ट्रेलिया के दो महीने के दौरे के दौरान टीम के एक भी मैच नहीं जीते पाने का कारण बताते हुए धोने ने मैच के बाद कहा, ‘‘विश्व कप में लय के साथ जाना काफी महत्वपूर्ण है लेकिन इससे अधिक महत्वपूर्ण यह है कि हमें टीम के सभी 15 खिलाड़ी फिट चाहिए। इस टूर्नामेंट में सभी खिलाड़ी फिट नहीं थे।’’

धोनी ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि दो हफ्ते में शुरू होने वाले विश्व कप से पूर्व टीम के सभी सदस्यों को कुछ मैच खेलने का मौका मिले। धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन विकेट की हार के बाद कहा, ‘‘विश्व कप जैसे टूर्नामेंट में जाते हुए यह महत्वपूर्ण है कि वे सभी कुछ मैच खेलकर जाएं। आगामी अभ्यास मैचों में भी हम अधिक से अधिक खिलाड़ियों को मौका देने की कोशिश करेंगे जिससे कि हमें उनके सामने आने वाले हालात और विरोधियों का पता चल सके।’’

भारत को इशांत शर्मा को फिर चोट लगने से झटका लगा। यह तेज गेंदबाज मैच से एक दिन पहले फिट हो गया था लेकिन मैच से कुछ घंटे पहले उनके बायें घुटने में फिर सूजन आ गई। कप्तान धोनी ने कहा, ‘‘उसने नेट में गेंदबाजी की और नेट में गेंदबाजी करने से उसके घुटने में सूजन आ गई। हमें शाम को इसका पता चला लेकिन तब तक कुछ भी करने के लिए काफी देर हो गई थी। हम उसके साथ जोखिम नहीं उठाना चाहते थे क्योंकि इससे चोट बढ़ सकती थी।’’

शिखर धवन अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे लेकिन कप्तान धोनी दिल्ली के बायें हाथ के इस बल्लेबाज के लंबे समय से खराब फॉर्म से जूझने के बाद रन बनाने से संतुष्ट हैं। धोनी ने कहा कि वास्तविक ऑलराउंडर की कमी ने गेंदबाजी इकाई पर अतिरिक्त दबाव डाल दिया है क्योंकि उनके लिए पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरना असंभव है।

उन्होंने कहा, ‘‘इससे गेंदबाजी इकाई पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है क्योंकि हम तीन तेज गेंदबाजों और दो स्पिनरों को खिलाने की स्थिति में नहीं हैं क्योंकि ऐसा करने से हमारी बल्लेबाजी काफी कमजोर हो जाएगी।’’

इस हार के साथ धोनी की टीम दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और फिर ऑस्ट्रेलिया में एक भी वनडे जीतने में नाकाम रही लेकिन कप्तान चुनौती के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, ‘‘आप कह सकते हैं कि हमें इसमें बदलाव करने की जरूरत है। और यहां मिलने वाले ब्रेक के साथ हम ऐसा कर पाएंगे और हमें खेल के बारे में सोचने के लिए और समय मिलेगा। मुझे लगता है कि खिलाड़ी विश्व कप में मजबूत वापसी करेंगे।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 धोनी के पास नए विचारों की कमी दिखी: सुनील गावस्कर
2 विजेंदर सिंह हुए चोटिल, राष्ट्रीय खेलों से नाम लिया वापस
3 ऑस्ट्रेलियाई ओपन: फाइनल में पहुंचे पेस और हिंगिस, सानिया और सोरेस बाहर
ये पढ़ा क्या?
X