‘बाबरी विध्वंस के बाद हम पहलवानों के खिलाफ जारी हुआ था फतवा, ट्रेन पर फेंका गया बम’ अमेरिकी रेसलर का दावा

वॉन एरिक ने फतवा के बारे में बताते हुए कहा, ‘वे हमें विदेशी के रूप में देखते थे। हम उत्तर दिशा में पंजाब जा रहे थे। वहां काफी तनाव था। यह काफी अजीब था, क्योंकि हम सोचते थे कि वे हमें क्यों निशाना बनाएंगे?’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: March 16, 2021 10:30 AM
Former wrestler Lance Von Erichअमेरिका के पूर्व रेसलर लांस वॉन एरिक। (सोर्स- लांस वॉन एरिक/विन्नी बेरी)

अमेरिका के पूर्व प्रोफेसनल रेसलर लांस वॉन एरिक 1993 में जब भारत में ट्रेन में सफर कर रहे थे, तब उस ट्रेन पर बम से हमला किया गया था। यह घटना बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद की है। लांस वॉन एरिक ने हाल ही में एक इंटरव्यू में यह दावा किया था। उन्होंने यह भी कहा था कि पहलवानों को मारने के लिए उन लोगों के खिलाफ फतवा भी जारी किया गया था।

रेसलिंग इंक डेली के एक हालिया एपिसोड में वॉन एरिक ने उस घटना को सुनाया जब भारत में उनकी ट्रेन के एक कोच पर बम फेंका गया था। वॉन एरिक इंडो-एशियन रेसलिंग इवेंट में हिस्सा लेने के लिए भारत आए थे। उस दौरान वॉन एरिक को नई दिल्ली, मुंबई और जालंधर के बीच यात्रा करनी पड़ी थी। वॉन एरिक ने बताया, ‘जिस दिन बाबरी विध्वंस हुआ था, हम उस दिन एक ट्रेन में यात्रा कर रहे थे। इसके बाद पूरे भारत में कुछ बम धमाके हुए। उसमें हमारी ट्रेन पर हुआ हमला भी शामिल था। बम के हमले से हमारी ट्रेन का एक कोच उड़ गया था।’

एरिक ने बताया, ‘हमारी किस्मत अच्छी थी कि हम फर्स्ट क्लास में थे। जिन लोगों ने बम फेंका उनका बम ट्रेन के मेल कोच (जिस कोच में चिट्ठियां या पत्र होते हैं) पर गिरा और वह डिब्बा उड़ गया। जब हमने बाहर देखा तो लेटर्स (चिट्टी/पत्र) हवा में तैर रहे थे। हमारे कोच में किसी को चोट नहीं लगी थी।’ वॉन एरिक ने आगे कहा कि उनके और उनके साथियों के खिलाफ भारत में यात्रा के दौरान फतवा भी जारी हुआ था।

एरिक ने बताया, ‘हम दो सप्ताह तक भारत में रहे। इस दौरान हम सभी के साथ हमेशा सुरक्षाकर्मी रहते थे। हमारे बॉडीगार्ड्स ने हमें बस से बाहर सिर नहीं निकालने की सलाह दी थी। हमें बाद में पता चला कि हमारे खिलाफ फतवा जारी हुआ था। वे हम पहलवानों को मारना चाहते थे। हमें इसके बारे में काफी बाद में पता चला।’

वॉन एरिक ने फतवा के बारे में बताते हुए कहा, ‘वे हमें विदेशी के रूप में देखते थे। हम उत्तर दिशा में पंजाब जा रहे थे। वहां काफी तनाव था। यह काफी अजीब था, क्योंकि हम सोचते थे कि वे हमें क्यों निशाना बनाएंगे?’ वॉन एरिक पर किताब लिखने वाले विशेंट बैरी ने भी उनके भारत के अनुभव के बारे में लिखा है। साथ ही एरिक से जुड़ी दूसरी कहानियां भी बताई हैं।

Next Stories
1 सूर्यकुमार यादव टीम से बाहर, रोहित शर्मा की वापसी; ये है प्लेइंग-11
2 Road Safety World Series: करियर में खाता नहीं खोल पाने वाले क्रिकेटर ने 160 के स्ट्राइक रेट से ठोका पचासा, सेमीफाइनल में पहुंची जोंटी रोड्स की टीम
3 ‘नहीं मैं शादी-शुदा नहीं हूं,’ जैकलीन फर्नांडीज को देख बोले थे नवजोत सिंह सिद्धू, कपिल शर्मा का ऐसा था रिएक्शन; देखें Video
ये पढ़ा क्या?
X