ताज़ा खबर
 

फीफा विश्व कप: महीने भर में हुए कुल 169 गोल, छह गज के दूसरे बॉक्स से ज्यादा दागे गए गोल

रूस में महीने भर चले फीफा विश्व कप फुटबॉल में 32 टीमों के बीच हुए मुकाबलों में कुल 169 गोल हुए। इनमें से 100 गोल यानी 59 फीसद गोल ओपन प्ले से हुए।

Author July 17, 2018 2:13 AM
ओपन प्ले से सबसे ज्यादा गोल छह से 12 गज के बीच से दागे गए हैं।

रूस में महीने भर चले फीफा विश्व कप फुटबॉल में 32 टीमों के बीच हुए मुकाबलों में कुल 169 गोल हुए। इनमें से 100 गोल यानी 59 फीसद गोल ओपन प्ले से हुए। इसमें दिलचस्प पहलू यह है कि ओपन प्ले से सबसे ज्यादा गोल छह से 12 गज के बीच से दागे गए हैं। गोल होने के तरीके पर यह रोचक विश्लेषण ब्रिस्टल रोवर्स फुटबॉल क्लब के अकादमी मैनेजर जोनाथन हेंडरसन ने किया है। उनके अनुसार ज्यादातर गोल छह गज के दूसरे बॉक्स के भीतर या बाहर से हुए हैं। पेश है दिलचस्प विश्लेषण आंकड़ों के नजरिए से-

इनके मायने
– 2018 के फीफा कप में कुल 169 गोल किए गए। इनमें 100 ओपन प्ले से हुए।
– ओपन प्ले के 100 गोलों में से 61 फीसद वन टच फिनिश से दागे गए। टू टच फिनिश का योगदान 20 फीसद रहा।
– ओपन प्ले के 85 फीसद गोल तब हुए जब बचाव टीम के कई रक्षक खिलाड़ी एरिया के भीतर आक्रमणकारी टीम के इर्द-गिर्द थे।
– 63 फीसद ओपन गोल 12 गज के दायरे के भीतर से हुए। इसमें 6-12 गज गोल करने के लिए सबसे मुफीद एरिया साबित हुआ। यहां से 52 फीसद गोल दागे गए। सिर्फ 20 फीसद ओपन प्ले गोल 18 गज के बॉक्स के बाहर से किए गए।
– इन आंकड़ों से जाहिर है कि प्रशिक्षकों के लिए दूसरे छह गज के बॉक्स के भीतर या इर्द-गिर्द जब रक्षक खिलाड़ियों की संख्या ज्यादा हो तब कम से कम टच फिनिश की नीति से खेलना ज्यादा मुफीद रहा।

गोल स्कोरिंग पैटर्न
– कुल गोल हुए – 169
– सेट पीस कॉर्नर, इनडायरेक्ट फ्री किक,थ्रोइन से गोल – 40 -24%
– पेनल्टी किक और डायरेक्ट फ्रीकिक से गोल – 29 -17%
– ओपन प्ले से गोल – 100 -59%

कहां से हुए गोल (ओपन प्ले से)
– छह गज से कम 11 11%
– छह से 12 गज के भीतर 52 52%
– 12 से 18 गज के भीतर 17 17%
– एरिया के बाहर से 20 20%

गोल स्कोरिंग फिनिश
– 1 टच फिनिश 61 61%
– 2 टच फिनिश 20 20%
– 3 या ज्यादा टच 19 19%

विपक्षी खिलाड़ियों का दबाव
– अटैकर (ज्यादा रक्षकों की मौजूदगी के बीच) बनाम डिफेंडर 85- 85%

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App