ताज़ा खबर
 

घरेलू मैदान पर भारत के ‘विराट’ कप्तान

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम नित नए आयाम गढ़ रही है।

virat kohliविराट कोहली। फाइल फोटो।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम नित नए आयाम गढ़ रही है। मोटेरा में इंग्लैंड के खिलाफ 10 विकेट की जीत ने इसमें चार चांद लगा दिए। उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के घरेलू मैदान पर सबसे अधिक टैस्ट जीत के रेकॉर्ड को तोड़ दिया है। विराट की कप्तानी में टीम ने कुल 35वीं जीत दर्ज की और घरेलू मैदान पर 22वीं जीत है। साथ ही इस जीत के से उन्होंने आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ की भी बराबरी कर ली है। वॉ ने भी अपने घरेलू मैदान पर 29 में से 22 मैचों में जीत हासिल की है।

विराट कोहली के कप्तान बनने के बाद भारतीय टीम टैस्ट में भी शानदार प्रदर्शन कर रही है। उन्हें पहली बार नौ दिसंबर 2014 को आस्ट्रेलिया के खिलाफ एडीलेड टैस्ट में कप्तानी सौंपी गई थी। हालांकि यह मैच भारतीय टीम 48 रन से हार गई थी, लेकिन तब से अब तक टीम ने 66 टैस्ट में से सबसे ज्यादा 39 टैस्ट जीते हैं। जीत दर्ज करने के मामले में दूसरे नंबर पर इंग्लैंड है जिसने 81 में से 38 टैस्ट जीते हैं।

टीम इंडिया ने इस साल के शुरुआत में आस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर 2-1 से हराया। इसके बाद घरेलू टैस्ट शृंखला में भी इंग्लैंड पर 2-1 की बढ़त बना रखी है। आखिरी टैस्ट गुरुवार से खेला जाएगा और अगर यह मैच भारत जीत लेती है या ड्रॉ करा लेती है तो टीम आइसीसी टैस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच जाएगी।

2015 से लगातार टीम की कमान संभाल रहे : छह जनवरी 2015 से विराट नियमित तौर पर भारतीय टीम की कमान संभाल रहे हैं। इस बीच उन्होंने 59 टैस्ट में कप्तानी करते हुए बारत को 35 मैच में जीत दिलाई है। इस दौरान टीम को 14 टैस्ट में हार का सामना करना पड़ा है। वहीं 10 मैच ड्रॉ रहे। इस बीच विराट की गैरमौजूदगी में अजिंक्य रहाणे ने पांच टैस्ट में टीम की कमान संभाली है। वह इस दौरान काफी सफर रहे। वे एक भी मैच नहीं हारे। चार टैस्ट में भारत ने जीत दर्ज की तो वहीं एक मैच ड्रॉ रहा। हालांकि आस्ट्रेलिया में मुख्य खिलाड़ियों के चोटिल होने के बाद टीम को जीत दिलाने वाले रहाणे ने खूब सुर्खिंयां बटोरी हैं।

भारत के पास साल की सर्वश्रेष्ठ टीम बनने का मौका

विराट की कप्तानी में भारतीय टीम एक और कारनामा करने के लिए तैयार है। इंग्लैंड के खिलाफ शृंखला के आखिरी मुकाबले में टीम जीत दर्ज कर लेती है तो इस साल (जनवरी से अब तक) सबसे ज्यादा टैस्ट जीतने वाली टीम बन जाएगी। वह इस मामले में इंग्लैंड को पीछे छोड़ देगी। इस साल जनवरी से अब तक इंग्लैंड और भारत ने सबसे ज्यादा 5-5 टैस्ट मैच खेले हैं। इसमें दोनों ही टीमों ने 3-3 मुकाबले जीते हैं।

कोहली के शतक का इंतजार

भारतीय टीम के लिए रन मशीन के नाम से मशहूर कप्तान विराट कोहली छोटे स्कोर को शतक में बदलने में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने पिछले तीन टैस्ट में 34 के औसत से सिर्फ 172 रन बनाए हैं। वहीं पिछले छह टैस्ट से उन्होंने कोई शतक नहीं लगाया है। यह उनके करिअर में दो शतकों के बीच सबसे लंबे अंतराल के रेकॉर्ड की बराबरी है। उन्होंने आखिरी टैस्ट शतक नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में लगाया था।

धोनी के संन्यास के बाद मिले ज्यादा मौके

दिसंबर 2014 में आस्ट्रेलिया दौरे पर चार टैस्ट की शृंखला के पहले मैच में नियमित कप्तान धोनी नहीं खेले थे। तब कप्तानी की दारोमदार युवा कोहली के कंधों पर आई। धोनी हालांकि इसके बाद ज्यादा दिन टैस्ट में सक्रिय नहीं रहे और 26 दिसंबर 2014 को करिअर का आखिरी टैस्ट खेला। इस दौरे के अंतिम मुकाबले में कोहली ने कप्तानी की और मैच ड्रॉ कराया। इसके बाद से वे भारत के नियमित कप्तान बन गए।

एक और रोचक आंकड़ा यह है कि विराट की कप्तानी के दौर में दुनिया के तीन ही कप्तान अपनी टीम को 20 से ज्यादा टैस्ट जिता सके हैं। इस दौरान भारतीय कप्तान ने सबसे ज्यादा 35 मैच जीते। उनके बाद इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट हैं जिन्होंने 49 में से 26 टैस्ट में अपनी टीम को जीत दिलाई है। तीसरे नंबर पर भारत के साथ अंडर 19 विश्व कप में खेलने वाले न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन हैं। उनकी कप्तानी में कीवी टीम ने 35 में से 21 टैस्ट में जीत हासिल की है।

Next Stories
1 अश्विनमय है भारत का स्पिन आक्रमण
2 VIDEO: माइकल वॉन ने कीचड़ में की पिच रिपोर्टिंग, बोले- कुछ घंटों का होगा मैच; भारतीय फैंस ने लगाई क्लास
3 नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच विवाद पर भड़के विराट कोहली, बोले- जब हम 3 दिन में हारे तब कोई नहीं बोला?
ये पढ़ा क्या?
X