ताज़ा खबर
 

रवि शास्त्री के कार्यकाल में इन 5 सीरीज में बुरी तरह हारी थी टीम इंडिया

रवि शास्त्री अनिल कुंबले से पहले 2014-16 तक बतौर टीम डायरेक्टर क्रिकेट टीम से जुड़े हुए थे।

Ravi Shastri, Mahendra Singh Dhoni, Commenting on Mahendra Singh Dhoni, Ravi Shastri Statement, Ravi Shastri on Mahendra Singh Dhoni, Mahendra Singh Dhoni Criticism, Look at Your Career, Cricket newsभारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री।

रवि शास्त्री को टीम इंडिया का नया कोच चुन लिया गया है। वह 2019 तक टीम इंडिया को कोचिंग देंगे। यह बतौर कोच उनका पहला कार्यकाल होगा। इससे पहले वह 2014-16 तक टीम डायरेक्टर के तौर पर टीम से जुड़े हुए थे। उनके बाद अनिल कुंबले को कोच बनाया गया था। शास्त्री के पास क्रिकेटर और कोच दोनों का अनुभव है। उनके सामने पहली चुनौती इसी महीने होने वाला श्रीलंका दौरा है। लेकिन इससे पहले उनका कार्यकाल कैसा रहा है? कौन-कौन से मैच टीम इंडिया हारी है, आइए आपको बताते हैं।

2015 विश्वकप सेमीफाइनल: 2011 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम इंडिया से 2015 में भी खिताब जीतने की उम्मीद थी। लेकिन सेमीफाइनल में अॉस्ट्रेलिया ने 95 रनों से उन्हें मात दी थी। पहले बल्लेबाजी करते हुए कंगारू टीम ने 328 रन बनाए थे। जवाब में पूरी भारतीय टीम 46.5 ओवरों में 233 रनों पर सिमट गई थी। महेंद्र सिंह धोनी और शिखर धवन के अलावा कोई भी बल्लेबाज इस मैच में चल नहीं पाया था।

2016 टी20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल: इस टूर्नामेंट का आयोजन भारत में हुआ था। पहले ही मैच में न्यूजीलैंड के हाथों उन्हें हार मिली थी। इसके बाद भारत ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और अॉस्ट्रेलिया को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था। यहां उनकी भिड़ंत हुई थी वेस्टइंडीज से। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 192 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे विंडीज टीम ने 19.4 ओवरों में ही हासिल कर लिया था।

भारत का इंग्लैंड दौरा (2014-15): 2014 में इंग्लैंड गई टीम इंडिया ने यहां 5 टेस्ट, 5 वनडे और 1 टी20 मैच खेला था। भारत ने 3-1 से वनडे सीरीज जीती थी। लेकिन भारत सिर्फ एक ही टेस्ट जीत पाया था। टी20 मैच में भी उसे मात मिली थी। पहला टेस्ट ड्रॉ रहा था। दूसरा भारत ने लॉर्ड्स में 95 रनों से जीता था। लेकिन बाकी तीन वह क्रमश: 266 रन, पारी और 54 रन और 244 रनों से हार गया था।

भारत का अॉस्ट्रेलिया दौरा (2014-15) : इसी साल टीम इंडिया बॉर्डर-गावस्कर 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने अॉस्ट्रेलिया पहुंची। इसमें से भारत एक भी मैच नहीं जीत पाया था। पहला मैच एडिलेट और दूसरा ब्रिसबेन में खेला गया, जिसे कंगारू टीम ने जीत लिया। जबकि तीसरा और चौथा मैच ड्रॉ रहा था। यही वह सीरीज थी, जिसके तीसरे टेस्ट के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। इसके बाद विराट कोहली टेस्ट टीम के कप्तान बने थे।

भारत का बांग्लादेश दौरा (2015): जून 2015 में भारत बांग्लादेश के दौरे पर गया था। यहां उसने एक टेस्ट मैच और 3 वनडे मैच खेले थे। टेस्ट मैच ड्रॉ रहा और वनडे सीरीज भारत 1-2 से हार गया। इस सीरीज में बांग्लादेश ने खुद को 2015 विश्वकप के मजबूत दावेदार के रूप में साबित किया था। यह भारत की बांग्लादेश के खिलाफ इकलौती सीरीज हार थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ज्‍योतिषी का दावा: रवि शास्‍त्री से कोचिंग पाकर प्रचंड फॉर्म में आ जाएगी टीम इंडिया, वर्ल्‍ड कप 2019 भी होगा अपना
2 टीम इंडिया का कोच बनने के बाद सौरव गांगुली से लड़ाई पर पहली बार बोले रवि शास्‍त्री, कहा- ऐसा कुछ भी नहीं है
3 भारतीय बॉलिंग अटैक की कायापलट कर सकते हैं जहीर खान, ये हैं पांच वजह
ये पढ़ा क्या?
X