ताज़ा खबर
 

3rd IND vs SA: सीरीज जीत के इरादे से उतरेगा भारत

गलुरु में दूसरा टैस्ट बारिश में धुलने के बाद चार मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे भारतीय टीम बुधवार से शुरू हो रहे तीसरे क्रिकेट टैस्ट में दक्षिण अफ्रीका को हराकर सीरीज अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी...

Author बंगलुरू | November 25, 2015 3:11 AM

बंगलुरु में दूसरा टैस्ट बारिश में धुलने के बाद चार मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे भारतीय टीम बुधवार से शुरू हो रहे तीसरे क्रिकेट टैस्ट में दक्षिण अफ्रीका को हराकर सीरीज अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी। जामथा में वीसीए स्टेडियम की पिच सूखी लग रही है जिस पर स्पिनरों को मदद मिलने की उम्मीद है। ऐसे में भारत का पलड़ा भारी रहेगा जिसका स्पिन आक्रमण बेहतर है। बंगलुरु में दूसरे टैस्ट में पहले दिन के बाद बारिश के कारण कोई खेल नहीं हो सका था जबकि मोहाली में पहला टैस्ट तीन दिन के भीतर खत्म हो गया था। अभी तक दक्षिण अफ्रीका ने तीन पारियों में 184, 109 और 214 रन बनाए हैं। दक्षिण अफ्रीका के लिए करो या मरो के तीसरे मुकाबले में भारतीय स्पिन आक्रमण बड़ी चुनौती साबित होगा। चौथा और आखिरी टैस्ट तीन दिसंबर से दिल्ली में खेला जाएगा।

मोहाली में पहले टैस्ट में सलामी बल्लेबाज मुरली विजय और तीसरे नंबर पर उतरे चेतेश्वर पुजारा को छोड़कर भारत का कोई बल्लेबाज चल नहीं सका था लेकिन कम स्कोर वाले उस मैच में भारतीय गेंदबाजों ने जीत दिलाई। बंगलुरु में सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का फार्म में लौटना सुखद रहा जिन्होंने नाबाद 45 रन बनाए थे। मोहाली में पहले मैच में विजय ने 75 और 47 रन बनाए थे और उनका मानना है कि भारत की बल्लेबाजी चिंता का सबब नहीं है।

विजय ने कहा कि टीम का मनोबल ऊंचा है क्योंकि मोहाली में हमने अच्छा प्रदर्शन किया और बंगलुरु में पहला दिन हमारे पक्ष में रहा। मुझे नहीं लगता कि बल्लेबाजी चिंता का सबब है क्योकि हर कोई बड़ी पारी से एक मैच दूर है और इस मैच में वह हो सकता है। भारतीय स्पिन आक्रमण का जिम्मा शानदार फार्म में चल रहे आर अश्विन और रविंद्र जडेजा संभालेंगे। दूसरे टैस्ट से बाहर रहे लेग स्पिनर अमित मिश्रा की वापसी हो सकती है चूंकि भारत इस पिच पर त्रिकोणीय स्पिन आक्रमण लेकर उतर सकता है।

दक्षिण अफ्रीका के वनडे कप्तान एबी डिविलियर्स ने बंगलुरु में अपने सौवें टैस्ट में 85 रन बनाए थे। मिश्रा ने मोहाली में दोनों पारियों में डिविलियर्स को आउट किया था और उनकी टक्कर यहां भी रोचक होगी। दक्षिण अफ्रीका के लिए अगर कप्तान हाशिम आमला और फाफ डु प्लेसिस फार्म में नहीं लौटते तो 2006 के बाद से विदेशी सरजमीं पर एक भी टैस्ट नहीं गंवाने की उनकी उपलब्धि खतरे में होगी। आमला ने पांच साल पहले इस मैदान पर 253 रन बनाए थे और इसके बाद डेल स्टेन ने शानदार गेंदबाजी करते हुए पहली पारी में सात विकेट लिए थे। हालांकि स्टेन इस टैस्ट में भी नहीं खेल पाएंगे।

दक्षिण अफ्रीका को उम्मीद है कि उसके कप्तान इस मैदान पर फार्म में लौटेंगे जो टी20 और वनडे मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए। तेज गेंदबाज स्टेन का खेलना तय नहीं है जो ग्रोइन की चोट से जूझ रहे हैं। पांच साल पहले यहां मिली जीत में स्टेन ने 10 विकेट लिए थे लेकिन इस बार वे फिटनेस की वजह से बाहर हैं और जाहिर है कि इससे दक्षिण अफ्रीका की परेशानी बढ़ेगी। दक्षिण अफ्रीका ने स्टेन के कवर के तौर पर मर्चेंट डि लांगे को बुलाया है लेकिन देखना यह है कि बिना किसी तैयारी के वे मैदान पर उतरते हैं या नहीं।
मैच सुबह 9.30 बजे से शुरू होगा।

तेज गेंदबाज वेर्नोन फिलैंडर पहले ही बाहर हैं जिनकी जगह काइल एबोट बंगलुरु मैच में खेले थे। मोर्कल ने कहा कि हमारे लिए मानसिक तैयारी काफी अहम है, खासकर रिवर्स स्विंग कराना। रिवर्स स्विंग हमारी बड़ी ताकत रही है और उसी के दम पर हमें अतीत में भारत में सफलता मिली है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App