ताज़ा खबर
 

विराट कोहली को हमेशा खलेगा 2020: ना IPL चैंपियन बन पाए, एक भी शतक नहीं लगाया; सभी टेस्ट हारे, न्यूनतम स्कोर का दाग भी लगा

इतनी निराशा हाथ लगने के बाद 2020 उनके लिए बहुत बड़ी उपलब्धि भी लेकर आया। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने उन्हें दशक बेस्ट मेन्स क्रिकेटर चुना। कोहली सर्वश्रेष्ठ वनडे क्रिकेटर भी चुने गए।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: December 31, 2020 8:37 AM
virat kohli 2020भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी स्वीकार किया कि मैदान पर दर्शकों का नहीं होना अखरता है। दर्शकों की तालियां खिलाड़ियों के लिए टॉनिक का काम करती हैं। (सोर्स- सोशल मीडिया)

कोरोना महामारी, खाली मैदानों, बायो बबल से जूझते और महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास से पैदा हुए खालीपन को भरने की कोशिश में जुटे भारतीय क्रिकेट ने मेलबर्न में ऐतिहासिक टेस्ट जीत के साथ साल 2020 को विदाई दी। हालांकि, भारतीय कप्तान विराट कोहली शायद ही साल को भूल पाएं। करियर की शुरुआत के बाद यह पहला साल है, जब वह एक कैलेंडर ईयर में एक भी शतक नहीं लगा पाए।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में उनकी टीम रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर का प्रदर्शन शानदार रहा, लेकिन चैंपियन बनने का सपना इस बार भी पूरा नहीं हो पाया। विराट कोहली की अगुआई में इस साल टीम इंडिया ने तीन टेस्ट मैच खेले और तीनों में उसे शिकस्त झेलनी पड़ी। बात यहीं खत्म नहीं हुई। यह साल जाते-जाते टीम इंडिया को टेस्ट में उसके न्यूनतम स्कोर 36 रन का बदनुमा दाग भी दे गया। टीम इंडिया को यह घाव भी विराट कोहली की कप्तानी में रहते हुआ लगा।

हालांकि, इतनी निराशा हाथ लगने के बाद 2020 उनके लिए बहुत बड़ी उपलब्धि भी लेकर आया। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने उन्हें दशक बेस्ट मेन्स क्रिकेटर चुना। कोहली सर्वश्रेष्ठ वनडे क्रिकेटर भी चुने गए। वह तीनों फॉर्मेट्स में आईसीसी की दशक की टीम में जगह पाने वाले अकेले खिलाड़ी रहे। यही नहीं 2021 की शुरुआत में उन्हें और एक और खूबसूरत तोहफा मिलने वाला है। वह पहली बार पिता बनने वाले हैं।

कहना गलत नहीं होगा कि इस साल कोरोना महामारी से पैदा हुए हालात में चुनौतियां नई और विचित्र रहीं। खेलों के मैदानों से दर्शक दूर रहे। खिलाड़ी प्रतिस्पर्धाओं का इंतजार करते रहे। हालांकि, क्रिकेट प्रशंसकों के चेहरों पर मुस्कुराहट लाने तब सफल रहा, जब भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में आईपीएल का सफल आयोजन किया।

आईपीएल शुरू होने से पहले भारत को 15 अगस्त को झटका लगा। यह ऐसी खबर थी जिसके आने के बारे में सभी को अनुमान था, लेकिन कोई सुनना नहीं चाहता था। महेंद्र सिंह धोनी का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास और क्रिकेट के एक युग का अंत। उनके साथ ही सुरेश रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स पहली बार आईपीएल प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाई। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ही उसके दल में 13 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। कथित तौर पर कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने के कारण रैना को वापस भेजा गया। हालांकि, इसका आधिकारिक कारण निजी बताया गया। रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने पांचवां आईपीएल खिताब जीता, लेकिन उनकी फिटनेस विवाद का विषय बन गई। रोहित अब ऑस्ट्रेलिया में हैं और सिडनी में तीसरा टेस्ट खेलेंगे।

Next Stories
1 सात साल बाद क्रिकेट में वापसी पर ‘भावुक’ हुए श्रीसंत, संजू सैमसन की कप्तानी में खेलेंगे टी20 टूर्नामेंट
2 परिवार संग रणथंभौर जा रहे मोहम्मद अजहरुद्दीन की कार पलटी, हादसे में बाल-बाल बचे; एक युवक घायल
3 भारत WTC के फाइनल की रेस में बरकरार, सिडनी टेस्ट जीतते ही टॉप पर पहुंच जाएगी टीम इंडिया
ये पढ़ा क्या?
X