ताज़ा खबर
 

एमएस धोनी की बॉयोपिक से अलग थी 2011 वर्ल्ड कप जीतने की कहानी, कंडीशनिंग कोच पैटी अपटन ने बताई सच्चाई

टीम इंडिया के तत्कालीन कंडीशनिंग कोच पैडी अपटन ने इंटरव्यू में बताया, ‘श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में युवराज सिंह से पहले बल्लेबाजी के लिए जाने का फैसला पूरी तरह से एमएस धोनी का था। उसमें अन्य किसी की कोई भूमिका नहीं थी।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: April 2, 2021 7:17 PM
MS Dhoni The Untold Story India vs Sri Lanka 2011 World Cup Final Iएमएस धोनी की बॉयोपिक में सुशांत सिंह राजपूत ने माही का किरदार निभाया था। (सोर्स- ट्विटर)

महेंद्र सिंह धोनी की बॉयोपिक ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ (MS Dhoni: The Untold Story) में भारतीय क्रिकेट टीम के आईसीसी 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप (Cricket World Cup) जीतने की घटना को भी दर्शाया गया है। हालांकि, फिल्म में जो दर्शाया गया है, वर्ल्ड कप जीतने की कहानी उसे बिल्कुल जुदा है। टीम इंडिया के तत्कालीन कंडीशनिंग कोच पैडी अपटन ने इस बात का खुलासा किया है।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व खिलाड़ी और टीम इंडिया के तत्कालीन मेंटल कंडीशनिंग एंड स्ट्रैटिजिक लीडरशिप कोच (Mental Conditioning and Strategic Leadership Coach) अपटन ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में बताया, ‘श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में युवराज सिंह से पहले बल्लेबाजी के लिए जाने का फैसला पूरी तरह से एमएस धोनी का था। उसमें अन्य किसी की कोई भूमिका नहीं थी।’ फिल्म ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की भूमिका अदा की थी। फिल्म में दर्शाया गया है कि युवराज सिंह (Yuvraj Singh) से पहले बल्लेबाजी के लिए जाने को लेकर धोनी और कोच में थोड़ी बहुत बातचीत होती है।

फिल्म में धोनी बने सुशांत सिंह राजपूत कोच गैरी कर्स्टन से युवराज से पहले खुद को बल्लेबाजी के लिए जाने की बात कहते हैं। इस पर कर्स्टन कहते हैं, ‘युवी ने पैड-अप कर लिया है और वह तैयार है।’ हालांकि, धोनी नहीं मानते और खुद के ही जाने पर जोर देते हैं। थोड़ी बातचीत के बाद दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर (गैरी कर्स्टन)  को यह अहसास होता है कि धोनी के फैसले पर रोक लगाने का कोई मतलब नहीं है। वह सिर्फ इतना कहते हैं, ‘तुम श्योर हो?’ (यहां उनका भावार्थ यह जानने का था कि तुम्हें पक्का यकीन है कि तुम स्थिति संभाल लोगे?)

हालांकि, वास्तविकता इससे बिल्कुल इतर है। पैडी अपटन ने उस वाकये को याद करते हुए कहा, ‘वह (धोनी) वानखेड़े स्टेडियम के ड्रेसिंग रूम के सामने वाली शीशे की दीवार के पीछे थे। हेड कोच (गैरी कर्स्टन) बाहर बैठे हुए थे। मैं उनके ठीक बगल में बैठा हुआ था।’

अपटन ने कहा, ‘मुझे अच्छी तरह याद है। मैंने शीशे पर दस्तक सुनी। गैरी और मैं एकसाथ पीछे घूमे। दस्तक देने वाले धोनी थे। उन्होंने इशारा किया कि अगला बल्लेबाज मैं होऊंगा। बस साइन लैंग्वेज (इशारों-इशारों) में इतनी ही बात हुई थी। गैरी ने हां में सिर हिला दिया था। इसके अलावा दोनों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई थी। वह फैसला धोनी ने लिया था कि उनके लिए स्टैंड-अप होने का यही समय है।’

Next Stories
1 IPL 2021: अक्षर पटेल तोड़ सकते हैं जहीर खान का रिकॉर्ड, ऑलराउंडर के पास युवराज सिंह की बराबरी का भी मौका
2 IPL 2021: कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान का दावा- इंग्लैंड में टी20 लीग खेलना चाहते हैं भारतीय खिलाड़ी
3 IPL 2021: KKR के लिए टेढ़ी खीर है इस कमजोरी से पार पाना, खोया जादू हासिल करने पर होगी इयोन मॉर्गन की नजर
आज का राशिफल
X