ताज़ा खबर
 

2007 टी20 वर्ल्ड कप: महेंद्र सिंह धोनी ने रणनीति नहीं, मजबूरी में दिया था जोगिंदर शर्मा को आखिरी ओवर, स्टार गेंदबाज का ‘क्रिकेट डायरीज’ में खुलासा

जोगिंदर ने आखिरी ओवर में पहली गेंद वाइड फेंकी थी। दूसरी गेंद पर मिस्बाह कोई रन नहीं ले पाए थे। अगली गेंद पर उन्होंने छक्का मार दिया था। हालांकि, इसके बाद उन्होंने जो गेंद फेंकी, उसने इतिहास रच दिया।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: August 8, 2020 4:20 PM
2007 World cup MS Dhoni Joginder Sharma2007 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में आखिरी जोगिंदर शर्मा ने फेंका था। उन्होंने अपनी तीसरी गेंद पर मिस्बाह-उल-हक का विकेट लेकर भारत को चैंपियन बना दिया था।

भारतीय क्रिकेट टीम ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीता था। वर्ल्ड कप के फाइनल में उसने परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ 5 रन से जीत हासिल की थी। भारत ने टॉस जीतकर बैटिंग चुनी थी। उसने 20 ओवर में 5 विकेट पर 157 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की टीम 19.3 ओवर में 152 रन पर ऑलआउट हो गई थी। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रन बनाने थे।

क्रीज पर धाकड़ बल्लेबाज मिस्बाह-उल-हक थे। ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर जोगिंदर शर्मा को फेंकने के लिए दिया। उस समय सभी ने धोनी के फैसले पर आश्चर्य जताया था, लेकिन चैंपियन बनने के बाद सभी उनकी तारीफ कर रहे थे। बाद में मीडिया रिपोर्ट्स में आखिरी ओवर जोगिंदर से फिंकवाने को महेंद्र सिंह धोनी की खास रणनीति बताया था।

हालांकि, 2019 में क्रिकेट डायरीज (#CricketDiaries) के शो में 2007 वर्ल्ड कप फाइनल में मैन ऑफ द मैच चुने गए इरफान पठान ने खुलासा किया था कि महेंद्र सिंह धोनी ने किसी रणनीति नहीं, बल्कि मजबूरी में जोगिंदर शर्मा को आखिरी ओवर फेंकने को दिया था। शो के दौरान एंकर ने सवाल किया था कि जोगिंदर शर्मा का आखिरी ओवर करना काफी असाधारण फैसला था, एक गेंदबाज के तौर पर आपके दिमाग में क्या चल रहा था उस समय?

इस पर इरफान पठान ने कहा, सब लोग बात करते हैं कि जोगिंदर शर्मा से आखिरी ओवर कराया, लेकिन धोनी के पास विकल्प कोई था भी नहीं। अगर आपके पास विकल्प हो तो समझ में भी आता है। आरपी (रुद्र प्रताप सिंह) के ओवर बचे होते और तब महेंद्र सिंह धोनी ने जोगिंदर शर्मा को जाकर गेंद थमाई होती तो आखिरी ओवर फेंकने के लिए तब समझ में आता कि यह फैसला थोड़ा सा अलग है। उस समय हरभजन सिंह और जोगिंदर के ही ओवर बचे ही थे।

बता दें कि जोगिंदर शर्मा ने आखिरी ओवर में पहली गेंद वाइड फेंकी थी। दूसरी यानी की पहली गेंद पर मिस्बाह कोई रन नहीं ले पाए थे। अगली गेंद पर उन्होंने छक्का मार दिया था। उसके बाद पाकिस्तान को जीत के लिए 4 गेंद में 6 रन की जरूरत थी। जोगिंदर ने ओवर की आधिकारिक तीसरी गेंद सीधा स्टम्प पर की, मिस्बाह ने उसे शॉर्ट फाइन लेग की ओर ऊपर उठा कर मारा। गेंद हवा में टंग गई और श्रीसंत ने कैच पकड़ लिया। इसके साथ भी भारत पहले टी20 वर्ल्ड कप का चैंपियन बन गया था।

England vs Pakistan 1st Test Day 4 Live Cricket Score Online Updates: चौथे दिन के अपडेट्स यहां जानें

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Eng vs Pak 1st Test: सरफराज अहमद के वॉटर बॉय बनने पर शोएब अख्तर भड़के, मिस्बाह उल हक ने कसा तंज, कहा- ऐसा पाकिस्तान में ही संभव
2 हॉकी इंडिया के कप्तान मनप्रीत सिंह को हुआ कोरोना, नेशनल कैंप में हिस्सा लेने पहुंचे टीम के 4 अन्य खिलाड़ी भी पॉजिटिव निकले
3 T20 World Cup: 2021 में भारत में ही होगा टूर्नामेंट, ऑस्ट्रेलिया को मिली 2022 की मेजबानी; आईसीसी की बैठक में लगी मुहर
ये पढ़ा क्या?
X