ताज़ा खबर
 

IPL: 13 साल में पहली बार 10 विकेट से हारी चेन्नई सुपरकिंग्स, लगातार 15 मैच जीतने वाले कप्तान बने कीरोन पोलार्ड

चेन्नई सुपरकिंग्स ने अब तक आईपीएल के 11 सीजन में हिस्सा लिया है, लेकिन 10 विकेट से हार पहली बार झेली है। हालांकि, उसके 2 खिलाड़ियों सैम करन और इमरान ताहिर ने जरूर एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। इन दोनों ने महेंद्र सिंह धोनी का ही रिकॉर्ड तोड़ा।

नई दिल्ली | Updated: October 24, 2020 8:20 AM
कीरोन पोलार्ड ने बतौर कप्तान इस साल 17 टी20 मैच खेले। इनमें से 15 में अपनी टीम को जीत दिलाई। उन्हें सिर्फ एक मैच में शिकस्त झेलनी पड़ी। एक मैच बेनतीजा रहा।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में 23 अक्टूबर की रात मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 10 विकेट से हराया। आईपीएल के अब तक के इतिहास में चेन्नई सुपरकिंग्स पहली बार 10 विकेट से हारी है। उसने आईपीएल में अब तक 11 सीजन में हिस्सा लिया है, लेकिन इतनी शर्मनाक हार पहली बार झेली है। हालांकि, मुंबई के खिलाफ उसके 2 खिलाड़ियों सैम करन और इमरान ताहिर ने जरूर एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया।

मुंबई इंडियंस के कीरोन पोलार्ड ने भी अपना कप्तानी रिकॉर्ड शानदार कर लिया। पोलार्ड ने इस साल अब तक 17 टी20 मैचों में टीम की कमान संभाली है। इसमें उन्होंने 15 में अपनी टीम के सिर जीत का सेहरा बांधा है, जबकि सिर्फ एक में ही हार झेली है। एक मैच बेनतीजा रहा था। चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ 10 विकेट से जीत टी20 में उनकी बतौर कप्तान लगातार 15वीं जीत है। यह आईपीएल में किसी एक टीम की लगातार जीत के रिकॉर्ड से भी ज्यादा है। आईपीएल में सबसे ज्यादा लगातार जीत हासिल करने का रिकॉर्ड कोलकाता नाइटराइडर्स के नाम है। उसने 7 मई 2014 से 2 अक्टूबर 2014 तक लगातार 14 जीत हासिल की थीं।

मुंबई के खिलाफ मैच में चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 9 विकेट पर 114 रन बनाए। एक समय चेन्नई का स्कोर 14.5 ओवर में 8 विकेट पर 71 रन था। तब लग रहा था कि चेन्नई 100 रन के भीतर ही ऑलआउट हो जाएगी, लेकिन ऐसे समय सैम करन और इमरान ताहिर ने 9वें विकेट के लिए 43 रन की साझेदारी की और टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया।

यह आईपीएल में 9वें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है। सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए सैम करन ने 4 चौके और 2 छक्के की मदद से 47 गेंद में 52 रन बनाए। वह अपनी टीम के हाइएस्ट स्कोरर भी रहे। उन्हें ट्रेंट बोल्ट ने बोल्ड किया। वह चेन्नई की पारी की आखिरी गेंद पर पवेलियन लौटे। इमरान ताहिर 10 गेंद में 13 नाबाद रहे।

इससे पहले यह रिकॉर्ड महेंद्र सिंह धोनी और रविचंद्रन अश्विन के नाम दर्ज था। धोनी और अश्विन ने 2013 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ ही 9वें विकेट के लिए 41 रन की साझेदारी की थी। चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से खेलते हुए ड्वेन ब्रावो और इमरान ताहिर 2018 में भी 9वें विकेट के लिए 41 रन की साझेदारी कर चुके हैं। खास यह है कि वह मैच भी मुंबई इंडियंस के खिलाफ ही था।

Next Stories
1 सच हुई MS Dhoni की बात? कहा था- युवाओं में स्पार्क नहीं दिखा; ऋतुराज गायकवाड़ और जगदीशन 0 पर हुए आउट
2 IPL: 13 साल में चेन्नई सुपरकिंग्स की सबसे शर्मनाक बल्लेबाजी, पहली बार पावरप्ले में 5 विकेट गिरे
3 IPL इतिहास में पहली बार चेन्नई सुपरकिंग्स प्लेऑफ की दौड़ से बाहर, मुंबई इंडियंस ने 10 विकेट से दी करारी शिकस्त
ये पढ़ा क्या?
X