ताज़ा खबर
 

UPPCS: पति-पत्‍नी ने आईटी सेक्‍टर की नौकरी छोड़ी थी, दोनों का सेलेक्‍शन हुआ, बीवी ने किया टॉप

जयजीत कौर को डिप्टी कलेक्टर के रूप में चुना गया है, जबकि उनके पति सहकारी समितियों में सहायक आयुक्त के रूप में ज्वाइन करेंगे।

Author नई दिल्ली | February 23, 2019 12:34 PM
पीसीएस -2016 का परिणाम शुक्रवार को घोषित किया गया था।

पांच साल तक आईटी सेक्टर में काम करने वाली जयजीत कौर ने पीसीएस की पढ़ाई और तैयारी के लिए जॉब छोड़ दी थी। अपने पति के साथ पीसीएस परीक्षा की तैयारी कर जयजीत ने पीसीएस-2016 की परीक्षा में टॉप किया है साथ ही उनके पति आशुतोष मिश्रा ने भी परीक्षा क्लियर कर ली है। दोनों ने एक ही दिन सफलता का स्वाद चखा। बता दें कि उन्होंने प्रशासनिक सेवाओं में प्रवेश करने के लिए कुछ साल पहले मुंबई की एक प्रमुख आईटी फर्म में आकर्षक नौकरियां छोड़ दी थीं। बीटेक, एमबीए की पढाई करने के बाद इस दंपति ने 2010 से 2015 तक आईटी क्षेत्र में काम किया। कानपुर की रहने वाली 32 साल की जयजीत लखनऊ में अपने पति के साथ रहती हैं। उन्हें डिप्टी कलेक्टर के रूप में चुना गया है, जबकि उनके पति सहकारी समितियों में सहायक आयुक्त के रूप में ज्वाइन करेंगे।

पीसीएस -2016 का परिणाम शुक्रवार को घोषित किया गया था। जयजीत ने TOI से बात करते हुए कहा, “हमने आईटी सेक्टर में काम किया लेकिन हम नौकरी से संतुष्टि नहीं थे। मेरी भाभी ने पीसीएस-2012 की परीक्षा क्लियर की थी जिससे हमें प्रेरणा मिली।”

उन्होंने कहा, “हमने तैयारी करने के लिए कोई कोचिंग नहीं ली। हमने साथ में स्टडी की और उसका ही हमें फल मिला। क्योंकि हमने अपनी कमजोरियों पर काबू पाने में एक दूसरे की मदद की। मैंने अपनी नौकरी छोड़ दी थी और मैं हाउसवाइफ थी, इसलिए जब साक्षात्कार पैनल के सदस्यों ने मुझसे पूछा कि क्या मैं किसी क्राइसिस को संभालने में सक्षम हूं तो मैंने कहा कि एक महिला जो घर संभालती है, किसी भी संकट को संभाल सकती है”।

आशुतोष ने कहा, “हमने पीसीएस (मुख्य)-2017 परीक्षा भी दी थी। मैं फिर से साक्षात्कार में उपस्थित होऊंगा।” लखनऊ के अन्य कई उम्मीदवारों ने भी परीक्षा उत्तीर्ण की। पंकज प्रकाश राठौर को एसडीएम के रूप में चुना गया। उनका कहना है, “दृढ़ संकल्प और निरंतर परिश्रम ने मुझे सफल होने में मदद की।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App