ताज़ा खबर
 

Teacher Eligibility Test: TET का संभावित शेड्यूल जारी, जानिए कब तक हो सकता है एग्जाम

Teacher Eligibility Test: परीक्षा दो साल के अंतराल के बाद आयोजित की जाएगी और 10 लाख से अधिक उम्मीदवारों के परीक्षा में बैठने की उम्मीद है।

इस परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र भी आवंटित किए जाएंगे, जिसकी डिटेल्स बाद में उपलब्ध कराई जाएंगी।

महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा (एमएएचएटीईटी) के संभावित कार्यक्रम की घोषणा कर दी है। कक्षा 1-8 के लिए शिक्षकों के चयन के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है। परीक्षा दो साल के अंतराल के बाद आयोजित की जाएगी और 10 लाख से अधिक उम्मीदवारों के परीक्षा में बैठने की उम्मीद है।

ट्वीट्स की एक सीरिज में, शिक्षा मंत्री ने कहा है, “यहां शिक्षण में करियर बनाने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए एक अवसर है। हमने महाराष्ट्र राज्य परीक्षा परिषद को 15 सितंबर से 31 दिसंबर के बीच महाराष्ट्र शिक्षक पात्रता परीक्षा (एमएएचएटीईटी, 2021) आयोजित करने की अनुमति दी है। 10 लाख से अधिक उम्मीदवारों के MAHATET के लिए उपस्थित होने की उम्मीद है, जो दो साल के अंतराल के बाद आयोजित किया जा रहा है। मुझे विश्वास है कि इससे उज्ज्वल युवा शिक्षण प्रतिभाओं के रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी होगी।”

पिछले दो साल में अलग अलग कारणों से MAHATET आयोजित नहीं किया गया था। यह परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है। चरण I कक्षा 1 से 5 के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए होगा और चरण II कक्षा 6 से 8 के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए होगा। इस परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र भी आवंटित किए जाएंगे, जिसकी डिटेल्स बाद में उपलब्ध कराई जाएंगी।

सितंबर से दिसंबर के बीच MAHATET 2021 की पूरी प्रक्रिया के लिए है। इसमें आवेदन पत्र, एडमिट कार्ड, लिखित परीक्षा और अंतिम परिणाम जारी करना शामिल होगा। परीक्षा के बारे में अधिक जानकारी बाद में उपलब्ध कराई जाएगी।

राज्य में हाल ही में SSC का रिजल्ट जारी किया गया था जिसमें 99.95 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। बोर्ड के अधिकारियों के अनुसार यह एक रिकॉर्ड पास प्रतिशत है। 2020 की तुलना में इस साल रिजल्ट 4.65 फीसदी ज्यादा रहा है।महाराष्ट्र के कुल 15.74 लाख स्टूडेंट्स ने 2020-21 के लिए कक्षा 10 की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। हालांकि, कोविड के मामलों में बढ़ोतरी के कारण, बोर्ड को अप्रैल में होने वाली ऑफलाइन परीक्षा को रद्द करने और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर स्टूडेंट्स का मूल्यांकन करने के लिए मजबूर होना पड़ा। रिजल्ट के लिए मूल्यांकन मानदंड कक्षा में 9 के नंबरों और कक्षा 10 में स्टूडेंट्स के आंतरिक मूल्यांकन को शामिल किया गया था।

Next Stories
1 Indian Railway Recruitment 2021: इंडियन रेलवे ने स्टेशन मास्टर भर्ती के लिए जारी किया नोटिफिकेशन
2 RPSC RAS Notification 2021: आयोग ने जारी किया परीक्षा का नोटिफिकेशन, इतने पदों पर होगी भर्ती
3 India Post Recruitment 2021: 10वीं पास के लिए 2000 से ज्यादा पदों पर सरकारी नौकरी का मौका, नहीं देनी होगी कोई परीक्षा
ये पढ़ा क्या?
X