ताज़ा खबर
 

भारत में IIT इंजीनियर्स को जल्द नौकरी देगा Samsung

सैमसंग इंडिया देश में अपने रिसर्च एवं डेवलपमेंट (आर एंड डी) परियोजनाओं को और सशक्त बनाने के लिए इस प्लेसमेंट सत्र में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के 300 इंजीनियरों को नौकरी देने की योजना बना रही है।

Author November 28, 2018 6:48 PM
प्रतीकात्मक फोटो (Source: Agency)

सैमसंग इंडिया देश में अपने रिसर्च एवं डेवलपमेंट (आर एंड डी) परियोजनाओं को और सशक्त बनाने के लिए इस प्लेसमेंट सत्र में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के 300 इंजीनियरों को नौकरी देने की योजना बना रही है। कंपनी के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को यह जानकारी दी। बेंगलुरू, दिल्ली और नोएडा में स्थित कंपनी के आर एंड डी केंद्रों के अधिकारी एक दिसंबर से दिल्ली, कानपुर, मुंबई, चेन्नई, खड़गपुर, गुवाहाटी, वाराणसी और रुड़की के आईआईटी का दौरा करेंगे। कंपनी के आर एंड डी केंद्र हैदराबाद, धनबाद, रोपड़, इंदौर, गांधीनगर, पटना, भुवनेश्वर, मंडी और जोधपुर के नए आईआईटी से भी इंजीनियरों को लेंगे।

सैमसंग इंडिया के मानव संसाधन प्रमुख समीर वाधवान ने कहा, “हमारे आर एंड डी केंद्र अग्रणी प्रौद्योगिकियों, भारतीय तथा वैश्विक बाजारों के लिए नवाचारों के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। हम आगे भी अनुसंधान एवं विकास के लिए इंजीनियरों को लेना जारी रखेंगे जो भारत में मजबूत अनुसंधान आधार स्थापित करने की प्रतिबद्धता को आगे ले जाएगा।” सैमसंग ने इस वर्ष आईआईटी के छात्रों को लगभग 200 प्री-प्लेसमेंट ऑफर (पीपीओ) दिए हैं। वाधवान ने कहा, “प्रतिभा को पहले ही चिह्नित कर और पीपीओ का प्रस्ताव देकर हमने रणनीतिक बदलाव किया है।

इस वर्ष हमने इंटर्नशिप अंतराल कुछ ज्यादा समय तक रखा जिससे छात्रों को कंपनी में ज्यादा समय बिताने और प्रबंधकों से संपर्क करने का मौका मिल सके।” उन्होंने कहा, “इससे हमें उनमें से बेहतर छात्र को चुनने में मदद मिलेगी।” सैमसंग आईआईटी के अतिरिक्त बिट्स पिलानी, आईआईआईटी, एनआईटी, दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, मनिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और आईआईएस बेंगलुरू से भी छात्रों को लेगी। आईआईटी और अन्य इंजीनियरिंग कॉलेजों से सैमसंग लगभग 1000 इंजीनियरों को नौकरी देगी। सैमसंग ने इस वर्ष कुल मिलाकर 350 पीपीओ दिए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App