ताज़ा खबर
 

RRB NTPC 2019: रेलवे की भर्ती प्रक्रिया में बड़े बदलाव, उम्‍मीदवार जरूर जान लें ताजा अपडेट

RRB Railway NTPC Recruitment 2019, Sarkari Result 2019: ईडब्लूएस कोटे के तहत आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी वैध आय और संपत्ति प्रमाण पत्र देना होगा। इन दस्तावेजों की जांच नौकरी ज्वाइन करने के वक्त की जाएगी।

आरआरबी ने एनटीपीसी 2019 की भर्ती प्रक्रिया में कई बदलाव किए हैं।

RRB Railway NTPC Recruitment 2019: रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) ने नॉन-टेक्निकल पोपुलर कैटगरी (एनटीपीसी) की आवेन व भर्ती प्रक्रिया में कुछ संशोधन किए हैं। एनटीपीसी वैकेंसी के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और उम्मीदवार क्षेत्रीय आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। दूसरे चरण के कम्प्यूटर आधारित टेस्ट (सीबीटी) के उम्मीदवारों की आरआरबी-वाइज शॉर्ट लिस्टिंग रिक्तियों के 20 गुना (रेलवे प्रशासन की आवश्यकता के अनुसार वृद्धि या घट सकती है) के आधार पर की जाएगी। दूसरे चरण सीबीटी की शॉर्टलिस्टिंग पहले चरण सीबीटी में शामिल उम्मीदवारों की योग्यता के आधार पर होगी।

आधिकारिक सूचना के अनुसार, स्किल टेस्ट के लिए कुल वैकेंसी के आठ गुणा उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। ( यह रेलवे प्रशासन की आवश्यकता के अनुसार बढ़ या घट सकती है।) यह चयन दूसरे चरण के सीबीटी में शामिल उम्मीदवारों की योग्यता के अनुसार किया जाएगा।

ईडब्लूएस रिजर्वेशन (EWS Resrervation): इस भर्ती प्रक्रिया में सामान्य वर्ग के उन गरीब लोगों को भी 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिलने की संभावना है, जिनकी पारिवारिक आय 8 लाख रुपये से कम है। यह पहली बार है जब आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य जाति के लोगों को भी रेलवे बहाली में आरक्षण दिया जा रहा है।

आधिकारिक सूचना में यह भी उल्लेखित है कि भर्ती प्रक्रिया में अनुसूचित जाति (SC), अनुसूचित जनजाति (ST), अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) (non-creamy layer) और आर्थिक रूप से पिछड़े (EWS) के अभ्यर्थियों को आरक्षण मिलेगा। इसके अलावा, दिव्यांगों, पूर्व सरकारी सेवकों को भी आरक्षण मिलेगा। साथ ही लेवल-1 पोस्ट के लिए कोर्स कम्प्लीटेड एक्ट अपरेंटिस (CCAA) के लिए आरक्षण होगा।

ईडब्लूएस कोटे के तहत आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी वैध आय और संपत्ति प्रमाण पत्र देना होगा। इन दस्तावेजों की जांच नौकरी ज्वाइन करने के वक्त की जाएगी। ये प्रमाणपत्र वित्त वर्ष 2017-18 का होना चाहिए। आवेदन करने के दौरान ही उम्मीदवारों को ईडब्लूएस कोटा के तहत आरक्षण का लाभ प्राप्त करने के लिए अपनी आर्थिक स्थिति के बारे में जानकारी देनी होगी। आवेदन की प्रक्रिया बंद हो जाने के बाद उन्हें इसका लाभ नहीं मिलेगा। इसके बाद उनकी दावेदारी सामान्य कैटगरी के सीटों पर ही रहेगी।

बता दें कि जूनियर क्लर्क सह टाइपिस्ट, अकाउंट क्लर्क सह टाइपिस्ट, ट्रेन क्लर्क, कमर्शियल सह टिकट क्लर्क, ट्रैफिक असिस्टेंट, गुड्स गार्ड, सीनियर कमर्शियल सह टिकट क्लर्क, सीनियर क्लर्क सह टाइपिस्ट, जूनियर क्लर्क सह टाइपिस्ट, कमर्शियल अपरेंटिस, स्टेशन मास्टर इत्यादि के कुल 1.3 लाख पदों पर बहाली होनी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App